Categories: Health

मौसंबी के फायदे (Benefits of Mosambi in Hindi)

मौसंबी के फायदे : मौसंबी के फायदे मौसंबी (Citrus limetta) एक फल है। यह नींबू की जाति का फल होता है लेकिन नींबू से कई गुना लाभदायक होती है। मौसंबी का नारंगी के समान आकार होता है। मुंबई और गुजराती में मौसंबी को मुसम्मी या मौसमी कहते हैं।उत्तरप्रदेश में इसे 'मीठा नींबू' कहते हैं। मौसंबी का रस साबुन और शराब और आदि पेय पदार्थों में डाला जाता है।

मौसंबी के छिलके से निकला हुआ तेल जल्दी उड़ जाता है। मौसंबी के फायदे इसके तेल को जैतून के तेल के साथ मिलाकर उपयोग में लियाजाता है। मौसंबी का प्रयोग पोषक आहार के रूप में किया जाता है।

मौसंबी की तीन किस्में होती हैं :

  • नेवल
  • जुमैका
  • माल्टा

मौसंबी की अनेक उपजातियां हैं। नेवल मौसंबी किस्म अमेरिका में उत्तम मानी जाती है। माल्टा मौसंबी का छिलका और रस लाल रंग का होता है। मौसंबी के फल 1 महीने तक बिना बिगड़े ज्यों-के-त्यों रहते हैं मौसंबी को मीठा नींबू भी कहा जाता है। यह गर्मी के दिनों में प्यास बुझाने के लिए काफी अच्छा होती है

यह मीठे नींबू के रस की तरह लगता है। मौसंबी में कई तरह के Vitamin (विटामिन) होते हैं, जिनमें कैल्शियम, Protin (प्रोटीन), Faiber (फाइबर), Iron (आयरन), Potassium (पोटाशियम), Phosphorus (फॉस्फोरस) भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं आयुर्वेद के अनुसार, मीठा नींबू वात-पित्त-दोष ठीक करता है।

मौसंबी क्या है? (What is Mosambi in Hindi) :

मौसंबी को मीठा नींबू कहा जाता है गर्मी के दिनों में शरीर में पानी की कमी को पूरा करने में मौसंबी (मीठा नींबू) का रस बहुत लाभकारी होता है। मौसंबी का स्वभाव अम्लीय यानि Acidic (एसिडिक) होता है। मौसंबी के फल का सूखा छिलका कमजोरी दूर करने के साथ-साथ वात को कम करने में भी उपयोगी होता है।

मौसंबी का पेड़ 6 मीटर तक ऊँचा और फैला हुआ होता है। इसका पेड़ कांटों से घिरा हुआ और हमेशा हरा-भरा रहता है। मौसंबी फल कच्ची अवस्था में हरे रंग का होता है तथा पकने पर यह सुनहरा और नारंगी रंग का हो जाता है। मौसंबी के अन्दर चिकने तथा सफेद रंग के नुकीले बीज होते हैं। मौसंबी का रस शारीरिक शक्ति को और भूख को बढ़ाता है। मौसंबी न सिर्फ एक स्वादिष्ट फल होता है, बल्कि यह पौष्टिकता से भरपूर होती है। मौसंबी के पौष्टिक तत्वों में विटामिन-ए, सी, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस, पोटैशियम, फोलेट आदि होते हैं वहीं, मौसंबी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल, एंटीट्यूमर, एंटीडायबिटिक, एंटी-अल्सर जैसे कई गुण विध्यमान हैं

अन्य भाषाओं में मौसंबी के नाम (Name of Mosambi in Different Languages in Hindi) :

मौसंबी का वानस्पतिक नाम : Citrus sinensis (Linn.) Osbeck (सिट्रस साइनेन्सिस) है। मौसंबी Rutaceae (रूटेसी) कुल का है। यह दुनिया में कई नामों से जाना जाता है, जो इस प्रकार हैं :

