Categories: News
| On 2 years ago

Education Department : Education Minister gave important informations in Legislative Assembly.

शिक्षा विभाग : शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने विद्यानसभा में पर्दा की महत्वपूर्ण जानकारियां।

राज्य के 167 ब्लॉकों में खुलेंगे महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय आरटीई में आय सीमा एक लाख से बढ़ा कर 2.5 लाख रूपये खेलकूद गतिविधियाें में प्रोत्साहन राशि बढ़ाई शगुनोत्सव के अन्तर्गत राजकीय विद्यालयों का हेागा मूल्यांकन शिक्षकों को शिक्षक पहचान पत्र एवं शिक्षक डायरी मिलेगी कृषि विषय के स्थान पर विद्यालयों में होंगे कृषि संकाय -शिक्षा राज्य मंत्री श्री डोटासरा

राज्य के 167 ब्लॉकों में खुलेंगे महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय
आरटीई में आय सीमा एक लाख से बढ़ा कर 2.5 लाख रूपये
खेलकूद गतिविधियाें में प्रोत्साहन राशि बढ़ाई
शगुनोत्सव के अन्तर्गत राजकीय विद्यालयों का हेागा मूल्यांकन
शिक्षकों को शिक्षक पहचान पत्र एवं शिक्षक डायरी मिलेगी
कृषि विषय के स्थान पर विद्यालयों में होंगे कृषि संकाय
-शिक्षा राज्य मंत्री श्री डोटासरा
जयपुर, 19 जुलाई। शिक्षा राज्य मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने घोषणा की है कि राज्य के 167 ब्लॉकों में चरणबद्ध रूप से महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय (अंगे्रजी माध्यम) की स्थापना की जायेगी। उन्हाेंने कहा कि जहां पर स्वामी विवेकानन्द राजकीय मॉडल स्कूल नहीं है, उनमेंं चरणबद्ध रूप से कक्षा 1-12 तक के महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय (अंगे्रजी माध्यम) की स्थापना की जायेगी। उन्होंने आरटीई में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों की आय सीमा को एक लाख रूपये राशि से बढ़ा कर 2.5 लाख रूपये करने की भी घोषणा की। विद्यालयों में खेलकूद गतिविधियाें को प्रोत्साहन देने की घोषणा करते हुए उन्हाेंने विद्यार्थियों को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि में वृद्धि की भी घोषणा की। उन्हाेंने कहा कि जिला एवं राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में भागीदारी करने वाले विद्यार्थियों को वर्तमान में देय दैनिक भत्ता राशि 100 को बढ़ाकर 150 करने, राष्ट्रीय प्रतियोगिता के दौरान दैनिक भत्ते को
200 से बढ़ाकर 250 करने, खिलाड़ियों हेतु प्रति खिलाड़ी गणवेश राशि जिला एवं राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं हेतु बढ़ाकर 750 से बढ़ाकर एक हजार करने, तथा राष्ट्रीय स्तर प्रतियोगिता के दौरान इस राशि को 1 हजार से बढ़ाकर 1500 करने की घोषणा की।
श्री डोटासरा शुक्रवार को विधानसभा में मांग संख्या 24 शिक्षा, कला एवं संस्कृति की अनुदान मांगों पर हुई बहस का जवाब दे रहे थे। चर्चा के बाद सदन ने शिक्षा, कला एवं संस्कृति की 328 अरब, 25 करोड़ 39 लाख 77 हजार रूपये की अनुदान मांगें ध्वनिमत से पारित कर दीं।
