Categories: Health

शहद के फायदे और नुकसान (Benefits of honey in Hindi) | Honey Skin, Hair and Health Benefits and Side Effects In Hindi

Benefits of honey in Hindi- मधु या जिसे हम शहद कहते हैं शहद को अंग्रेजी में Honey (हनी) कहा जाता है। शहद एक मीठा और चिपचिपा वाला अर्ध तरल पदार्थ होता है। जो मधुमक्खियों द्वारा पौधों के पुष्पों में स्थित मकरन्दकोशों से स्रावित मधुरस से तैयार किया जाता है, और आहार के रूप में मौनगृह में संग्रह किया जाता है। शहद में जो मीठापन होता है वह मुख्यतः ग्लूकोज और शर्करा के कारण होता है। शहद का प्रयोग औषधि रूप में होता है। शहद में ग्लूकोज व अन्य शर्कराएं तथा Vitamin (विटामिन), खनिज और अम्ल होते हैं।

जिससे कई पौष्टिक तत्व मिलते हैं। जो घाव को ठीक करने और उत्तकों के बढ़ने के उपचार में मदद करते हैं। प्राचीन काल से शहद को जीवाणु रोधी औषधि के रूप में जाना जाता रहा है, और पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों में तथा आयुर्वेद में वैकल्पिक उपचार के तौर पर प्रयोग में लिया जाता है। शहद एक hyperosmotic agent (हाइपरस्मॉटिक एजेंट) होता है। जो घाव से तरल पदार्थ निकाल देता है, और शीघ्र उसकी भरपाई

करने में भी मदद करता है, और घाव की जगह के हानिकारक जीवाणु को भी खत्म कर देता है। शहद को सीधे घाव में लगाया जाता है, तो यह सीलैंट की तरह कार्य करता है और घाव संक्रमण से बचा रहता है।
image 114 Shivira

Honey (हनी) कई गुणों और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। प्राचीन काल में इसे देवताओं का अमृत भी कहा जाता है। शहद स्वास्थ्य के लिए कई प्रकार से फायदेमंद होता है। शहद कमजोरी और बीमारियों को दूर भगाने में मददगार होता है। शहद फूलों के मीठे रस से बनकर तैयार होता है शहद पीला भूरे रंग का होता है। इसको मधुमक्खियों द्वारा बनाया जाता है। मधुमक्खियों द्वारा तैयार किए जाने वाले शहद का इस्तेमाल किया जाता है। इसका इस्तेमाल खाने के तौर पर करते हैं। त्वचा और बालों पर लगाया जाता है, क्योंकि इसमें मौजूद खनिज पदार्थ सेहत और त्वचा के लिए गुणकारी होते हैं।

शहद के प्रकार (types of honey in Hindi)

  • मनुका शहद
  • क्लॉवर शहद
  • लेदर वुड शहद
  • बकवीट शहद
  • अल्फाल्फा शहद
  • रोजमेरी शहद
  • ब्लूबेरी शहद
  • लैवेंडर शहद
  • एवोकाडो शहद
  • सारवुड शहद

शहद में पौष्टिक तत्व (Nutrients in honey in Hindi)

Nutrients (पोषक तत्व)Quantity per 100 grams (मात्रा प्रति 100 ग्राम)
Water (पानी)17.1 ग्राम
calories (कैलोरी)304 kcal
protein (प्रोटीन)0.3 ग्राम
Carbohydrate (कार्बोहाइड्रेट)82.4 ग्राम
fiber (फाइबर)0.2 ग्राम
Sugar (शुगर)82.12 ग्राम
minerals (मिनरल्स)
calcium (कैल्शियम)06 मिलीग्राम
Iron (आयरन)0.42 मिलीग्राम
magnesium (मैग्नीशियम)02 मिलीग्राम
Phosphorus (फास्फोरस)04 मिलीग्राम
potassium (पोटैशियम)52 मिलीग्राम
sodium (सोडियम)04 मिलीग्राम
zinc (जिंक)0.22 मिलीग्राम
manganese (मैंगनीज)0.08 मिलीग्राम
Copper (कॉपर)0.036 मिलीग्राम
selenium (सेलेनियम)0.8 माइक्रोग्राम
Vitamin (विटामिन)
vitamin C (विटामिन सी)0.5 मिलीग्राम
riboflavin (राइबोफ्लेविन)0.038 मिलीग्राम
niacin (नियासिन)0.121 मिलीग्राम
folate (फोलेट)02 माइक्रोग्राम
colleen (कोलीन)2.2 मिलीग्राम
vitamin (विटामिन) How much vitamin (कितनी मात्रा में होता है विटामिन)benefits of vitamins (विटामिन के फायदे)
vitamin c (विटामिन सी)0.5 मिलीग्रामहड्डियों, दांतो  को मजबूती प्रदान करता है।
जुकाम से रक्षा करता है।
folate b9 (फोलेट (बी 9))02 माइक्रोग्रामरेड ब्लड सेल को बनाने में मदद करता है।
कान के लिए लाभदायक होता है।
pantothenic acid (पैंटोथेनिक एसिड (बी 5))0.068 मिलीग्रामनर्वस सिस्टम को सही से कार्य करने में मदद करता है।
दिमाग को दुरुस्त रखता है।
vitamin b 6 (विटामिन बी 6)0.024 मिलीग्रामएनीमिया की बीमारी में लाभदायक और आंखों के लिए फायदेमंद होता है।
niacin b 3 (नियासिन (बी 3))0.121 मिलीग्रामकोलेस्ट्रॉल का स्तर सही रखता है।
दिमाग को दुरूस्त रखता है।
riboflavin b 2 (रिबोफाल्विन (बी 2))0.038 मिलीग्रामआंखों की रोशनी और दिमाग के लिए लाभदायक होता है।
minerals (खनिज) what amount is the mineral present (कितनी मात्रा में मौजूद है खनिज पदार्थ)Benefits of Minerals (खनिज पदार्थ के फायदे)
zinc (जिंक)0.22 मिलीग्रामजुखाम के संक्रमण से बचाता है।
इम्यून सिस्टम को कई तरह के वायरस से लड़ने में मदद करता है।
potassium (पोटैशियम)52 मिलीग्रामरक्तचाप को सही रखता है।
मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करता है।
magnesium (मैगनीशियम)02 मिलीग्रामशुगर के मरीजों के लिए लाभदायक होता है।
हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है।
iron (आयरन)0.42 मिलीग्रामएनीमिया की बीमारी में सेवन करना फायदेमंद होता है।
इम्युनिटी सिस्टम की क्षमता को बढ़ाता है।
calcium (कैल्शियम)06 मिलीग्रामशरीर की हड्डियों और दांतों को मजबूत करने में सहायक होता है।
sodium (सोडियम)04 मिलीग्राममस्तिष्क कार्य , खून, दिल और इत्यादि चीजों के लिए लाभदायक होता है।

शहद से फायदे (Benefits of honey in Hindi)

  • वजन घटाने में मददगार होता है।
  • तनाव कम करने के लिए मददगार है।
  • मधुमेह की समस्या के लिए फायदेमंद होता है।
  • जलने पर और जले पर लगाने के लिए लाभकारी।
  • घाव के लिए लाभकारी।
  • उच्च रक्तचाप में फायदेमंद होता है।
  • कोलेस्ट्रॉल से लड़ता है।
  • एनर्जी को बूस्ट करने में मदद करता है।
  • हड्डियों के लिए सहायक होता है।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए मददगार होता है।
  • हृदय रोगों से लड़ने के लिए शहद फायदेमंद होता है।
  • दमा के इलाज में सहायक होता है।
  • ओरल हेल्‍थ के लिए फायदेमंद होता है।
  • दांतों के लिए तथा दांतों की समस्या में लाभकारी होता है।
  • कैंसर रोग में उपयोगी होता है।
  • एसिडिटी के लिए फायदेमंद होता है।
  • मुंहासों के लिए लाभकारी होता है।
  • झुर्रियों को बेहतर बनाने में सहायक होता है।
  • रूखे और फटे होंठों के लिए उपयोग।
  • चेहरे की सफाई के लिए उपयोग।
  • बालों के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • नाखूनों को मजबूत करता है।
  • ट्राइग्लिसराइड्स (Triglycerides) की बीमारी को ठीक करता है।
  • हृदय के लिए लाभदायक होता है।
  • अच्छे जीवाणु को बढ़ाता है।
  • विषाक्त पदार्थों को नष्ट करता है।
  • जुकाम होने पर इस्तेमाल किया जाता है।
  • गर्भवती महिला के लिए उपयोगी होता है।
  • पेट के लिए लाभदायक होता है।
  • पाचन को सही करता है।
  • अनिद्रा की समस्या को खत्म करता है।
  • मुंह की बदबू को खत्म करता है।

शहद के उपयोग (Uses of Honey in Hindi)

  • सलाद की सजावट के रूप में शहद का उपयोग।
  • चीनी के विकल्प में शहद को मिलाया जाता है।
  • सोने से पहले एक चम्मच शहद को दूध में ले सकते हैं।
  • सुबह खाली पेट एक चम्मच शहद का सेवन किया जा सकता है।
  • सीरप बनाकर उपयोग किया जा सकता है।
  • तुलसी, शहद और आम का शरबत बनाया जा सकता है।
  • एक गिलास गर्म पानी में शहद और नींबू का रस पी सकते हैं।

शहद से नुकसान (Harm from honey in Hindi)

  • Honey की अधिकता से एलर्जी हो सकती है या एलर्जी को बढ़ा सकती हैं।
  • Honey के अधिक सेवन से पेट दर्द की समस्या हो सकती है।
  • Honey के नुकसान के अंतर्गत फूड पॉइजनिंग हो सकती है।
  • Honey का अधिक सेवन ब्लड शुगर को अस्थिर कर सकता है।
  • इसका अधिक सेवन करने से मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है
  • छोटे बच्चों को शहद नहीं देना चाहिए क्योंकि छोटे बच्चों की पाचन शक्ति ज्यादा मजूबत नहीं होती जिसके कारण बच्चे इसमें मौजूद जीवाणु को पचा नहीं पाते और बीमार हो जाते हैं
  • कच्चा शहद खाने से फ़ूड पोइज़निंग होने की संभावना रहती है।