Categories: Health

काजू खाने के फायदे (Benefits of Eating Cashew Nuts in Hindi)

काजू खाने के फायदे : काजू खाने के फायदे Anticardium occidental एक प्रकार का पेड़ होता है। जिसका फल काजू सूखे मेवे के लिए लोकप्रिय है। काजू का आयात-निर्यात एक बहुत बड़ा व्यापार है। काजू से अनेक प्रकार की मिठाईयाँ और शराब/मदिरा बनाई जाती है। काजू का पेड़ तेजी से बढ़ने वाला उष्णकटिबंधीय पेड़ होता है जो काजू और काजू के बीज पैदा करता है। काजू की उत्पत्ति Brasil ब्राज़ील से हुई है।

काजू खाने के फायदे आजकल काजू की खेती दुनिया के बहुत से देशों में की जाती है। सामान्य तौर पर काजू का पेड़ 13-14 मीटर तक बढ़ता है। काजू की बौनी कल्टीवर प्रजाति जो 06 मीटर की ऊंचाई तक बढ़ता है। काजू का उपयोग/उपभोग कई तरह से किया जाता है। काजू के छिलके का इस्तेमाल कलर से लेकर स्रेहक (लुब्रिकेंट्स) तक में किया जाता है। एशियाई देशों में तटीय स्थान काजू के उत्पादन के बड़े क्षेत्र हैं। काजू की व्यावसायिक खेती लगातार बढ़ती जा रही है, क्योंकि काजू सभी कार्यक्रमों तथा उत्सवों में अल्पाहार या नाश्ते का भाग बन गया है।

विदेशी बाजारों में काजू की बहुत मांग है। काजू एक बहुत तेजी से बढ़ने वाला पेड़ है और इसमें पौधारोपण के 03 साल बाद फूल आते हैं और उसके दो महीने के भीतर काजू पककर तैयार होते हैं।

काजू खाने के फायदे काजू एक फल होता है जो सूखे मेवे में शामिल होता है। काजू के पौष्टिक गुण इतने हैं, कि आयुर्वेद में काजू को कई-तरह के बीमारियों के लिए प्रयोग में लिया जाता है। काजू दांतों के

दर्द से लेकर, दस्त तथा कमजोरी जैसे अनेक रोगों से राहत दिलाने में मदद करता है। काजू को खाने से न सिर्फ इसके स्वास्थ्यवर्द्धक गुणों का लाभ मिलता है, बल्कि काजू को व्यंजन में डालने से व्यंजन का जायका बदलता है।
काजू खाने के फायदे
काजू खाने के फायदे

काजू खाने के फायदे सूखे मेवे में काजू अहम् होता है। भारत में कई स्थानों पर इसका उपयोग विभिन्न तरीकों से किया जाता है। इसका उपयोग मीठे पकवान, मसालेदार व्यंजनों का जायका बढ़ाने के लिए किया जाता है। काजू का इस्तेमाल सिर्फ खाने के लिए नहीं, बल्कि इसका प्रयोग कई समस्याओं से निजात दिलाने के लिए किया जा सकता है। इसका सेवन बीमारी से बचाव और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए किया जा सकता है।

काजू क्या है? (What is Cashew in Hindi?) :

काजू का वानस्पतिक नाम Anacardium occidentale L (एनाकार्डियम ऑक्सीडेन्टेल) होता है। काजू Anacardiaceae (ऐनाकार्डिएसी) कुल का है और अंग्रेजी में काजू को Cashews nut (कैश्यू नट) कहा जाता है। काजू एक छोटा तथा लगभग 12 मीटर ऊँचा और मध्यम आकार का सदा हरा-भरा रहने वाला पेड़ होता है। इसकी शाखाएं मुलायम होती हैं। काजू के पेड़ की छाल से पीले रंग का रस निकलता है। काजू का पत्ता कटहल के पत्ते जैसा होता है, किन्तु वह सुगन्धित होता है। इसके फूल छोटे और गुलाबी धारियों से युक्त तथा पीले रंग के होते हैं, जिनमें सफेद गिरी होती है, उसे काजू कहते हैं।

