Categories: Astrology
| On 2 months ago

सातवें भाव में बुध (Budha In 7th House) का फल | स्वास्थ्य, करियर और धन

सातवें भाव में बुध का फल (Budha In 7th House) जातक रूपवान्, विद्वान, सुशील, कामशास्त्र की ज्ञाता और नारी मान्य होगा। जातिका मघुरभाषी और सुशील होगी। शिल्प कला में चतुर और विनोदी होगा। विद्वान्, लेखक, सम्पादक होगी। सातवें स्थान में बुध बलवान होने से अथवा शुभग्रह से दृष्ट होने से सुन्दर, रूपवान, कला कुशल, बुद्धिमान, पुत्र, पति प्राप्त होंगे।

सातवें भाव में बुध का फल

सातवें भाव में बुध का शुभ फल (Positive Results of Budha in 7th House in Astrology)

  • सातवें भाव में बुध (Budha in 7th House)
    में होने से जातक सुन्दर, कुलीन, शिष्ट, उदार, घार्मिक, घर्मज्ञ, दीर्घायु होगा जातक बुद्धिमान्, सुन्दर वेष वाली, सकल महिमा को प्राप्त होगा
  • सप्तम भाव में बुध होने से जातक रूपवान्, विद्वान, सुशील, कामशास्त्र की ज्ञाता और नारी मान्य होगा जातिका मघुरभाषी और सुशील होगी। शिल्प कला में चतुर और विनोदी होगा विद्वान्, लेखक, सम्पादक होगी। व्यवसाय कुशल होगा खरीद-बिक्री के व्यवहार में लाभ होगा।
  • सप्तम भावगत बुध के प्रभाव में उत्पन्न जातिका उच्च कुलोत्पन्न पति की पत्नी होगा
  • जातक का पति चित्ताकर्षक अत्यन्त सुन्दर मृगाक्षी
    होगा, किन्तु उसका उपभोग लेने के लिए जातिका के शरीर में आवश्यक बल नहीं होगा। पति घनिक होगा अर्थात् घनी कुल में विवाह होगा। जातिका के पति के पिता की संतति बहुत होगी।
  • सप्तम बुध होने से पति विदुषक, सुन्दर, साघारण घराने का, थोड़ा झगड़ालू और घनवान होगा। सप्तम बुध हो तो पतिसुख मिलेगा।
  • सातवें भाव में बुध होने से जातक पत्नी के अनुकूल चलेगा सप्तम बुध हो तो माता को सुख होगा। जातक सुखी, घनी होगी। प्रवास में लाभ होगा।  
  • सातवें स्थान में बुध बलवान
    होने से अथवा शुभग्रह से दृष्ट होने से सुन्दर, रूपवान, कला कुशल, बुद्धिमान, पुत्र, पति प्राप्त होंगे।  
  • बुध स्त्री राशि में होने से पति का चेहरा गोल, केश लहरीले और रेशम जैसे कोमल, स्वर मृदु परन्तु तीखा होगा। मेष या कन्या राशि में बुध होने से विवाह के बाद भाग्योदय होगा। प्रवास बहुत होगा। वृष-कन्या या मकर में बुध होने से व्यापारी-क्लर्क, टाइपिस्ट आदि व्यवसाय होते हैं।

सातवें भाव में बुध का अशुभ फल (Negative Results of Budha in 7th House in Astrology)

  • सातवें भाव में बुध Budha in 7th House हो
    तो शरीर में कुछ न्यूनता होगा जातक की दृष्टि चंचल होगा लड़ाई में और वादविवाद में पराजय होगा
  • सप्तम भाव में बुध साझीदार पर विश्वास नहीं करेगा लेखन से कुछ समय बड़े संकट में आते हैं। जातक भक्षण के अयोग्य पदार्थों का भक्षण होगा जातिका के विवाह के समय झगड़े होंगे। अशुभ फल बुध के स्त्री राशियों में होने से अघिक होते हैं।