Categories: Health

बेसन के फायदे (Benefits of Besan in Hindi)

बेसन के फायदे : बेसन के फायदे चने की दाल को पीसने के बाद प्राप्त आटे को बेसन कहा जाता है। रसोइयों में बनने वाले कई प्रकार के खाद्य पदार्थों में बेसन का होता है। वे घरों में बनने वाली स्वादिष्ट मिठाइयां हों या पकौड़े खाने में उपयोग होने वाला बेसन न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता है, बल्कि सेहतमंद भी रखता है।

बेसन रसोई का एक अहम् हिस्सा होता है, जिसका उपयोग खाने, त्वचा सम्बन्धी समस्याओं और अन्य कई तरीकों से इस्तेमाल किया जाता है। बेसन चने की दाल को पीसकर बनाया जाता है। यह देखनें में हल्के पीले रंग का होता है।

बेसन को कच्चे या भुने हुए दोनों प्रकार के चनों से बनाया जा सकता है। भुने हुए चनों से बनाया गया बेसन ज्यादा स्वादिष्ट होता है।

बेसन के फायदे
बेसन के फायदे

बेसन क्या है? (What is Besan in Hindi) :

बेसन अत्यंत बारीक और मुलायम आटा है, जिसको छिलका रहित चनों की दाल को पीसकर बनाया जाता है। इसे कच्चे चनों या भुने चनों से बनाया जाता है। भारतीय उपमहाद्वीप में

बेसन को कई नामों से जाना जाता है। इसके उपयोग भी कई हैं। खाने के साथ बेसन का उपयोग सुंदरता को निखारने व औषधि के रूप में भी किया जाता है।

बेसन को English (अंग्रेजी) में Gram Flour (ग्राम फ्लौर), Telugu (तेलुगु) में सनागापिंडी, Tamil (तमिल) में कदलाई माव कहा जाता है। मुख्य रूप से बेसन में Carbohydrate (कार्बोहायड्रेट) और Protin (प्रोटीन) पाया जाता है। बेसन का इस्तेमाल खाने में किया जाता ही है, साथ ही कई सौन्दर्य पदार्थों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

बेसन में पोषक तत्व (Nutrients in Besan in Hindi) :

  1. Potassium (पोटैशियम) - 846 मिलीग्राम
  2. (मैग्नीशियम) - 41%
  3. Vitamin B (विटामिन बी) - 06 25%
  4. Iron (आयरन) - 27%
  5. Calcium (कैल्शियम) - 04%
  6. Fat (वसा) - 07 ग्राम
  7. Cholestrol (कलेस्टरॉल) - 0 मिलीग्राम
  8. Shugar (शुगर) - 11 ग्राम
  9. Sodium (सोडीयम) - 64 मिलीग्राम
  10. Fiber (फ़ाइबर) - 11 ग्राम
  11. Total Calories (कुल कैलोरी) - 387
  12. Thaimine (थायमीन) - 0.4 मिलीग्राम
  13. Zinc (ज़िंक) - 02.6 मिलीग्राम
  14. Copper (कॉपर) - 0.8 मिलीग्राम
  15. Vitamin K (विटामिन के) - 10%
  16. Vitamin A (विटामिन ए) - 01%
  17. Niacin (नियासिन) - 01.6 मिलीग्राम
  18. Riboflavin (राइबोफ्लेविन) - 0.1 मिलीग्राम

बेसन के फायदे (Benefits of Besan in Hindi) :

बेसन के फायदे :

  • कोलस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक होता है।
  • डायबिटीज में बेसन उपयोगी होता है।
  • एनीमिया रोग को दूर करता है।
  • हृदय के लिए फायदेमंद।
  • हड्डियों के लिए लाभकारी।
  • थकान मिटाने के लिए।
  • इम्युनिटी बढ़ाने के लिए।
  • उच्च रक्तचाप के लिए आवश्यक।
  • वजन कम करने में कारगर होता है।
  • ग्लूटन का सार्थक विकल्प होता है।
  • बवासीर (पाइल्स) में फायदेमंद होता है।
  • कोलोन कैन्सर से बचाव करता है।
  • टैनिंग के विरुद्ध प्रयोग में लिया जाता है।
  • कैंसर की स्थिती में फायदेमंद होता है।
  • त्वचा के निखार वह मुंहासों के विरुद्ध मददगार साबित होता है।
  • ड्राई हेयर की समस्या से छुटकारा दिलाता है।
  • मस्तिष्क को स्वस्थ रखता है।
  • सूजन को कम करता है।

त्वचा के लिए बेसन के फायदे (Benefits of Gram Flour for Skin in Hindi) :

बेसन के फायदे :

  • सनटैन को दूर करता है।
  • मुंहासों से छुटकारा दिलाता है।
  • तैलीय त्वचा पर असरकारक होता है।
  • मृत त्वचा से छुटकारा दिलाता है।
  • चेहरे के अनावश्यक बालों को हटाने में लाभदायक होता है।
  • चेहरे की रंगत में निखार लता है।
  • बालों के विकास के लिए उपयोगी होता है।
  • बालों को साफ करने के लिए फायदेमंद होता है।
  • डैंड्रफ से छुटकारा दिलाता है।
  • सूखे बालों को पोषण प्रदान करता है।

बेसन का उपयोग (Use of Besan in Hindi) :

  • बेसन का उपयोग गेहूं के आटे के साथ कर सकते हैं। जिससे पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व मिलते हैं।
  • इसके सूप को गाढ़ा कर और करी बनाने के लिए उपयोग कर सकते हैं।
  • बेसन का उपयोग लड्डू व पकौड़े जैसे कई व्यंजन बनाने में किया जाता है।
  • ब्रेड या अन्य खाद्य सामग्री बनाने में बेसन का उपयोग किया जाता है।

यह भी पढ़े :

बेसन के नुकसान (Disadvantages of Gram Flour in Hindi) :

  • अत्यधिक मात्रा में बेसन का प्रयोग किया जाए तो पेट के लिए नुक़सानदायक हो सकता है।
  • पेट में चिप-चिपापन पैदा कर सकता है, जिससे कि पेट में दर्द की समस्या हो सकती है।
  • पेट के हार्मोन्स के स्तर को असंतुलित कर देता है, जिससे पेट में गैस बनने लगती है।
  • ऐलर्जी की समस्या में बेसन का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • बेसन Fiber (फाइबर) का अच्छा स्रोत होता है। Fiber (फाइबर) का उपयोग अधिक मात्रा में किया जाए, तो पेट के लिए हानिकारक हो सकता है, क्योंकि इससे दस्त और गैस की समस्या हो सकती है ।
  • किडनी से संबंधित बिमारियों में सेवन नहीं करना चाहिए।

बेसन के फायदे