  • Hindi (हिंदी) : मोसंबी
    • माल्टा
  • Bengali (बंगाली) : मोसंबी,
  • Kannada (कनाडा) : कितितले (Kittile)
    • साहत्गुडि (Sahatgudi)
  • Gujarati (गुजराती) : माल्टा (Malta)
    • मोसंबी
  • Tamil (तमिल) : चिनि (Chini)
    • सथागुडि (Sathagudi)
  • Telugu (तेलुगु) : बट्टावि-नारंगी (Battavi-narangi);
  • Nepali (नेपाली) : जुनार (Junar);
  • Marathi (मराठी) : माल्टा (Malta)
    • मोसम्बि
  • Malayalam (मलयालम) : मदुरा (Madura)
  • English (इंग्लिश) : ऑरेंज(Orange)
    • ब्लड ऑरेंज (Blood orange)
    • नावेल ऑरेंज (Novel orange)
    • स्वीट ऑरेन्ज (Sweet orange)
    • Mozambique orange (मोजैम्बीक ऑरेन्ज)
    • कूली ऑरेन्ज (Coolie orange)
  • Arabic (अरेबिक) : बोर्डग्यून (Bordgyun)

मौसंबी के फायदे (Benefits of Mosambi in Hindi) :

मौसंबी के फायदे :

  • दांतों के दर्द की समस्या में सहायक
  • सांसों की बदबू तथा सांस के रोगों से लड़ने में मदद
  • हैजा की समस्या में लाभकारी
  • अधिक प्यास लगने की समस्या में कारगर साबित होती है
  • दस्त में उपयोगी
  • मूत्र रोग में प्रयोग
  • मुंहासे-कील से राहत
  • बालों की समस्या के लिए
  • त्वचा के दाग धब्बों की समस्या के लिए
  • वजन घटाने में उपयोगी
  • Cencer (कैंसर) से बचाव के लिए प्रयोग
  • पाचन शक्ति को मजबूत करता है
  • अस्थमा को रोकने में सक्षम
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है
  • आँखों की रोशनी के लिए लाभकारी
  • मसूड़ों को स्वस्थ रखने में सहायक
  • मधुमेह को रोकने में सहायक
  • स्कर्वी के लिए उपयोग
  • अल्सर के लिए
  • गर्भावस्था में लाभकारी
  • कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करती है
  • पीलिया रोग में मददगार
  • दमा के लिए
  • होंठो के लिए

यह भी पढ़े :

मौसंबी का उपयोगी भाग (Useful Part of Mosambi in Hindi) :

मौसंबी के फायदे प्रायः तो मौसंबी खुद ही बहुत उपयोगी है किन्तु आयुर्वेद के अनुसार मौसंबी के उपयोगी भाग मौसंबी के छिलके तथा मौसंबी के रस के अधिक लाभ हैं

मौसंबी का सेवन कैसे करें? (How to Consume Mosambi in Hindi) :

मौसंबी के फायदे सामान्य तौर पर माना गया है कि दिन में 1-2 मौसंबी खा सकते हैं। यदि कोई मौसंबी का रस पीता है, तो एक गिलास रस का सेवन कर सकता है। किन्तु उम्र और स्वास्थ्य के अनुसार, इसमें बदलाव हो सकते हैं।

मौसंबी कहां पायी या उगाई जाती है? (Where is Mosambi Found or Grown in Hindi) :

मौसंबी के फायदे भारत में कई स्थानों पर Mosambi (मौसंबी) की खेती की जाती है। 

मौसंबी के नुकसान (Disadvantages of Mosambi in Hindi) :

मौसंबी के फायदे :

  • यदि किसी को सिट्रस एसिड से एलर्जी होती है, तो मौसंबी का सेवन नुकसानदायक हो सकता है।।
  • मौसंबी के सेवन से गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लेक्स डिजीज यानी पेट के एसिड का फूड पाइप में वापस आने की समस्या बढ़ सकती है
  • कमज़ोर दांत वालों को मौसंबी खाने से या मौसंबी का रस पीने से परेशानी हो सकती है।
  • मौसंबी एक खट्टा और एसिडिक फल है, जिससे दांतों में सेंसिटिविटी हो सकती है
  • चेहरे या शरीर पर मौसंबी का रस लगाकर धूप में निकलने से सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणें त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती हैं