ई मित्र राजस्थान (E Mitra Rajasthan in Hindi)

ई मित्र राजस्थान : राज्य सरकार द्वारा घर बैठे नागरिकों को विभिन्न सेवाएं प्रदान करने के लिए ई मित्र राजस्थान पोर्टल शुरू किया गया है। इस ऑनलाइन पोर्टल पर बिजली, पानी, मोबाइल बिल जमा करने से लेकर जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र, मूल निवास, परीक्षा शुल्क, विवाह प्रमाण पत्र, राजस्व न्यायालय प्रबंधन, परीक्षा शुल्क जमा करने, रोजगार आवेदन, राज्य के नागरिकों के लिए कई सेवाएं। को उपलब्ध कराया जाएगा ताकि वह इन सभी सुविधाओं का आसानी से लाभ उठा सके।

ई मित्र राजस्थान सरकार ने ई मित्र पोर्टल राजस्थान विकसित किया है, जो सरकार के विभिन्न कार्यों का लाभ उठाने के लिए 33 जिलों में ऑनलाइन और ऑफलाइन काम करता है। राज्य के नागरिक अपना ई-मित्र भी खोल सकते हैं। एमित्रा राजस्थान द्वारा संचालित सभी सरकारी विभागों का एकीकृत सेवा केंद्र है। इंटरनेट के माध्यम से एक छत के नीचे से केवल ई-मित्र ऑनलाइन के माध्यम से बहुत सारे काम किए जा सकते हैं।

राज्य के जो लोग इस ऑनलाइन पोर्टल की सभी सुविधाओं का लाभ लेना चाहते हैं, वे पोर्टल पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं और जिनके पास शिक्षित होने के बाद भी रोजगार नहीं है, वे अपना ई-मित्र केंद्र खोल सकते हैं।

ई मित्र पर उपलब्ध सुविधाएं (Facilities Available on E Mitra in Hindi) :

  • जन सुनवाई एवं प्रशिक्षण सुविधा : वीसी के साथ 30000 से अधिक ई-मित्र जुड़े हुए हैं। इनके माध्यम से जनसुनवाई एवं प्रशिक्षण की सुविधा भी प्रदान की जा रही है।
  • बैंकिंग सेवाओं की सुविधा : 15000 ई-मित्र कियोस्क भी राज्य में बैंकिंग सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। यहां लोग अपने भामाशाह खाते में प्राप्त राशि को आसानी से निकाल रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में 2500 ई-मित्र पे-प्वाइंट बनाए गए हैं, जिनके माध्यम से घर-घर जाकर नकद निकासी की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। राज्य भर में लगभग 55000 ई-मित्र केंद्रों पर 450 से अधिक सेवाएं उपलब्ध हैं।
  • भामाशाह कार्ड
  • आधार कार्ड
  • पण कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • पते का सबूत
  • बिजली बिल भुगतान
  • गैस बिल भुगतान
  • पानी बिल भुगतान
  • बैंकिंग सेवा
  • मोबाइल रिचार्ज
  • उपयोगिता बिल भुगतान सेवा
  • उर्वरक बेचने के लाइसेंस के लिए आवेदन
  • सेल की अनुमति के लिए आवेदन
  • जल भंडारण टैंक सब्सिडी आवदेन

ई मित्र राजस्थान का उद्देश्य (Purpose of E Mitra Rajasthan in Hindi) :

राजस्थान के सभी सरकारी विभागों से संबंधित सेवाओं और योजनाओं को किसी एक कियोस्क के माध्यम से आम जनता

को उपलब्ध कराना है। इस ऑनलाइन पोर्टल पर सभी विभागों को एक छत के नीचे जनता को एक कुशल, पारदर्शी, सुविधाजनक और मैत्रीपूर्ण तरीके से एकीकृत नागरिक सेवाएं प्रदान करनी हैं। नागरिक ई-मित्र या इंटरनेट के माध्यम से विभिन्न सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। पहले विभिन्न सरकारी कार्यों के लिए अलग-अलग कार्यालयों में जाना पड़ता था, जिससे समय की बर्बादी होती थी और परेशानी होती थी। अब घर के पास गांव-गांव सरकारी सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

ई मित्र की विशेषताएं (Features of E Mitra in Hindi) :

  • ई मित्र पोर्टल हमेशा काम करता है, अर्थात नागरिक जब भी किसी सेवा का लाभ लेना चाहते हैं, तो वे वर्ष में 365 दिन ईमित्र पोर्टल के माध्यम से सेवा का लाभ उठा सकते हैं।
  • ई मित्र की सेवा लेने के लिए नागरिकों को अपना ई मित्र पंजीकरण करना होता है और ईमित्र पंजीकरण हो जाने के बाद उनके पंजीकृत ईमेल पर ईमित्र लॉगिन आईडी और पासवर्ड भेजा जाता है।
  • केवल राजस्थान के निवासी ही इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।
  • ईमित्र सेवा केंद्र के लिए एक निश्चित स्थान जहां से राज्य के नागरिकों को ईमित्र सेवा दी जा सके। (यानी एक छोटी सी दुकान)
  • ई-मित्र की सेवा केवल राजस्थान के 33 जिलों के लिए शुरू की गई है, यदि आप राजस्थान से हैं तो ही आप ई मित्र पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं।

राजस्थान के लोगों को ई-मित्र के माध्यम से सरकारी सेवाएं आसानी से उपलब्ध कराने के लिए, राजस्थान सरकार ने बिजली, पानी, मोबाइल बिल जमा करने से लेकर जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र, अधिवास प्रमाण पत्र जैसी सेवाओं के लिए ई-मित्र की सुविधा शुरू की है। परीक्षा शुल्क, विवाह प्रमाण पत्र, राजस्व न्यायालय प्रबंधन, परीक्षा शुल्क जमा, रोजगार आवेदन ई-मित्र केंद्रों पर उपलब्ध हैं।

राज्य के लोग इन सभी सुविधाओं का लाभ ऑनलाइन पोर्टल या अपने नजदीकी ई-मित्र केंद्र से प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए राज्य भर में 50,000 से अधिक ई-मित्र केंद्र खोले गए हैं। राज्य के शिक्षित बेरोजगार लोग, अन्य लोग यह ऑनलाइन सुविधा प्रदान करने के लिए अपना ई-मित्र केंद्र खोल सकते हैं।

ई मित्र से कैसे कमाई करें (How to Earn From E Mitra in Hindi) :

ई-मित्र पर दी जाने वाली सेवा के लिए सरकार ने एक शुल्क निर्धारित किया है, वह शुल्क ई-मित्र का संचालन करने वाले आम

लोगों से लिया जाता है, इस शुल्क से ई-मित्र संचालन की आय अर्जित की जाती है, सरकार ने इसकी दर निर्धारित की है सभी कार्य। उसी के अनुसार आपको पैसे लेने हैं, आप भी E-Mitra खोलकर अच्छी इनकम कर सकते हैं. वर्तमान में ई-मित्र कियोस्क 25000 से ₹ 40000 प्रति माह कमा सकता है और साथ ही फोटो कॉपी और लेमिनेशन जैसी सुविधाएं देकर और कई अन्य सुविधाएं जो अतिरिक्त कमा सकती हैं।

ई-मित्र खोलने के लिए महत्वपूर्ण बातें (Important Things to Open E-Mitra in Hindi) :

  • संगणक
  • मुद्रक
  • कंप्यूटर डेस्क टेबल
  • बॉयोमीट्रिक फिंगरप्रिंट स्कैनर
  • एक इंटरनेट कनेक्शन
  • फाइल आदि बनाने के लिए बाइंडिंग मशीन भी लगानी होगी।
  • फाड़ना मशीन

ई मित्र राजस्थान लेने के लिए पात्रता (Eligibility for Taking Rajasthan E Mitra in Hindi) :

  • लाभार्थी राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना में केवल राजस्थान के निवासी ही पात्र होंगे।
  • ई मित्र लॉगिन आईडी प्राप्त करने के लिए व्यक्ति की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।
  • इंटरनेट का ज्ञान कंप्यूटर और कंप्यूटर से संबंधित उपकरण होना चाहिए।
  • ई मित्र सेवा केंद्र के लिए एक निश्चित स्थान होना चाहिए जहां से नागरिकों को ईमित्र सेवा दी जा सके।
  • 10वीं पास होना चाहिए।
  • आपको हिंदी और अंग्रेजी में टाइपिंग का भी ज्ञान होना चाहिए।

ई मित्र दस्तावेज़ (E Mitra Documents in Hindi) :

  • 10वीं की मार्कशीट
  • आधार कार्ड
  • पण कार्ड
  • भामाशाह कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • पुलिस सत्यापन (चरित्र प्रमाण पत्र)
  • 100 रुपये के 2 स्टांप पेपर
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

ई मित्र पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण और लॉगिन कैसे करें? (How to do Online Registration and Login on E Mitra Portal in Hindi) :

  • सबसे पहले आवेदक को ई-मित्र की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा। इस होम पेज पर आपको लॉगइन का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है। विकल्प पर क्लिक करने के बाद आप एसएसओ राजस्थान की आधिकारिक वेबसाइट पर पहुंच जाएंगे। इसके बाद होम पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।
  • आप इस पेज पर उपलब्ध पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, भामाशाह कार्ड, फेस बुक आईडी, जीमेल आईडी आदि के साथ पंजीकरण कर सकते हैं।
  • एसएसओ आईडी बनाते समय आपको यूजरनेम और पासवर्ड अपने आप जेनरेट करना होगा। जिसकी मदद से आप पोर्टल के तहत लॉग इन करेंगे।
  • जैसे ही आप इनमें से
    किसी भी विकल्प को चुनते हैं, आपके सामने एक आवेदन फॉर्म खुल जाएगा। जिसके लिए आपको पूछी गई सभी जानकारी भरनी है।
  • इस तरह आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।
  • लॉग इन करने के लिए आपको होम पेज पर वापस जाना होगा।
  • होम पेज पर आपको लॉगिन फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म में आपको यूजरनेम और पासवर्ड डालकर लॉगइन करना होगा।

ई मित्र ऑनलाइन पोर्टल पर स्थिति की जांच कैसे करें? (How to Check Status on E-Mitra Online Portal in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको ई-मित्र की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको ऑनलाइन वेरिफिकेशन सेक्शन ट्रैक ट्रांजेक्शन का विकल्प दिखाई देगा। आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा। इस पेज पर आपको ट्रांजेक्शन आईडी, रसीद नंबर में एक नंबर भरना होगा।
  • इसके बाद आपको सर्च बटन पर क्लिक करना है। इसके बाद आपके सामने स्टेटस स्टेटस आ जाएगा।

ई मित्र ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया (E mitra App Download Process in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको एमित्रा राजस्थान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको राइट साइड में Download App का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • यदि आपके पास Android उपयोगकर्ता है तो आप Android e More ऐप डाउनलोड करते हैं तो Krim पर क्लिक करें यदि आप iPhone उपयोगकर्ता iPhone Imitr डाउनलोड करते हैं तो उन्हें Option पर क्लिक करें और यदि आपके पास Windows उपयोगकर्ता, Windows AD मित्र ऐप डाउनलोड पर क्लिक करके क्लिक करें।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा। आप इस नए पेज पर इंस्टाल ऑप्शन पर क्लिक करके अपने मोबाइल फोन में ई मित्र ऐप इंस्टॉल कर सकते हैं।

लेनदेन पर नज़र रखने की प्रक्रिया (Transaction Tracking Process in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको एमित्रा राजस्थान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको ट्रक ट्रांजैक्शन के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया फॉर्म खुल जाएगा जिसमें आप अपनी ट्रांजेक्शन आईडी या रसीद नंबर डालकर अपने ट्रांजेक्शन स्टेटस को ट्रैक कर सकते हैं।

ई मित्र ट्रांजैक्शन हिस्ट्री जानने की प्रक्रिया (Process to know E Mitra Transaction History in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको एमित्रा राजस्थान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • इसके बाद आपको Transaction History के लिंक पर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको विभाग, उपभोक्ता कुंजी, तिथि आदि पूछी गई जानकारी भरकर सर्च बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने पूरी ट्रांजैक्शन हिस्ट्री खुल जाएगी।

GSP सुविधा प्रदाता खोजने की प्रक्रिया (Process to find GSP Facility Provider in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको एमित्रा राजस्थान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको जीएसपी सुविधा प्रदाता के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको जिले का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप डिस्क का चयन करते हैं, आपके सामने GPS सुविधा प्रदाता का पूरा विवरण खुल जाएगा।

कियोस्क पता लगाने की प्रक्रिया (Kiosk Locating Process in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको एमित्रा राजस्थान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको कियोस्क लिंक पर क्लिक करना है और कियोस्क लोकेटर का चयन करना है।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा। इसमें पूछी गई सभी जानकारी जैसे जिले का नाम, वार्ड का नाम, पिन कोड आदि भरें और सर्च बटन पर क्लिक करें।
  • जैसे ही आप सर्च बटन पर क्लिक करेंगे आपके सामने सभी कियोस्क की डिटेल खुल जाएगी।
  • सबसे पहले आपको ई-मित्र की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको कॉन्टैक्ट का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा। इस पेज पर आपको सभी संपर्क विवरण मिलेंगे।
  • हेल्पलाइन नंबर- 01412221424, 01412221425
  • टोल फ्री नंबर- 181