Categories: Stories
| On 3 years ago

"वाल्टर होम" - जोधपुर रेलवे के सुपर इंजीनियर।

वाल्टर होम- जोधपुर रेलवे के सुपर इंजीनियर।

जोधपुर रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नम्बर एक पर भगत की कोठी रेलवे स्टेशन की तरफ श्री वाल्टर होम की स्मृति में शिलालेख निर्मित है। श्री होम ने जोधपुर रेलवे को अपनी अनमोल सेवाए प्रदान की थी।

तत्कालीन

समय मे जब इंजीनियरिंग का पूर्ण विकास नही था तब श्री होम के अनुभवों एवम समर्पण के कारण उन्हें दो प्रमुख अवार्ड्स से सम्मानित किया गया था। उन्हें सन 1900 में कैसर-ए-हिन्द व 1904 में CIE चैम्पियन ऑफ द ऑर्डर द इंडियन एम्पायर से नवाज़ा गया था।

श्री होम ने 1877 में एक सहायक इंजीनियर के रूप में कार्य करना आरम्भ किया था। 1882 में इन्होंने रेलवे में सेवाएं देना आरम्भ किया था। श्री होम को जोधपुर/मारवाड़ रेलवे के रचयिता के रूप में भी स्वीकार किया जा सकता है। 1889 में

जोधपुर-बीकानेर रेललाइन निर्माण का निर्देशन होम ने ही किया था। होम ने 25 वर्ष तक जोधपुर रेलवे को बेहतरीन सेवायें प्रदान 1906 में त्यागपत्र दिया व बर्मा रेलवे को सेवायें प्रदान की।

श्री होम के व्यक्तित्व व व्यक्तिगत जीवन के बारे में अब बहुत कम उल्लेख उपलब्ध है।

टीम "शिविरा" प्रयासरत है कि मारवाड़ के एक श्रेष्ठ व्यक्तित्व के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर आपसे साझा करें।

इस बार जब जोधपुर रेलवे स्टेशन जाए तो उनकी स्मृति में लगे शिलालेख को एक बार जरूर देखिएगा।