शैक्षिक सत्र 2022-23 | सत्रारम्भ में संस्था प्रधान द्वारा करने योग्य कार्य

20220623 112841 1 | Shivira Hindi News

शैक्षिक सत्र 2022-23 | प्रथम दिवस पर करने योग्य कार्य । शैक्षिक सत्र के आरम्भ में किसी भी राजकीय अथवा निजी विद्यालय को निम्नलिखित कार्य आवश्यक रूप से पूर्ण करने अपेक्षित है।

आप सभी शिक्षकों, संस्था प्रधानों व विद्यार्थियों को शिक्षा सत्र 2022-23 की हार्दिक शुभकामनाएं व सादर बधाई। प्रत्येक शिक्षा सत्र अपने आप मे विशिष्ट होता है तथा किसी भी कार्य की बेहतरीन शुरुआत से हमको लक्ष्य प्राप्ति में आसानी होती है। शिक्षा सत्र के प्रथम दिवस पर प्रत्येक विद्यालय में निम्नलिखित कार्य आवश्यक रूप से पूर्ण कर लेने चाहिए।

  1. बोर्ड परीक्षा परिणाम की समीक्षा। संस्था प्रधान को विद्यालय सत्र के प्रथम दिवस को कक्षा 5, कक्षा 8, कक्षा 10 व कक्षा 12 के परीक्षा परिणामो की कक्षावार , विषयवार तथा अध्यापकवार समीक्षा कर लेनी चाहिए ताकि विभाग द्वारा मांगने पर सूचना तुरन्त उपलब्ध करवाई जा सके। बोर्ड परीक्षा परिणाम को विभागीय मानदंडों के परिपेक्ष्य में देखा जाना चाहिए। ( विभागीय मानदंड इसी चैनल में उपलध करवाये जा रहे है।)
  2. विद्यालय में नए छात्रों के प्रवेश प्रदान करने की प्रक्रिया, प्रभारी व अभिलेख संधारण सम्बंधित कार्य करना। नए सत्र के आरम्भ होने के साथ ही विद्यालय में प्रवेश कार्य आरम्भ हो जाता है अतः संस्थाप्रधान को विद्यालय में पर्याप्त मात्रा में प्रवेश आवेदन पत्रों की व्यवस्था कर लेनी चाहिए। प्रवेश कार्य की मॉनिटरिंग स्वयं करनी चाहिए लेकिन प्रवेश कार्य हेतु एक वरिष्ठ स्टाफ सदस्य को प्रवेश प्रभारी नियुक्त कर देना चाहिए। आवश्यक होने पर ” प्रवेश समिति ” का गठन भी किया जा सकता है। विद्यालय शुल्क जमा करने वाले कार्यालय कर्मी को भी तुरन्त शुल्क रसीद काटने व उसका लेखा करने की हिदायत प्रदान करनी चाहिए। ( आवश्यक प्रारूप इसी टेलिग्राम चैनल में उपलध करवाये जा रहे है।)
  3. स्टाफ मीटिंग- ग्रीष्मावकाश में विद्यालय में मात्र कार्यालय कार्मिक उपस्थित रहते है । एक लंबे समय के बाद स्टाफ सदस्यों से मिलने के कारण कुशल क्षेम जानने, विद्यालय परीक्षा परिणाम की पूर्ण जानकारी देने, शिक्षण कार्य आरम्भ होने से पूर्व की जाने वाली तैयारी, विद्यालय योजना, शैक्षिक-सहशैक्षिक प्रवति प्रभार में परिवर्तन, प्रवेशोत्सव कार्य सम्बंधित जिम्मेदारी इत्यादि के सम्बंध में स्टाफ मीटिंग की जानी चाहिए। इस मीटिंग का लिखित अभिलेख रखकर सभी के हस्ताक्षर लेने चाहिए।
  4. संस्था की सफाई व्यवस्था – अधिकांश विद्यालय ग्रीष्मावकाश के कारण लम्बे समय तक बंद रहते है अतः संस्था प्रधान द्वारा स्थानीय प्रशासन अथवा विद्यालय बजट द्वारा निजी सफाई कार्मिक की मदद से विद्यालय की सफाई करवानी चाहिए। वर्षा ऋतु को ध्यान में रखते हुए यह भी अपेक्षा की जाती है कि विद्यालय की छत की फोरी सफाई के साथ ही छत के परनालो को साफ करवा लेना चाहिये ताकि बरसाती पानी के छत पर एकत्र होने से नुकसान से बचा जा सके।
  5. विद्यालय के जल संसाधनों को दुरस्त करवाना। विद्यालय ग्रीष्मावकाश के बाद खुलने पर संस्था प्रधान द्वारा विद्यार्थियों के पीने के पानी की व्यवस्था की जांच करवाकर आवश्यक रिपेयर व आवश्यक होने पर पानी के टांके की सफाई करवा लेनी चाहिए ताकि विद्यार्थियों व स्टाफ सदस्यों को पीने के लिए शुद्ध जल उपलब्ध हो सके।
  6. एसडीएमसी/ एसएमसी अध्यक्ष व अन्य सक्रिय सदस्यों से अनोपचारिक वार्ता करके विद्यालय की परीक्षा परिणाम उपलब्धि इत्यादि के बारे में चर्चा की जानी चाहिए।
  7. विद्यालय से कक्षा 12, 10, 8 व 5 के विद्यार्थी (विद्यालय की सबसे बड़ी कक्षा) के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा संस्थान में प्रवेश लेने के लिए स्थानांतरण प्रमाण पत्र भी दिया जाना अपेक्षित होता है। TC देने से पूर्व विद्यार्थियों से सकारण आवेदन लेने, एसआर रजिस्टर को पूर्ण करने, शाला दर्पण को अपडेट करने, शुल्क लेने , चरित्र प्रमाण पत्र देने इत्यादि की व्यवस्था भी कर लेनी चाहिए। निजी शिक्षण संस्थानों को अपने पीएसपी पोर्टल को अपडेट कर देना चाहिए।
  8. प्रवेशोत्सव की तैयारी करना। विद्यालय आरम्भ होने के साथ ही विद्यालय प्रवेशोत्सव सबसे महत्वपूर्ण कार्य होता है। प्रवेशोत्सव के सम्बंध में जारी विभागीय निर्देशो की पूर्ण पालना करते हुए दैनिक रिपोर्ट तैयार करनी चाहिए। प्रत्येक विद्यालय द्वारा प्रवेशोत्सव को सफल बनाने, अधिकतम नामांकन करने व शिक्षा के सार्वजनीकरण के उद्देश्य कोप्राप्त करने का योजनाबद्ध प्रयास करना होता है। (सम्बंधित आदेश व प्रारूप टेलीग्राम चैनल में उपलब्ध करवाए जा रहे है)
    ऊपरोक्त विचार लेखक के अपने निजी विचार है। इन विचारों पर सदैव विभागीय निर्देशो को अधिमान प्रदान किया जाता है। ये विचार आपके लिए सहायक सिद्ध हो सकते है।
20220623 112841 | Shivira Hindi News
शैक्षिक सत्र 2022-23 | सत्रारम्भ में संस्था प्रधान द्वारा करने योग्य कार्य

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top