उन्होंने शगुनोत्सव के अन्तर्गत राजकीय विद्यालयों का मूल्यांकन किए जाने, प्रदेश के 23 कस्तुरबा गांधी बालिका विद्यालयों की क्रमोन्नति कर उच्च माध्यमिक करने, राज्य के राजकीय विद्यालयों के समस्त शिक्षकों को शिक्षक पहचान पत्र एवं शिक्षक डायरी दिए जाने की भी घोषणा की। उन्हाेंने स्टूडेन्ट पुलिस केडेट योजना का दायरा बढ़ाये जाने की घोषणा करते हुए इसे राज्य के 930 राजकीय विद्यालयों एव 70 केन्द्रीय विद्यालयों में संचालित किए जाने की भी घोषणा की। उन्हाेंने कक्षा 6 से 8 तक अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए एक्सपोजर ऑफ वोकेशनल एजुकेशन कार्यक्रम आयोजित किए जाने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि उच्च प्राथमिक स्तर पर राज्य के 905 राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए एक दिवसीय एक्सपोजर टू वोकेशनल एजूकेशन ब्लॉक स्तरीय शिविर का आयोजन किया जायेगा।
श्री डोटासरा ने वर्तमान में संचालित कृषि विषय के स्थान पर विद्यालयों में पृथक कृषि संकायों की स्थापना करने की भी घोषणा की। उन्हाेंने प्रदेश के 398 राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयाें में संचालित कृषि विषय को संकाय के रूप में परिवर्तित किए जाने की भी घोषण की तथा कहा कि कृषि संकाय में कृषि विज्ञान के साथ कृषि रसायन, कृषि जीव विज्ञान विषय के रूप
में संचालित किये जायेंगे। उन्होंने राजकीय विद्यालय भवनों के सुदृढ़ीकरण, निर्माण एवं मरम्मत के अंतर्गत वर्ष 2019-20 में नाबार्ड योजना में राज्य के 970 राजकीय विद्यालयों में 3400 कक्षों एवं शौचालयों के निर्माण हेतु राशि रूपये 400.09 करोड़ की परियोजना नाबार्ड को स्वीकृति करवाई जाकर निर्माण कार्य करवाये जायेगें।
शिक्षा राज्य मंत्री ने समग्र शिक्षा अभियान के अन्तगर्त इस वित्तीय वर्ष में राशि रूपये 1181 करोड़ की लागत से विद्यालय सुदृढ़ीकरण हेतु 10651 अतिरिक्त कक्षा-कक्ष, प्रयोगशाला कक्ष, पुस्तकालय कक्ष, कम्प्यूटर कक्ष, आर्ट एण्ड क्राफ्ट कक्ष एवं अन्य संरचनाओं का निर्माण करने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त 23 नवीन राजकीय प्राथमिक विद्यालय भवनों का निर्माण तथा 83 विद्यालयों के जीर्ण-शीर्ण भवनों की वृहद् मरम्मत कराई जायेगी। उन्होंने कहा कि प्री डी.ईएल.ईडी पूर्व प्रवेश परीक्षा-2019 से प्राप्त अवशेष बचत की राशि का आवश्कतानुसार जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानो के सुुदृढीकरण के लिए उपयोग किया जायेगा।
श्री डोटासरा ने कहा कि उत्कृष्ट कार्य हेतु शिक्षक दिवस पर सम्मानित किये जाने वाले शिक्षकों के अंतंर्गत ब्लॉक स्तर पर-903, जिला स्तर-99 एवं राज्य स्तर-99 प्लस दो मिलाकर कुल 1101 शिक्षकों को सम्मानित किया जायेगा। उन्हाेंंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार के समय राज्य स्तर पर मात्र 63 शिक्षकों को ही सम्मानित किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में श्रेष्ठ परीक्षा परिणाम एवं निर्धारित मानकों को पूर्ण करने वाले विद्यालयाें को विशेष रूप से सम्मानित किए जाने की भी घोषणा की। इसके अंतर्गत राज्य स्तर पर 3 विद्यालयों को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार दिया जाएगा। प्रथम पुरस्कार के अंतर्गत उच्च माध्यमिक को एक लाख, द्वितीय को 75 हजार तथा तृतीय को 50 हजार की राशि से पुरस्कृत किया जाएगा। इसी तरह माध्यमिक को प्रथम पुरस्कार के तहत 50 हजार, द्वितीय के तहत 40 और तृतीय के
तहत 25 हजार रूपये राशि से सम्मानित किया जाएगा। जिला स्तर पर दो पुरस्कारों के अंतर्गत उच्च माध्यमिक एवं माध्यमिक को 25-25 हजार (कुल 66) तथा प्रत्येक ब्लॉक स्तर पर कुल 301 पुरस्कारों के तहत उच्च माध्यमिक एवं माध्यमिक को 10-10 हजार राशि रूपये से सम्मानित किया जाएगा। विद्यार्थी हित में विद्यार्थियों की सुविधा हेतु जोधपुर व सीकर में राशि रु. 50-50 लाख की लागत से विद्यार्थी सेवा केन्द्र के भवन का निर्माण किया जावेगा।
