आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना (Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Health Insurance Scheme in Hindi)

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना : आज के समय में स्वास्थ्य देखभाल बहुत महंगी होती जा रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार द्वारा आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की गई है। इस लेख के माध्यम से इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जैसे आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना क्या है?, इसके लाभ, उद्देश्य, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, विशेषताएं, आवेदन प्रक्रिया आदि। यदि आप आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो इस लेख को पढ़ें आखिर तक।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना (Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana in Hindi) :

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना यह योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को ₹500000 का स्वास्थ्य कवर प्रदान किया जाएगा। यह योजना राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा 30 जनवरी 2021 को शुरू की गई है। आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 1 करोड़ 10 लाख परिवार लाभान्वित होंगे। पहले इस योजना के तहत स्वास्थ्य कवर ₹330000 था, अब इसे बढ़ाकर ₹500000 कर दिया गया है। आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य योजना के तहत सामान्य बीमारियों के लिए ₹50000 तक और गंभीर बीमारियों के लिए ₹500000 तक का इलाज मिल सकता है। इस योजना के तहत निजी और सरकारी दोनों अस्पतालों से इलाज किया जा सकता है।

इस योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने के 5 दिन पहले और 15 दिन बाद तक के चिकित्सा खर्च को भी कवर किया जाता है। इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थियों को अपना आधार कार्ड या जन आधार कार्ड दिखाना अनिवार्य है। आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत कुल वार्षिक प्रीमियम 1750 करोड़ रुपये है, जिसमें से लगभग 80% यानी 1400 करोड़ राज्य सरकार वहन करेगी। पहले इस योजना के तहत 1401 पैकेज मिलते थे जिसे अब बढ़ाकर 1576 कर दिया गया है। जल्द ही इस योजना के तहत स्टेट पोर्टेबिलिटी भी शुरू

की जाएगी। इस पोर्टेबिलिटी के जरिए लाभार्थी दूसरे राज्यों में भी मुफ्त इलाज करा सकेंगे।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य योजना की मुख्य विशेषताएं (Key Highlights Of Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Health Yojana in Hindi) :

योजना का नामआयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा
किसके द्वारा शुरू की गयीराजस्थान सरकार
लाभार्थीराजस्थान के नागरिक
उद्देश्यबीमा कवर प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
वर्ष2022
बीमा रक्षण₹ 500000
लाभार्थियों की संख्या1 करोड़ 10 लाख

इससे पहले आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के नाम से संचालित की जाती थी। तब राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के परिवार ही इस योजना के पात्र थे। लेकिन अब इस योजना के तहत सामाजिक-आर्थिक जनगणना के पात्र परिवारों को भी शामिल कर लिया गया है। ताकि इस योजना का दायरा बहुत बड़ा हो। प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना राज्य में राजस्थान सरकार द्वारा संचालित नहीं है। क्योंकि आयुष्मान भारत बीमा योजना में सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2011 में शामिल परिवार ही पात्र थे। आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य योजना के तहत सामाजिक-आर्थिक जनगणना और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा दोनों के पात्र परिवारों को शामिल किया गया है।

इस योजना की एक खास बात यह है कि इस योजना के तहत कैशलेस उपचार प्रदान किया जाता है। इसका मतलब है कि लाभार्थियों को किसी भी तरह के इलाज के लिए अस्पताल में पैसे जमा करने की जरूरत नहीं है। आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत उन्हें एक कार्ड प्रदान किया जाएगा। उन्हें यह कार्ड अस्पताल में दिखाना होगा। जिसके बाद उनका इलाज कैशलेस माध्यम से किया जाएगा। इलाज का पूरा खर्च राजस्थान सरकार वहन करेगी। अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको जल्द से जल्द आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा। इस योजना के तहत कैशलेस उपचार केवल पैनल में शामिल अस्पताल द्वारा प्रदान किया जाता है।

यह प्लान फैमिली फ्लोटर प्लान है। इसका मतलब है कि इस योजना के तहत बीमा राशि का उपयोग परिवार के सभी सदस्य कर सकते हैं। यह अन्य योजनाओं की तुलना में फायदेमंद है। आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत लाभार्थी के परिवार का कोई भी सदस्य एम पैनल अस्पताल में कैशलेस माध्यम से ₹500000 तक का इलाज करा सकता है। इस योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने से

पहले और बाद के खर्च को भी कवर किया जाता है। इस योजना के तहत कई पैनलबद्ध अस्पताल राज्य में हैं और जल्द ही इस योजना का दायरा राज्यों के बाहर भी बढ़ाया जाएगा।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना का उद्देश्य (Objective of Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Health Insurance Scheme in Hindi) :

राजस्थान में कई ऐसे लोग हैं जो अपनी आर्थिक स्थिति के कारण अपना इलाज नहीं करा पा रहे हैं। ऐसे सभी लोगों के लिए राजस्थान सरकार द्वारा आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राजस्थान के सभी पात्र नागरिकों को बीमा कवर प्रदान करना है। ताकि वह किसी भी सरकारी या निजी अस्पताल में अपना इलाज करा सकें। अब राजस्थान के नागरिक बिना पैसों की चिंता किए ₹500000 तक अपना इलाज मुफ्त करा सकेंगे। इस योजना से राज्य के नागरिकों के स्वास्थ्य में भी सुधार होगा।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभ और विशेषताएं (Benefits and Features of Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Health Insurance Scheme in Hindi) :

  • आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई है।
  • इस योजना के तहत लाभार्थियों को ₹500000 तक की स्वास्थ्य देखभाल प्रदान की जाएगी।
  • आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा 30 जनवरी 2021 को शुरू की गई है।
  • इस योजना से 1 करोड़ 10 लाख परिवार लाभान्वित होंगे।
  • पहले इस योजना के तहत स्वास्थ्य कवर ₹330000 था, अब इसे बढ़ाकर ₹500000 कर दिया गया है।
  • इस योजना के तहत सामान्य बीमारियों के लिए ₹50000 तक और गंभीर बीमारियों के लिए ₹500000 तक का इलाज उपलब्ध हो सकता है।
  • आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत आप निजी और सरकारी दोनों अस्पतालों में अपना इलाज करा सकते हैं।
  • इस योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने से 5 दिन पहले और अस्पताल में भर्ती होने के 15 दिन बाद तक के चिकित्सा खर्च को कवर किया जाता है।
  • आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थियों को अपना आधार कार्ड या जन आधार कार्ड दिखाना अनिवार्य है।
  • इस योजना के तहत सालाना प्रीमियम 1750 करोड़ रुपये है, जिसमें से 1400 करोड़ रुपये राज्य सरकार वहन करेगी।
  • पहले इस योजना के तहत 1401 पैकेज मिलते थे जिसे बढ़ाकर 1576 कर दिया गया है।
  • इस योजना के तहत जल्द ही स्टेट पोर्टेबिलिटी भी शुरू की जाएगी। इसका मतलब यह हुआ कि अब इस योजना के लाभार्थी अन्य राज्यों में भी अपना मुफ्त इलाज करा सकेंगे।
  • पहले इस योजना को भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के नाम से जाना जाता था।
  • इस योजना के तहत सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2011 और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के पात्र परिवारों को शामिल किया गया है।
  • इस योजना के तहत लाभार्थियों का कैशलेस इलाज किया जाएगा।
  • यह योजना एक फैमिली फ्लोटर योजना है।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत कौन सी चीजें कवर नहीं हैं? (What are the things not Covered Under Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Health Insurance Scheme in Hindi) :

  • किसी नशीले पदार्थ के अति प्रयोग से होने वाले चिकित्सा व्यय।
  • जन्मजात बाहरी रोग, विसंगतियाँ आदि।
  • आत्महत्या या आत्महत्या के प्रयास के परिणामस्वरूप होने वाली बीमारियाँ।
  • अनावश्यक प्लास्टिक सर्जरी।
  • इस योजना के तहत टीकाकरण शामिल नहीं है।
  • अनावश्यक स्थिति में अस्पताल में भर्ती
  • हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी सहित विपरीत लिंग के समान होने के लिए एक शल्य प्रक्रिया है।
  • अनावश्यक दंत चिकित्सा।
  • अनावश्यक विटामिन और टॉनिक।

इस योजना के तहत लाभार्थियों को इलाज के दौरान कुछ जरूरी दस्तावेज अपने पास रखने होंगे। इन दस्तावेजों के जरिए लाभार्थी अस्पताल में अपना इलाज करा सकेंगे। दस्तावेज़ सत्यापन अस्पताल द्वारा किया जाएगा। जिसके बाद अस्पताल बीमा कंपनी से संपर्क कर दावे का निपटारा करेगा। ये महत्वपूर्ण दस्तावेज हैं भामाशाह कार्ड, नामांकन पर्ची और मरीज का आधार कार्ड। इस योजना का लाभ लेने के लिए रोगी के भामाशाह कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ना अनिवार्य है। दावे के समय परिवार के एचएच आईडी नंबर की भी आवश्यकता हो सकती है। सत्यापन के बाद लाभार्थी को 5 लाख रुपये तक का कैशलेस इलाज उपलब्ध कराया जाएगा।

योजना के लिए योग्यता (Eligibility for the Scheme in Hindi) :

  • लाभार्थी का राजस्थान का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास आधार कार्ड और जन आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • लाभार्थियों को सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2011 में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के लिए पात्र परिवारों को शामिल किया जाना चाहिए।
  • लाभार्थी आर्थिक रूप से गरीब परिवार से होना चाहिए।

योजना के महत्वपूर्ण दस्तावेज (Scheme Important Documents in Hindi) :

  • आधार कार्ड
  • जन आधार कार्ड
  • राशन पत्रिका
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण
  • उम्र का सबूत
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मोबाइल नंबर

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया (Process to apply online in Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Health Insurance Scheme in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको ऑनलाइन आवेदन के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • आपको इस आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको सभी जरूरी दस्तावेज अटैच करने होंगे।
  • अब आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है।
  • इस तरह आप आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना में ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया (Process to apply Offline in Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Health Insurance Scheme in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको अपने जिले के स्वास्थ्य विभाग में जाना होगा।
  • अब आपको स्वास्थ्य विभाग से इस योजना का रूप लेना होगा।
  • इसके बाद आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी जरूरी जानकारियां दर्ज करनी होंगी।
  • अब आपको फॉर्म से सभी जरूरी दस्तावेज अटैच करने होंगे।
  • इसके बाद आपको यह फॉर्म स्वास्थ्य विभाग में जमा करना होगा।
  • इस तरह आप आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे।