डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना (Dr. Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban Yojana in Hindi)

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना : किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसलिए सरकार की ओर से तरह-तरह की योजनाएं चलाई जाती हैं। ऐसी ही एक योजना महाराष्ट्र सरकार की ओर से भी शुरू की गई है। जिसका नाम डॉ बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना है। इस योजना के तहत सरकार किसानों की आर्थिक आय बढ़ाने का प्रयास करेगी। उन्हें कई तरह की सुविधाएं मुहैया कराकर यह प्रयास किया जाएगा।

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना (Dr. Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban Yojana in Hindi) :

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना महाराष्ट्र के कृषि विभाग द्वारा शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारने का प्रयास किया जाएगा। यह प्रयास उन्हें स्थायी सिंचाई सुविधा प्रदान करके और मिट्टी की नमी बनाए रखने के द्वारा प्रदान किया जाएगा। इसके लिए उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। राज्य के केवल अनुसूचित जाति और नव बौद्ध किसान ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

इस योजना के माध्यम से किसानों के जीवन स्तर में सुधार होगा और वे आत्मनिर्भर बनेंगे। बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना 27 अप्रैल 2016 को शुरू की गई है। यह योजना मुंबई, सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी, सतारा, सांगली और कोल्हापुर को छोड़कर राज्य के सभी जिलों में संचालित की जा रही है। इस योजना के तहत ₹2.5 लाख से ₹500 तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना आवेदन (Dr. Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban Yojana Application in Hindi) :

अगर आप बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना का

लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन करने के लिए आपको किसी सरकारी कार्यालय में जाने की जरूरत नहीं है। आप घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। इससे समय और धन दोनों की बचत होगी और व्यवस्था में पारदर्शिता आएगी

इसके बाद सभी जरूरी दस्तावेजों के साथ ऑनलाइन आवेदन की कॉपी कृषि अधिकारी के पास जमा करनी होगी। यदि आप बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप कृषि अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं। इस योजना के तहत चयन प्रक्रिया महा डीबीटी पोर्टल के माध्यम से की जाएगी।

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना 2022 की मुख्य विशेषताएं (Key Highlights Of Dr. Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban Yojana in Hindi) :

योजना डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना
किसने लॉन्च कियामहाराष्ट्र सरकार
लाभार्थीराज्य के किसान
उद्देश्यकिसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइटक्लिक करें
वर्ष2022
योजना प्रारंभ तिथि27 अप्रैल 2016
आवेदन का प्रकारऑनलाइन

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना से औरंगाबाद के 600 लाभार्थियों को लाभ (Dr. Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban Yojana benefits 600 beneficiaries of Aurangabad in Hindi) :

इस योजना के लाभार्थियों का चयन महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले से किया गया है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा जिले के लाभार्थियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए 15 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। यह योजना कृषि विभाग द्वारा संचालित की जाएगी। वर्ष 2016 से हर साल जिले के 400 से 600 किसान इस योजना के तहत लाभान्वित हो रहे हैं। इस योजना को 2020-21 में कोरोनावायरस संक्रमण के कारण रोक दिया गया था।

जिससे जिले के 600 हितग्राहियों को लाभ नहीं मिल सका। लेकिन अब यह योजना दोबारा शुरू की जाएगी। और वर्ष 2021-22

में लगभग 600 किसान इस योजना से लाभान्वित होंगे। इस योजना के तहत 1420 आवेदनों को खारिज कर दिया गया है और इस योजना के लाभार्थियों का चयन महा डीबीटी पोर्टल पर लॉटरी के माध्यम से किया जाएगा।

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना के तहत प्रदान किए जाने वाले लाभ (Benefits provided under Dr. Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban Yojana in Hindi) :

  • नए कुओं का निर्माण
  • पुराने कुओं की मरम्मत
  • ड्रिल बोरिंग
  • पंप सेट
  • बिजली कनेक्शन का आकार
  • प्लास्टिक लाइनिंग पर फार्म
  • सूक्ष्म सिंचाई सेट
  • छिड़काव सिंचाई सेट
  • पीवीसी पाइप
  • बगीचा

बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन के तहत वित्तीय सहायता (Financial assistance under Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban in Hindi) :

नए कुओं का निर्माण2.50 लाख रुपए
पुराने कुओं की मरम्मत50 हजार रुपए
ड्रिल बोरिंग20 हजार रुपये
पंप सेट20 हजार रुपये
बिजली कनेक्शन का आकार90 हजार रुपए
प्लास्टिक लाइनिंग पर फार्म1 लाख रुपए
सूक्ष्म सिंचाई सेट50 हजार रुपए
छिड़काव सिंचाई सेट25 हजार रुपए
पीवीसी पाइप30 हजार रुपए
बगीचा500 रुपये

बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि योजना का उद्देश्य (Purpose of Babasaheb Ambedkar Agriculture Scheme in Hindi) :

बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि करना है। इस योजना के माध्यम से किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। जिससे वे कृषि से जुड़े कार्य आसानी से कर सकें। डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना से किसान आत्मनिर्भर बनेंगे। यह योजना केवल अनुसूचित जाति और नव-बौद्ध किसानों के लिए है।

इस योजना के माध्यम से राज्य के किसान सिंचाई से संबंधित कोई भी सुविधा प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के तहत ₹2.5 लाख से ₹500 तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है। अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना के लाभ और विशेषताएं (Benefits and Features of Dr. Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban Yojana in Hindi) :

  • डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना महाराष्ट्र सरकार द्वारा शुरू की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों की आय बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा।
  • यह योजना महाराष्ट्र के कृषि विभाग द्वारा संचालित की जाएगी।
  • स्थायी सिंचाई सुविधाएं प्रदान करके और मिट्टी की नमी बनाए रखने से आय में वृद्धि प्रदान की जाएगी। जिसके लिए किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • राज्य के केवल अनुसूचित जाति और नव बौद्ध किसान ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों के जीवन स्तर में सुधार होगा और वे आत्मनिर्भर बनेंगे।
  • बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना 27 अप्रैल 2016 को शुरू की गई है।
  • अगर आप भी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदन करने के बाद आपको आवेदन की प्रति सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ कृषि अधिकारी के पास जमा करनी होगी।
  • यदि आप इस योजना से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको कृषि अधिकारी से संपर्क करना होगा।
  • इस योजना के तहत चयन प्रक्रिया महा डीबीटी पोर्टल के माध्यम से लॉटरी द्वारा की जाएगी।
  • इस योजना के तहत राज्य के सभी जिले शामिल हैं। लेकिन मुंबई, सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी, सतारा, सांगली और कोल्हापुर शामिल नहीं हैं।
  • इस योजना को 2020-21 में कोरोना संक्रमण के कारण रोक दिया गया था। लेकिन अब यह योजना फिर से शुरू की जा रही है।

योजना पात्रता (Scheme Eligibility in Hindi) :

  • आवेदक महाराष्ट्र का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक अनुसूचित जाति से होना चाहिए।
  • आवेदन के समय आवेदक को अपना जाति प्रमाण पत्र जमा करना होगा।
  • लाभार्थी की वार्षिक आय 2.5 लाख रुपये या उससे कम होनी चाहिए।
  • कृषि भूमि की 7/12 और 8-ए प्रति जमा करना अनिवार्य है।
  • आवेदन के समय आय का प्रमाण प्रस्तुत करना भी अनिवार्य है।
  • किसान के पास न्यूनतम 0.20 हेक्टेयर और अधिकतम 6.00 हेक्टेयर कृषि भूमि होना अनिवार्य है। (नए कुएं के निर्माण के लिए न्यूनतम 0.40 कृषि भूमि)

महत्वपूर्ण दस्तावेज (Important Documents in Hindi) :

श्रेणी महत्वपूर्ण दस्तावेज
नए कुओं के लिएसंबंधित विभाग से जाति प्रमाण पत्र, तहसीलदार से पिछले वर्ष का आय प्रमाण पत्र, कृषि भूमि के लिए 7/12 प्रमाण पत्र और तलठी से लाभार्थी के शपथ पत्र प्रमाण पत्र की 8 ए प्रतिलेख - सामान्य जोत क्षेत्र, कुएं का न होना, प्रस्तावित कुआं सर्वेक्षण क्रमांक मानचित्र एवं सीमाएं भूजल सर्वेक्षण विकास प्रणाली ग्राम सभा आरक्षण द्वारा उपलब्ध कराए गए पानी की उपलब्धता का प्रमाण पत्र क्षेत्र निरीक्षण एवं कृषि अधिकारी का अनुशंसा पत्र समूह विकास अधिकारी का अनुशंसा पत्र पूर्व प्रारंभ भूजल सर्वेक्षण विकास प्रणाली का फोटो वेल बोरिंग के लिए व्यवहार्यता रिपोर्ट
पुराने कुओं/इनवेल बोरिंग की मरम्मत के लिएसंबंधित विभाग से जाति प्रमाण पत्र, तहसीलदार से पिछले वर्ष का आय प्रमाण पत्र, कृषि भूमि के लिए 7/12 प्रमाण पत्र और तलाठी से ग्राम सभा संकल्प प्रमाण पत्र की 8 ए प्रतिलेख - कुल प्रतिधारण क्षेत्र, कल्याण, अच्छी तरह से सर्वेक्षण संख्या मानचित्र और सीमा लाभकारी बांड क्षेत्र निरीक्षण और सिफारिश पत्र समूह कृषि अधिकारी का विकास अधिकारी का सिफारिश पत्र पूर्व-शुरू फोटो भूजल सर्वेक्षण विकास प्रणाली द्वारा उपलब्ध कराई गई व्यवहार्यता रिपोर्ट कुओं में बोरिंग के लिए विकलांगता प्रमाण पत्र
लाइनिंग / पावर कनेक्शन साइज / पंप सेट / फार्म के लिए माइक्रो इरिगेशन सेटसंबंधित विभाग से जाति प्रमाण पत्र, तहसीलदार से पिछले वर्ष का आय प्रमाण पत्र, कृषि भूमि के लिए 7/12 प्रमाण पत्र और तलठी से कुल प्रतिधारण क्षेत्र का 8ए प्रतिलेख प्रमाण पत्र ग्राम सभा की सिफारिश या लाइनिंग के पूरा होने की स्वीकृति की गारंटी काम शुरू होने से पहले फोटो , किसी भी विद्युत कनेक्शन या पंप सेट की गारंटी नहीं है

डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया (Procedure to Apply under Dr. Babasaheb Ambedkar Krishi Swavalamban Yojana in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको न्यू यूजर लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको पूछी गई जानकारी जैसे अपना नाम, अपने जिले का नाम, तालुका, गांव, पिन कोड आदि दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है और सेंड ओटीपी के बटन पर क्लिक करना है।
  • अब आपको ओटीपी बॉक्स में ओटीपी डालना है।
  • इसके बाद आपको अपना यूजरनेम, पासवर्ड और कैप्चा कोड डालना होगा।
  • अब आपको Register बटन पर क्लिक करना है।
  • इस तरह आप डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर कृषि स्वावलंबन योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे।