Categories: Health

विटामिन डी के फायदे और नुकसान (Advantages and Disadvantages of Vitamin D in Hindi)

विटामिन डी के फायदे और नुकसान - विटामिन डी को धूप से मिलने वाले विटामिन के रूप में जाना जाता है क्योंकि ये हमारे शरीर में तब बनता है जब त्वचा पर सूरज की किरणें पड़ती हैं, ये शरीर को Calcium (कैल्शियम) और Phosphate (फॉस्फेट) पचाने में मदद करता है विटामिन हड्डियों, दांतों और मांसपेशियों को मज़बूत और स्वस्थ रखता है।

विटामिन डी के फायदे और नुकसान (Advantages and Disadvantages of Vitamin D in Hindi) :

D (विटामिन डी) वसा में घुलनशील Pro - Harmon (प्रो-हार्मोन) का एक समूह होता है। इसके दो रूप होते हैं: Vitamin D 2 (विटामिन डी2) और Vitamin D3 (विटामिन डी3) . यह सूर्य के प्रकाश तथा खाद्य व अन्य पूरकों से प्राप्त विटामिन निष्क्रीय होता है। इसे शरीर में सक्रिय होने के लिये कम से कम दो Hydroxylation (हाईड्रॉक्सिलेशन) अभिक्रियाएं वांछित होती हैं।

विटामिन डी की कमी के लक्षण (Symptoms of Vitamin D Deficiency in Hindi) :

  • बालों का झड़ना = विटामिन की कमी से बाल तेजी से झड़ते हैं. विटामिन की कमी से बालों की Growth (ग्रोथ) पर प्रभाव पड़ता है
  • Stress (स्ट्रेस) और Depression (डिप्रेशन) बढ़ता है
  • Skin (स्किन) पर असर होता है विटामिन की कमी का असर Skin (स्किन) पर होता है. Skin Dry (स्किन ड्राई) और लाल हो जाती है.
  • खुजली होती है
  • कील-मुहांसे होने लगते हैं
  • विटामिन Vitamin D (विटामिन डी) की कमी से कम उम्र में चेहरे पर बुढ़ापा दिखने लगता है.
  • बीमार पड़ना= बीमार पड़ जाते हैं, खांसी सर्दी की शिकायत रहती है
  • मिजाज़/ घबराहट - विटामिन डी की कमी का असर मिजाज़ पर होता है.
  • विटामिन डी की कमी का असर Serotonin Harmon (सेरोटोनिन हार्मोन) पर पड़ता है.
  • हड्डियों का कमजोर हो जाना - विटामिन डी की ज्यादा कमी होने पर थोड़ी चोट लगने पर हड्डी टूटने, जांघों, पेल्विस और Hips (हिप्स) में दर्द होता है.

विटामिन डी की कमी के कारण (Causes of Vitamin D Deficiency in Hindi) :

  • सूर्य की रोशनी न लेने से
  • आहार में विटामिन डी लेने पर भी शरीर में विटामिन डी न मिलना।
  • आहार में विटामिन डी युक्त चीजे शामिल ना करना।
  • दवाओं के अधिक उपयोग से विटामिन डी की कमी हो जाना।
  • Kidney (किडनी) व Lever (लिवर) शरीर में विटामिन डी को ठीक से परिवर्तित न करने पर विटामिन डी की कमी हो जाना

खून में विटामिन डी की कमी से ये हेल्थ प्रॉब्लम हो सकती हैं (Deficiency of Vitamin D can Cause Health Problems in Hindi) :

  • Animiya (एनीमिया) का खतरा
  • Heart Attack (हार्ट अटैक)
  • Asthma (अस्थमा)
  • दिमाग पर असर
  • चेहरे का रंग गहरा होना
  • Cholesterol (कोलेस्ट्रॉल)
  • सूजन होना
  • जलन होना
  • Diabetes (डायबिटीज) मधुमेह का खतरा

यह भी पढ़े :

विटामिन डी की कमी का ईलाज (Treatment for Vitamin D Deficiency in Hindi) :

  • सूर्य की रोशनी विटामिन डी का अच्छा स्रोत माना जाता है।
  • Salmon (सॉल्‍मन) और Tuna Fish (टुना फिश) खाने से विटामिन डी की कमी पूरी होती है।
  • अंडे के पीले भाग से विटामिन डी की कमी पूरी होती है
  • Dairy Products (डेयरी प्रोडक्ट्स) से विटामिन डी की कमी पूरी होती है।जिसमें
    • दूध
    • गाय का दूध
    • पनीर
    • दही
    • मक्खन
    • छाछ
  • Cod Liver (कॉड लिवर) में विटामिन डी भरपूर मात्रा होता है जिससे हड्ड‍ियों की कमजोरी दूर होती है।
  • गाजर खाना/ गाजर का जूस पीना
  • भोजन में Soya Products (सोया उत्पाद) शामिल करना
  • Mushroom (मशरुम) और Fox Nut (मखाना) का उपयोग करना
  • Doctor (डॉक्टर) से परामर्श लेना । Injection (इंजेक्शन) की मदद से विटामिन डी की कमी को दूर करना

विटामिन डी किन किन चीजों में पाया जाता है? (Vitamin D Sources in Hindi) :

  • Egg (अण्डे )
  • Curd (दही)
  • Milk(दूध)
  • Tofu(टोफू)
  • Mushrooms(मशरूम)
  • Orange Juice(संतरा का रस)
  • Collards(कोलार्ड्स)
  • Okra(ओकरा)
  • Cauliflower (गोभी)
  • Spinach(पालक)
  • Sardines Fish ( सार्डिनेस फिश मछली)
  • Salmon Fish (सालमोन फिश मछली)
  • Paneer (पनीर)
  • Cheese(चीज़)
  • Soybeans(सोयाबीन)