काजू के पोषक तत्व (Nutrients of Cashew Nuts in Hindi) :

काजू खाने के फायदे :

Nutrients (पोषक तत्व)Nutritive Value (पोषक मूल्य)
Water (पानी)05.20 ग्राम
Calories (कैलोरी)553 Calories(कैलोरी)
Carbohydrate (कार्बोहाइड्रेट)30.19 ग्राम
Fat (वसा)43.85 ग्राम
Protein (प्रोटीन)18.22 ग्राम
Shugar (शुगर)05.91 ग्राम
Fiber (फाइबर)03.3 ग्राम
(Vitamin (विटामिन)
Vitamin C(विटामिन सी)0.5 मिलीग्राम
Niacin (नियासिन)01.062 मिलीग्राम
Riboflavin (राइबोफ्लेविन)0.058 मिलीग्राम
Thiamine (थियामिन)0.423 मिलीग्राम
Folate (फोलेट)25 µg
Vitamin A (विटामिन ए)0 IU (आईयू)
Vitamin E (विटामिन ई)0.90 मिलीग्राम
Vitamin B6 (विटामिन बी 6)0.417 मिलीग्राम
Vitamin K (विटामिन  के)34.1 µg
Electrolyte (इलेक्ट्रोलाइट)
Sodium (सोडियम)12 मिलीग्राम
Potassium (पोटैशियम)660 मिलीग्राम
Mineral (मिनरल)
Calcium (कैल्शियम)37 मिलीग्राम
Iron (आयरन)06.68 मिलीग्राम
Magnesium (मैग्नीशियम)292 मिलीग्राम
Phosphorus (फास्फोरस)593 मिलीग्राम
Zinc (जिंक)05.78 मिलीग्राम
Lipid (लिपिड)
Fatty Acids, Total Saturated (फैटी एसिड, कुल सैचुरेटेड)07.783 ग्राम
Fatty Acids, Total Monosaturated (फैटी एसिड, कुल मोनोसैचुरेटेड)23.797 ग्राम
Fatty Acids, Total Polyunsaturated (फैटी एसिड, कुल पोलीअनसैचुरेटेड)07.845 ग्राम
काजू खाने के फायदे

काजू के औषधीय गुण (Medicinal Properties of Cashew Nuts
in Hindi) :

काजू खाने के फायदे :

काजू पौष्टिकता से भर-पूर होता है यह थोड़ा कड़वा, गर्म तथा वात-पित्त और कफ को दूर करने वाला होता है। काजू से पेट के रोग, बुखार, कृमि, घाव, सफेद कुष्ठ, संग्रहणी, बवासीर (पाइल्स) तथा भूख न लगने जैसे बीमारियों में लाभदायक होता है। इसकी जड़ तीव्र विरेचक तथा कमजोरी दूर करने में सहायक होती है। काजू की बीजमज्जा पोषक, मृदुकारी तथा विष को कम करने में मदद करता है।

काजू खाने के फायदे (Benefits of Eating Cashew Nuts in Hindi) :

काजू खाने के फायदे :

  • दांतों के दर्द से राहत दिलाता है।
  • दस्त को रोकने में सहायक होता है।
  • उदकमेह (Diabetes insipedus) में लाभकारी होता है।
  • हृदय को स्वस्थ रखने के लिए फायदेमंद होता है।
  • मूत्र संबंधी बीमारियों में मददगार होता है।
  • गॉल ब्लैडर की पथरी को हटाने में उपयोगी होता है।
  • गर्भावस्था के लिए उपयोगी होता है।
  • माहवारी के दर्द से राहत दिलाता है।
  • कैंसर में फायदेमंद।
  • आमवात/ अर्थराइटिस के दर्द को कम करने में लाभकारी।
  • त्वचा संबंधी रोगों से राहत दिलाने में सक्षम होता है।
  • मस्सों को कम करने में मदद करता है।
  • कुष्ठ संबंधी लक्षणों से राहत दिलाता है।
  • कमजोरी दूर करता है।
  • रक्तचाप में सुधार के लिए मददगार होता है।
  • स्वस्थ दिमाग के लिए उपयोगी होता है।
  • पैरों की बिवाई को ठीक करने में फायदेमंद होता है।
  • सूजन को कम करने में सहायक होता है।
  • शरीर में ऊर्जा बनाये रखने में लाभदायक होता है।
  • कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण करने में मददगार होता है।
  • हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक होता है।
  • पाचन शक्ति को बेहतर बनाने में मददगार होता है।
  • मधुमेह के इलाज में काजू फायदेमंद होता है।
  • रक्त को स्वस्थ रखता है।
  • एंटीऑक्सीडेंट गुणों की पूर्ति करता है।
  • खून बढ़ाने में लाभकारी होता है।
  • बालों की खोई रौनक लौटाने में मददगार होता है।
  • वजन घटाने में फायदेमंद होता है।
  • थकान दूर करने में सहायक होता है।

काजू के उपयोग (Uses of Cashew in Hindi) :

काजू खाने के फायदे :

  • काजू को मनानुसार सीधे खा सकते हैं।
  • काजू कतली मिठाइयों में उपयोग होता है।
  • काजू और बादाम को साथ भून कर, थोड़ा नमक मिलाकर स्नैक्स के रूप में खाया जा सकता है।
  • खीर और हलवे में इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • सब्जियां बनाते समय उपयोग किया जा सकता है।

काजू के उपयोगी भाग (Useful Parts of Cashew in Hindi) :

काजू खाने के फायदे :

  • काजू के फल।
  • त्वचा।
  • जड़।
  • बीजपत्र।
  • पत्ते के तेल।

काजू की मात्रा (Amount of Cashew in Hindi) :

दिन-भर में 06-07 काजू खा सकते हैं। काजू का उपयोग सीमित मात्रा में ही करना चाहिए, और साल्टेड और फ्राइड काजू के प्रयोग से दूर रहना चाहिए।

काजू के नुकसान (Disadvantages of Cashew Nuts in Hindi) :

  • अधिक काजू के प्रयोग से एलर्जी हो सकती है।
  • जिन्हें दस्त की समस्या हो, उन्हें काजू नहीं खाने चाहिए।
  • शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ सकती है, जिससे उच्च रक्तचाप, स्ट्रोक और हृदय से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं।
  • किडनी पर प्रभाव पड़ सकता है।
  • अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से आपका वजन बढ़ सकता है।
  • काजू के रूप में ज्यादा फाइबर का उपयोग पेट में सूजन और गैस का कारण बन सकता है।
  • अधिक सेवन से पोटैशियम शरीर में पहुंच सकता है।
  • दिल का धड़कना अचानक बंद हो जाना।
  • कमजोरी।
  • काजू के छिलकों का तेल बहुत जलन पैदा करने वाला तथा फफोला पैदा करने वाला होता है।

यह भी पढ़े :

काजू की खेती (Cashew Cultivation in Hindi) :

मूलतः South America (दक्षिण अमेरिका) (उष्णकटिबंधीय स्थान) और North-East Brazil (उत्तर-पूर्वी ब्राजील) में प्राप्त होता है। India (भारत) में 16 वीं सदी में Goa (गोवा) में पुर्तगाली व्यापारी इसे लेकर आए थे। India (भारत) के पश्चिमी तट पर विशेषतः गोवा, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडू, केरल, आंध्रप्रदेश, उड़ीसा, पश्चिम-बंगाल एवं अन्य क्षेत्रों में काजू की खेती की जाती है।