Categories: News
| On 2 years ago

Ashok Gehlot : Chief Minister of Rajasthan

श्रीमान अशोक गहलोत- राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में तीसरी पारी आरम्भ करेंगे।

श्रीमान अशोक गहलोत का जन्‍म 3 मई 1951 को जोधपुर राजस्‍थान में हुआ। स्‍व॰ श्री लक्ष्‍मण सिंह गहलोत के घर जन्‍मे अशोक गहलोत ने विज्ञान और कानून में स्‍नातक डिग्री प्राप्‍त की तथा अर्थशास्‍त्र विषय लेकर स्‍नातकोत्‍तर डिग्री प्राप्‍त की।

श्री अशोक गहलोत-तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री

श्री गहलोत को आज दिनांक 14 दिसम्बर 2018 को राजस्थान सरकार का मुख्यमंत्री घोषित किया गया। आप इससे पूर्व 1998 से 2003 एवम 2008 से 2013 तक राजस्थान सरकार के मुख्यमंत्री पद को सुशोभित कर चुके है।

श्री अशोक गहलोत- विराट राजनीतिक अनुभव।

विद्यार्थी जीवन से ही राजनीति और समाजसेवा में सक्रिय रहे गहलोत 7वीं लोकसभा (1980-84) के लिए वर्ष 1980 में पहली बार जोधपुर संसदीय क्षेत्र से निर्वाचित हुए। उन्‍होंने जोधपुर संसदीय क्षेत्र का 8वीं लोकसभा (1984-1989), 10वीं

लोकसभा (1991-96), 11वीं लोकसभा (1996-98) तथा 12वीं लोकसभा (1998-1999) में प्रतिनिधित्‍व किया।
वर्ष 1973 से 1979 की अवधि के बीच श्री गहलोत राजस्‍थान NSUI के अध्‍यक्ष रहे। वर्ष 1979 से 1982 के बीच जोधपुर शहर की जिला कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष रहे। इसके अलावा वर्ष 1982 में श्री गहलोत राजस्‍थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी (इन्दिरा) के महासचिव भी रहे।
आपने तीन बार केंद्रीय मंत्री के रूप में कार्य किया। जनवरी, 2004 से 16 जुलाई 2004 तक गहलोत ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में विशेष आमन्त्रित सदस्‍य के रूप में कार्य किया ।
17 जुलाई 2004 से 18 फ़रवरी 2009 तक गहलोत ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव के रूप में कार्य किया।

श्री अशोक गहलोत- सामाजिक सरोकार।

श्री गहलोत ने सार्वजनिक जीवन की शुरुआत जोधपुर के अस्पतालों में भर्ती मरीज़ों को संभालने से की थी। श्री गहलोत ने पश्चिम बंगाल के बंगाँव और 24 परगना जिलों में वर्ष 1971 में बंग्‍लादेश युद्ध के दौरान आयोजित शरणार्थी शिविरों में काम किया। समाज सेवा में गहरी रूचि रखने वाले श्री गहलोत ने तरूण शान्ति सेना द्वारा सेवाग्राम, वर्धा औरंगाबाद, इन्‍दौर तथा अनेक जगहों पर आयोजित शिविरों में सक्रिय रूप से कार्य किया तथा कच्‍ची बस्‍ती और झुग्‍गी क्षेत्रों के विकास के लिए अपनी सेवाएं दी। जोधपुर में तरुण शांति सेना से जुड़े और शराब

की दुकानों के विरोध आंदोलन में काम किया। नेहरू युवा केन्‍द्र के माध्‍यम से उन्‍होंने प्रौढ शिक्षा के विस्‍तार में उन्‍होंने अपना महत्‍वपूर्ण योगदान दिया। श्री गहलोत सक्रिय रूप से कुमार साहित्‍य परिषद और राजीव गांधी मेमोरियल बुक-बैंक से जुड़े हुए हैं। श्री गहलोत भारत सेवा संस्‍थान के संस्‍थापक अध्‍यक्ष भी हैं। यह संस्‍थान समाज सेवा को समर्पित हैं तथा एम्‍बूलेन्‍स सेवा प्रदान करती है। इसके अलावा यह संस्‍थान राजीव गांधी मेमोरियल बुक बैंक के माध्‍यम से गरीब छात्रों के लिए नि:शुल्‍क पुस्‍तकें उपलब्‍ध करवाती है। संस्‍थान ने जोधपुर में राजीव गांधी सेवा सदन में एक वाचनालय भी स्‍थापित किया है। गहलोत राजीव गांधी स्‍टडी सर्किल, नई दिल्‍ली के भी अध्‍यक्ष हैं। यह संस्‍था देशभर के विश्‍वविद्यालय/महाविद्यालय के छात्रों एवं शिक्षकों के हितों की देखभाल करती है।

श्री अशोक गहलोत का सादगीपूर्ण व्यक्तित्व।

श्री गहलोत अत्यंत सादगीपूर्ण जीवन के हामी है। आपको सूत की माला पहनना व गांधी डायरी का वितरण करना बहुत पसंद है। उनके जीवन व उनके पारिवारिक सामाजिक समारोह में सादगीपूर्ण व्यवहार दर्शित होता है।

श्री अशोक गहलोत की मुख्य ताकत।

श्री गहलोत के व्यक्तित्व की मुख्य ताकतों में उनकी गहरी राजनेतिक समझ, दूरदर्शिता, मुश्किल निर्णय लेने की क्षमता, नियंत्रण क्षमता, प्रशासनिक समझ, मानवीय व्यवहार, नैतिकता, मूल्यों के प्रति निष्ठा व रिश्तों का गम्भीरता पूर्वक निर्वहन है।

श्री अशोक गहलोत की अभिरुचि।

अपने अत्यंत व्यस्त जीवन के बावजूद भी श्री गहलोत रेडियो सुनने की बहुत रुचि रखते है एवम बीबीसी के प्रसारण उन्हें बेहद पसंद है।

आम जनता की श्री अशोक गहलोत से अपेक्षा।

श्रीमान अशोक गहलोत आम आदमी से जुड़े राजनेता है एवम अपनी युवावस्था से ही सामाजिक सरोकारों से जुड़े हुए है। आपको कृषि क्षेत्रबके विशेष अनुभव है। आप के पास विशाल राजनैतिक व प्रशासनिक अनुभव है। आपने अनेक महत्वपूर्ण पदों पर लम्बे समय तक कार्य किया है।
राजस्थान सरकार के मुख्यमंत्री के रूप में पिछले कार्यकाल में आपने अनेक जनपयोगी फ्लैगशिप योजनाओं का संचालन कर समाज के गरीब तबकों को लाभान्वित किया था।
राज्य का प्रत्येक वर्ग आपसे व्यक्तिगत जुड़ाव अनुभव करता है एवम आपसे अपेक्षा रखता है। श्री गहलोत अपने विशाल अनुभव व क्षमताओं से सभी की अपेक्षाओं को पूर्ण करेंगे।

View Comments