Categories: Students Forum
| On 4 months ago

Board Exam 2021: Tips to prepare better for board examination

बोर्ड परीक्षा 2021 : विद्यार्थी कैसे करे बेहतर तैयारी ?

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की माध्यमिक व उच्च माध्यमिक परीक्षाओं हेतु परीक्षा तिथियों की घोषणा हो चुकी है। माध्यमिक कक्षा की बोर्ड परीक्षा दिनांक 12 मार्च 2020 व उच्च माध्यमिक परीक्षा दिनांक  05 मार्च 2020 से आरम्भ होगी। इस दृष्टि से माध्यमिक परीक्षा हेतु दिवस व उच्च माध्यमिक परीक्षा हेतु दिवस शेष है।

बोर्ड परीक्षा की तैयारियों हेतु निम्नलिखित टिप्स परीक्षा में सहयोगी रहेंगे-

स्टडी रूम में लगाए शेष दिवस गणना।

परीक्षार्थियों को अपने स्टडी कक्ष में परीक्षा हेतु शेष दिवस की गणना करके उल्टी गिनती का चार्ट लगा कर रोजाना एक दिन काटते हुए चलना है। इससे उनका पूरा ध्यान परीक्षा पर फोकस करने में सहायता मिलेगी।

वेरी शोर्ट नोट्स


प्रत्येक विषय के लिए कुछ पेपर को पिनअप करके उनपर यूनिट वाइस अथवा चैप्टर वाइज़ पढ़ते समय सामने आने वाले विशेष बिंदु, परिभाषा, सूत्र, मुश्किल तथ्य इत्यादि को लिखते रहना है ताकि परीक्षा से पहले फटाफट रिविजिन सम्भव हो सके।

मॉडल प्रश्नपत्र हल करना

परीक्षा से पहले प्रत्येक विषय का एक मॉडल प्रश्नपत्र हल करने से पूरे सब्जेक्ट को कवर किया जा सकता है साथ ही राइटिंग हैबिट भी डवलप होती है। इस प्रकार परीक्षा हॉल में कॉन्फिडेंस डवलप होता है। इस क्रम में आप पिछले कुछ सालों के प्रश्नपत्र हल कर सकते है।

बोल कर पढ़ना।


परीक्षा तैयारी के लिए पढ़ते समय कुछ महत्वपूर्ण बिंदू याद करने पड़ते है ऐसे बिंदुओं को 5-7 वार बोलकर याद करे व इसके पश्चात उसको एक-दो बार लिखकर रिपीट कर लेवे। इस प्रकार याद करने में सुविधा रहती हैं।

पढाई की समय अवधि को डिवाइड करे

परीक्षा तैयारियां करते समय कुछ विद्यार्थी सिर्फ एक-दो विषय पर ही फोकस कर लेते है जिसके

कारण अन्य सब्जेक्ट में प्राप्तांक कम हो सकते है अतः सभी विषय हेतु समय इन्वेस्ट करे एवम एक विषय को पढ़ने के बाद दूसरा विषय आरम्भ करने के बीच थोड़ा सा समय अंतराल करें।

ग्रुप स्टडी में कठिन विषय सम्मिलित करना

अगर परीक्षा की तैयारी हेतु आप ग्रुप में स्टडी करते है तो उसमें कठिन विषयों व मुश्किल चैप्टर को शामिल करने का प्रयास करना चाहिए। ग्रुप स्टडी के समय इज़ी चैप्टर पर फोकस करने से समय वेस्ट होने के चांसेज रहते है।

अपने पेरेंट्स, टीचर्स व क्लोज़ फ्रेंड्स से बतियाना।


एग्जाम तैयारी के समय खुद को सिर्फ खुद तक सीमित नही रखे। 2-3 घण्टे के स्टडी शिड्यूल के बाद किसी से बात कर ले। थोड़ा लाइट म्यूज़िक सुन लेवे। कोशिश यह रहे कि एग्जाम के काफी पहले से अपने मोबाइल से डिस्टेंस मेन्टेन करे।  

खुद को फिट रखे।


एग्जाम ड्यूरेशन में स्टूडेंट्स को खुद को फिट रखना लाज़िमी है अतः आप हल्का फुल्का खाना लेवे, फ्रूट्स व ज्यूस पर फोकस करे। चाय-कॉफी ज्यादा नही लेवे। मसालेदार, तीखी, चटपटी, जंक फूड से डिस्टेंस रखे। लाइट एक्सरसाइज, योगा, प्राणायाम जारी रखे।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के टॉपर्स की उत्तरपुस्तिका देखे..

निम्नलिखित लिंक पर जाकर गत वर्ष के टॉपर्स कक्षा 10 वी के उत्तरपुस्तिकाओं का अवलोकन करें। इससे आपको नई जानकारी मिलेगी व कॉन्फिडेंस बढ़ेगा।

http://rajeduboard.rajasthan.gov.in/

बोर्ड परीक्षा तैयारी हेतु डॉ महेश शर्मा की उपयोगी सलाह।

सैकण्डरी बोर्ड परीक्षा एक्जाम हेल्प

नवज्योति/जोधपुर।

आजकल एग्जाम के दिनों में पढ़ाई का माहौल अत्यंत आवश्यक है। जिससे अध्ययन के समय विद्यार्थी को किसी भी तरह की परेशानी न हो।प्रत्येक विद्यार्थी के स्टडी रूम में पर्याप्त हवा और रोशनी की व्यवस्था के साथ स्टडी टेबल और उसके पास ही पलंग होना चाहिए । इन परिस्थितियों में परीक्षा के समय

तनाव मुक्त पढ़ाई हो सकती हैं। पढ़ते वक्त जब लिखित अभ्यास करना हो अथवा गणितिय सूत्रों की या प्रश्रपत्रों को हल करना हो तो टेबल का उपयोग जरूरी हैं। परिभाषाओं
को याद करते समय या कोई दोहराने का कार्य करते समय बेड पर आराम से बैठकर पढ़ा जाए तो पढ़ाई के साथ शरीर को भी थोड़ा आराम मिलता हैं। पढ़ते समय टेबल के पास ही अपनी स्टडी बुक और
स्टेशनरी के सभी सामान रखने चाहिए। परीक्षा से सम्बन्धित आवश्यक सामग्रीभी टेबल पर व्यवस्थित रखे तो समय की बचत होगी । जिससे बार-बार उठना नहीं पड़े। कमरे में साफ सफाई और शांत वातावरण
से भी पढ़ाई में अच्छा मन लगता हैं।
  • डॉ. महेश चन्द्र शर्मा, एम.एससी,
    पी.एच.डी. फिजिक्स, एम.एड., प्रधानाचार्य,रा.उ.मा.वि. सेखाला बावड़ी।
डॉ महेश शर्मा।

खुद को खुश रखे। अधिकतम प्रयास करे। कर्म पर ज्यादा व रिजल्ट पर कम फोकस रखे।

विद्यार्थियों के नाम सन्देश-

विद्यार्थियों के नाम संदेश

प्यारे बच्चों,

पूरे साल आपके शिक्षकों और आपके द्वारा किए गए अध्ययन अध्यापन के मूल्यांकन का समय आ गया है। मार्च में बोर्ड परीक्षा है, परीक्षा हम सभी के कठिन परिश्रम का मूल्यांकन होती है, आपके श्रेष्ठ परिणाम
आपके शिक्षकों , आपके अभिभावकों और आपके विद्यालय का मान बढ़ाते हैं।

