Categories: Circular
| On 2 months ago

चिकित्सा के आधार पर अवकाश

केंद्र व राज्य सरकार के कर्मचारियों को चिकित्सा के आधार पर अवकाश विभिन्न नियमों के अंतर्गत प्रदान किया जाता हैं। राज्य सरकारों एवम केंद्र सरकार के अवकाश नियमों में थोड़ा अंतर हो सकता हैं। राजस्थान राज्य के कार्मिकों को निम्नलिखित आदेशों के अनुसार अवकाश देय होता हैं।

सरकारी कर्मचारियों के लिए चिकित्सा अवकाश लेने के नियम | Medical Leave for Rajasthan Government Employees

सक्षम अधिकारी प्राधिकृत चिकित्सक के प्रमाण पत्र के आधार पर कर्मचारी को चिकित्सा अवकाश स्वीकृत कर सकता है। प्राधिकृत चिकित्सक शब्द में राजकीय चिकित्सालय में नियुक्त चिकित्सक ,औषधालय में नियुक्त वैध या हकीम सम्मिलित माना जायेगा।

जहां कर्मचारी बीमार पड़ता है, यदि वहाँ कोई प्राधिकृत चिकित्सक नहीं हो अर्थात् कोई राजकीय चिकित्सालय औषधालय

नहीं हो या उनमें चिकित्सक नहीं हो तो उस स्थान पर स्थित पंजीकृत चिकित्सा- व्यवसायी के प्रमाण पत्र के आधार पर अवकाश दिया जा सकता है, किन्तु ऐसे प्रमाण पत्र में चिकित्सक का पंजीयन या क्रमांक अवश्य अंकित होना चाहिये। (नियम 76)

एक राज्य कर्मचारी जिसने चिकित्सा प्रमाण पत्र के आधार है पर अवकाश स्वीकृत कराया है अपने कर्तव्य पर उस समय तक उपस्थित नहीं हो सकेगा जब तक वह स्वस्थ होने का प्रमाण पत्र निर्धारित प्रपत्र में प्रस्तुत नहीं कर देता है। ( नियम 83)

चिकित्सा प्रमाण पत्र जारी हेतु सक्षम अधिकारी-

(क) चिकित्सा विभाग के आदेश क्र.प.1625) एम ग्रुप
1/94 दि.8.1.98 द्वारा विभिन्न अवधि के लिये चिकित्सा अवकाश हेतु चिकित्सा अधिकारी निम्न प्रकार प्राधिकृत किये गये हैं।
(i)

किसी बहिरंग रोगी को अधिकतम 15 दिन की अवधि हेतु चिकित्सा प्रमाण पत्र किसी भी चिकित्सा अधिकारी द्वारा दिया जा सकेगा।
(ii) 30 दिवस तक वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी कनिष्ठ
विशेषज्ञ/सहायक आचार्य एवं इसके ऊपर के अधिकारी देने के लिये सक्षम होंगे। इसमें मूल अवधि भी सम्मिलित होगी।
(iii) 45 दिवस तक वरिष्ठ विशेषज्ञ पी.एम.ओ./एसोसिएट
प्रोफेसर प्रोफेसर एवं क्रम सं. 2 में वर्णित अधिकारी यदि प्रमाण पत्र सम्बन्धित मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी प्रमुख चिकित्सा अधिकारी एवं अधीक्षक द्वारा प्रमाणित किया हुआ हो। इसमें मूल अवधि भी सम्मिलित होगी।
(iv) 45 दिवस से अधिक अवधि हेतु चिकित्सा प्रमाण पत्र
केवल मेडिकल बोर्ड देगा।
(v) अनुमोदित निजी चिकित्सालय के चिकित्सक चिकित्सा प्रमाण पत्र जारी करने हेतु अधिकृत।
15 दिवस के लिये - चिकित्सा परामर्शदाता द्वारा
30 दिवस तक - वरिष्ठ
चिकित्सा परामर्शदाता द्वारा
45 दिवस तक - वरिष्ठ विषय विशेषज्ञ द्वारा
45 दिवस से अधिक- मेडिकल बोर्ड द्वारा
(प 16(25) एम ई/1-1/1994 दिनांक 18.5.2012)

(ख) होम्योपैथिक चिकित्सक 15 दिवस के लिए चिकित्सा
प्रमाण दे सकते हैं।
(ग) चिकित्सा प्रमाण हेतु सक्षम आयुर्वेद अधिकारी-
(i) किसी बहिरंग रोगी को चिकित्सक, 15 दिन की अवधि
(i) 15 दिवस के पश्चात् पुनः 7-दिन की अवधि के लिये
विभागीय चिकित्सक सक्षम होगा।
(iii) 29 दिवस से 45 दिन की अवधि के लिए रोग प्रमाण
पत्र अ श्रेणी चिकित्सालय के वरिष्ठ चिकित्सक/ जिला आयुर्वेद अधिकारी/सहायक निदेशक /समकक्ष अधिकारी एवं अन्य उच्च अधिकारी द्वारा जारी किया जायेगा, जिसमें मूल अवधि भी सम्मिलित होगी।
(iv) 45 दिवस से अधिक अवधि के लिये चिकित्सा प्रमाण
पत्र स्वास्थ्य परीक्षण समिति (आयुर्वेद) द्वारा दिया जा सकेगा।

स्वास्थ्य परीक्षण समिति में निम्नलिखित सदस्य होंगे | Health Inspection Committee

(अ) जिला आयुर्वेद अधिकारी सहायक निदेशक/प्रभारी
रसायन शालाएँ समकक्ष अधिकारी एवं अन्य उच्च अधिकारी आयुर्वेद
(ब) संबंधित जिले स्थितअ' श्रेणी चिकित्सालय के वरिष्ठ
चिकित्सक संयोजक
(स) दो चिकित्सक (अध्यक्ष की सहमति से) आवश्यकता
होने पर महिला चिकित्सक सदस्य

(v) अन्तरंग रोगी के सम्बन्ध में 30 दिन से अधिक के
चिकित्सा प्रमाण पत्र हेतु आयुर्वेद 'अ' श्रेणी चिकित्सालय के प्रभारी के प्रति हस्ताक्षर की आवश्यकता होगी।
(vi) राज्य के बाहर के मामले में सम्बन्धित चिकित्सालय
संस्थान के चिकित्सक का प्रमाणपत्र मान्य होगा।
(आ. प.25(35)आयु./95 दि.15.6.96)

View Comments

  • महत्वपूर्ण जानकारी शिविरा को धन्यवाद

  • सर, बताऐ कि मेडिकल अवकाश से पहले व बाद मे राजकीय अवकाश हो तो क्या ये अवकाश, मेडिकल अवकाश मे जुङेगे

    • चिकित्सक के रोग अवधि ही अवकाश की अवधि होगी ,बाद वाली तारीख को चिकित्सक के अनुसार आरोग्य होना चाहिए(fit for duty on …) पहले वाला दिन काउंट नहीं होगा क्योंकि उस दिन बीमार नहीं था

    • सर मेडिकल अवकाश से पूर्व आकस्मिक अवकाश देय है क्या

  • क्या नवनियुक्त कार्मिक नियुक्ति के 7दिन बाद ही BED. ईनटरनशिप हेतु 90 दिन के अवकाश पर जा सकता है अवकाश का आधार क्या होगा तथा आवश्यक दस्तावेज क्या क्या देने होगे स्पष्ट करे

  • Sir नवनियुक्त कर्मचारी जॉइन करने के तुरंत बाद को कौन से अवकाश के सकता है ।

  • मैं अभी प्रोबेशन पीरियड मैं हूं । मेरी शादी 6 मई 2017 को हुई थी इस कारण मैं ग्रीष्मकालीन अवकाश से पहले विद्यालय में उपस्थित नही हो सका । आकस्मिक अवकाश भी शेष नही थे अतः में 1 मई से 9 मई तक अवैतनिक भी रहा 10 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश शुरू हुआ अंतिम दिवश 20 जून को उपस्थिति दी क्या मुझे ग्रीष्मकालीन अवकाश का payment मिलना चाहिए ?प्लीज् इस संबंध में उचित निर्देश प्रदान करे ।

  • मैंने 28दिन का रेबीज रोग उपचार हेतू चिकित्सक के परामर्श पर व प्रमाण-पत्र से मेडिकल अवकाश लिया है। मेरे डी डी ओ ने मेरा मेडिकल अवकाश यह कह कर स्वीकृत नहीं किया कि उनको रेबीज उपचार हेतु अवकाश के नियम की जानकारी नहीं है।और मेरी28पी एल काट लिए।अगर आपके पास रेबीज उपचार के अवकाश आदेश वह नियम होतों कृपया मुझे 9929585406 मोबाईल नम्बर पर व्टस एप करनें की कृपा करें

  • सर मेडिकल अवकाश से पूर्व आकस्मिक अवकाश देय है क्या?

  • सर मेडिकल अवकाश से पूर्व आकस्मिक अवकाश देय है क्या?