श्री डोटासरा ने विधानसभा में आंगनबाड़ी समन्वित राजकीय विद्यालयों एवं मॉडल स्कूलों में पूर्व प्राथमिक कक्षाओं का संचालन किए जाने की भी घोषणा की। उन्हाेंने कहा कि राज्य के 134 मॉडल स्कूलों एवं 37444 समन्वित आंगनबाडी केन्द्रों, विद्यालयों में आंगनबाडी केन्द्रों का विकास करते हुए पूर्व प्राथमिक कक्षाऎं प्रारम्भ की जायेगी। उन्हाेंने कहा कि बालिकाओं के लिए विद्यालयों में इन्सीनेरेटर स्थापित किये जायेंगे। उन्हाेंने कहा कि जन सहयोग से 100 से अधिक बालिकाओं के नामांकन वाले 1000 विद्यालयों में इन्सीनेरेटर, डिस्पेंसर मशीन की स्थापना की जायेगी।
शिक्षा राज्य मंत्री ने प्रदेश में शिक्षा विभाग कें अंतर्गत पर्यटकों से शिक्षा संवाद हेतु तन्त्र विकसित किए जाने की भी घोषणा की। उन्हाेंने राज्य के 10176 राजकीय आदर्श विद्यालयों में वार्षिकोत्सव एवं पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित करने एवं इस मौके पर विद्यालयों के पूर्व विद्यार्थी एवं भामाशाहों को आमंत्रित कर सम्मानित किए जाने की भी घोषणा की। उन्हाेंने शिक्षा विभागीय हितकारी निधि से प्राप्त अंशदान से इस वर्ष से विभागीय कार्मिकों के पुत्र-पुत्रियों हेतु दो नई प्रोत्साहन योजनाएं प्रारम्भ करने की भी घोषणा की। उन्हाेंने कहा कि प्रथम योजनान्तर्गत राज्य के शिक्षा विभागीय कार्मिकों के राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत रहकर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर में कक्षा-10 की बोर्ड परीक्षा में 70 प्रतिशत या अधिक अंक प्राप्त करने वाले पुत्र-पुत्रियों के प्रोत्साहन के लिए है, जिसमें
प्रतिवर्ष स्कूल शिक्षा/संस्कृत शिक्षा के कुल 1000 विद्यार्थियों को एक मुश्त 11000/- की छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। इसी प्रकार शिक्षा विभागीय कार्मिक की पुत्री के विवाह पर नकद उपहार राशि प्रदान करने से सम्बन्धित योजनान्तर्गत प्रतिवर्ष 500 कार्मिकों को उनकी पुत्री के विवाह के अवसर पर उपहार स्वरूप 11000 रूपये प्रदान किए जाने की भी घोषणा की। उन्हाेंने कहा कि विद्यार्थियों के सर्वागीण विकास में सामुहिकता की भावना विकसित करने हेतु प्रत्येक माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालय में युवा क्लब शुरू किए जायेगें। कक्षा 9 से 12 तक के सभी छात्र क्लब में शामिल होने के लिए पात्र होंगे। वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए 14027 माध्यमिक/ उच्च माध्यमिक विद्यालयों में प्रति वर्ष युवा क्लब के तहत की जाने वाली गतिविधियों के लिए 25,000 प्रति विद्यालय कुल बजट 35.06 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है। उन्हाेंने वर्ष 2019-20 के लिए 532.528 लाख का व्यय कर विद्यालयों में बाल मैग्जीन की सुविधा उपलब्ध करवाने की भी घोषणा की।
श्री डोटासरा ने एकल/द्विपुत्री योग्यता पुरस्कार कें अंतर्गत उच्च माध्यमिक के सभी संकायों एवं माध्यमिक स्तर पर दी जाने वाली पुरस्कार राशि बढ़ाये जाने की भी घोषणा की। उन्हाेंने कहा कि इसके तहत राज्य स्तर पर उच्च माध्यमिक में पूर्व में दी जाने वाली राशि को 31 हजार से बढ़ाकार 51 हजार, राज्य स्तर माध्यमिक में दी जाने वाली राशि को 21 से बढ़ाकर 31 हजार तथा जिला स्तर पर माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक को पूर्व में दी जाने वाली पुरस्कार राशि 5 हजार को बढ़ाकर 11 हजार किए जाने की भी घोषणा की।