आप अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हए अपनी उर्जा को बनाए रखें, गत वर्षों के प्रश्न पत्र हल करें। अपनी कठिनाइयों के निवारण हेतु अपने शिक्षकों से सहायता ले। प्रश्नोत्तर की कला का अभ्यास करें। बिना किसी भय और तनाव के प्रसन्न रहते हुए परीक्षा दे अपना आत्मविश्वास बनाए रखें आपका समय अत्यंत कीमती है ध्यान रहे कि बीता हुआ समय कभी वापस नहीं आता।

अपने समय को व्यर्थ की बातों और मोबाइल फोन पर बर्बाद ना करें। प्रश्नपत्र के अंक भार के हिसाब से पहले ही समय विभाजन योजना बनाकर

रखें। ताकि आपका कोई प्रश्न ना छूटे, आपकी लगन तथा निरंतर अध्ययन आपको अपनी परीक्षा में सफलता दिलाने में सहायक होगा।


आशा है आप पूरे मनोयोग और आत्मविश्वास के साथ अपनी परीक्षा तैयारी कर रहे हैं और पूर्ण विश्वास है कि परीक्षा में उच्चतम अंक प्राप्त कर आप अपने विद्यालय, अपने माता-पिता, अपने शिक्षक एवं हम सभी का मान बढ़ाएंगे।

आपके उज्ज्वल भविष्य की व सफलता की शुभकामनाओं के साथ ।

आपकी प्रधानाचार्या,
प्रभा सैन

ALL THE BEST.

विशेषज्ञों ने सुझाए टिप्स व ट्रिक्स

प्रश्नों को हल करने की प्राथमिकता:

बोर्ड परीक्षा देते समय पहले उन्हीं प्रश्नों के उत्तर लिखें जो आपको अच्छे से याद हैं। इससे आपका आत्मविश्वास तो बढ़ता ही है साथ ही आपके पास पर्याप्त समय भी बच जाता है। इसमें आप सहजता से उन प्रश्नों के उत्तर भी याद कर लिख सकते हैं जिनके लिए आपके दिमाग में दुविधा है।

जरुरत से ज्यादा शब्दों में न लिखें उत्तर

परीक्षा देते समय इस बात का ध्यान रखें कि प्रत्येक उत्तर में ऐसे पैराग्राफ कभी न लिखें जिनमें उस विषय की बात की गई है हो जिसके बारे में न तो प्रश्न में पूछा गया हो और न ही उसकी व्याख्या की मांग की गई है।

सूझ-बूझ से चुनें विकल्प वाले प्रश्न

विकल्प में दिए गए सभी प्रश्नों को ध्यान से एक बार की बजाय दो बार पढ़ें और उन प्रश्नों के उत्तरों को अपने दिमाग में एक तस्वीर उतारने की कोशिश करें। जिस प्रश्न के लिए आप एक स्पष्ट तस्वीर अपने दिमाग में पाते हैं उसी का चयन करें।

पेपर में दिए सभी प्रश्नों को अटेम्प जरूर करें

बोर्ड परीक्षा में गलत उत्तर के लिए कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है तो उन सभी प्रश्नों के उत्तर भी जरूर लिखें जिनके बारे में

आपको थोड़ा बहुत आइडिया हो। क्योंकि इसके लिए आप कुछ भी नहीं खोएंगे। ऐसे प्रश्न को सबसे पहले ध्यान से पढ़ें। प्रश्न की शैली और उसकी मांग को समझने की कोशिश करें। अगर आपको उसका उत्तर याद आ जाए तो ठीक, लेकिन अगर आपको उत्तर भी याद नहीं आता है तो उस स्थिति में अपने दिमाग का इस्तेमाल कर कुछ ना कुछ संबंधि जरूर लिखिए।

पैराग्राफ तथा हैडिंग बनाकर लिखें

उत्तर लिखते समय इस बात पर खास ध्यान दें कि आप हर दो शब्दों के बीच उचित स्पेस जरूर छोडें। सभी 15-20 शब्दों को एक ही लाइन में दबा-दबा कर लिखने की गलती न करें। बिंदुवार उत्तर दें।