प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY): इस तरह से करें आवेदन व योजना के लाभ


प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का शुभारंभ केंद्र सरकार की ओर से 26 मार्च 2020 को किया गया था। कोरोना महामारी के चलते देश में लगे लाॅकडाॅउन में देश के 80 करोड. जरूरतमंद परिवारों को राशन देने के उद्देश्य के तहत इस योजना को शुरू किया गया था। इस योजना के तहत कोरोना महामारी के दौरान जरूरतमंद परिवारों को निःशुल्क राशन का वितरण किया गया था। सरकार द्वारा प्रारंभ में इसे 3 माह के लिए लागू किया गया था। जिसे समय-समय पर बढ़ाया गया। योजना के तहत रोजगार की तलाश में अन्य शहरों में रहने वाले प्रवासी मजदूरों सहित जरूरतमंद परिवारों को हर महीने 5 kg चावल/गेंहूं और 1kg चना सरकार द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा है । इससे जरूरतमंद परिवारों को संबल मिला है |

कौन ले सकता है योजना का लाभ

योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास राशन कार्ड होना चाहिए। राशन कार्ड में दर्ज प्रत्येक नामित सदस्य को हर माह पांच किलो अनाज उपलब्ध करवाया जाता है। इसे राशन की सम्बन्धित दुकान से प्राप्त किया जा सकता है। इसके अलावा एक राज्य से दूसरे राज्य में रहने वाले प्रवासी अपना पुराना राशन कार्ड यूज कर सकते है। इसे केंद्र सरकार की 'वन नेशन, वन राशन' कार्ड योजना के तहत शामिल किया गया है। यदि आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो अपना राशन कार्ड अवश्य बनाएं ।

योजना पर 26 हजार करोड़ होंगे खर्च

जरूरतमंद परिवारों को इस योजना के तहत 5 किलोग्राम

मुफ्त राशन प्रत्येक सदस्य को मिल रहा है। केंद्र सरकार की और से इस योजना पर 26,000 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किया जाएगा। योजना का वर्तमान में चतुर्थ चरण प्रारम्भ किया गया है। वर्तमान में इस योजना को दीपावली तक बढ़ाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने समोधन में जानकारी देते हुए बताया कि इसके तहत 80 करोड़ परिवारों को नवम्बर तक मुफ्त राशन वितरित किया जाएगा। योजना के तहत कच्चे मकान, किसान, निर्माण श्रमिक, रेहड़ी वाले सहित अन्य जरूरतमंद परिवार को अन्न का वितरण किया जा रहा है ।

राज्यों में अब तक हुई इतनी सप्लाई


प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत देश के विभिन्न राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को 7 जून 2021 तक भारतीय खाद्य निगम की ओर

से 69 एलएमटी खाद्यान्न की सप्लाई की जा चुकी है। इसमें से 13 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेश अपने अपने हिस्से के खाद्यान्न का पूरा कोटा ले चुके हैं। इसमें आंध्र प्रदेश, अरूणाचल प्रदेश, गोवा, लक्ष्यदीप, चंडीगढ, पंजाब, तेलंगाना, मेघालय आदि राज्य शामिल है। इस योजना के तहत जुलाई माह में 35. 84 लाख टन अनाज लाभार्थियों को वितरित किया गया है और कुल लाभार्थियों की संख्या 71.68 करोड़ है। इसी प्रकार से अगस्त माह में लाभार्थियों को 24.68 लाख टन अनाज दिया जा चूका है और कुल लाभार्थियों की संख्या के बारे में बात करें तो यह संख्या 49.36 करोड़ है |
योजना का नाम: प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना
योजना किसके द्वारा शुरू की गयी केंद्र सरकार की और से
योजना शुरू होने की तिथि 26 मार्च 2020
योजना के लाभार्थी राशन कार्ड धारक देश के सभी नागरिक
योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://www.india.gov.in/spotlight/pradhan-mantri-garib-kalyan-package-pmgkp

 

इन्हें भी पढ़े :

UP Widow Pension Scheme (उत्तर प्रदेश विधवा पेंशन योजना)
Bhagya Laxmi Yojana (भाग्यलक्ष्मी योजना)
Rajasthan Tarbandi Yojana (राजस्थान तारबंदी योजना)

Ayushman Bharat Yojana (आयुष्मान भारत योजना)
Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana
Mukhyamantri Laghu Udhyog Protsahan Yojana (MLUPY)
Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana (मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना)
Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana (प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना)
PM Mudra Yojana (प्रधानमंत्री मुद्रा योजना)
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana)