Categories: Articles
| On 3 years ago

Education in Finland: Why the  Finland is  number one in the education?

Education in Finland: Why the Finland is number one in the education?

फिनलैंड: विश्व की सर्वश्रेष्ठ शैक्षिक व्यवस्था।

मात्र 55 लाख की आबादी वाले इस उत्तरी यूरोपीय राष्ट्र ने आज शिक्षा के क्षेत्र में विशिष्ट प्रयास करके सम्पूर्ण विश्व का ध्यान आकृष्ट किया है। आज फिनलैंड की शिक्षा व्यवस्था को विश्व में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। विभिन्न इंटरनेशनल एसेसमेंट में साक्षरता व गणित में फिनलैंड का दबदबा बढ़ रहा है।

आइये, जानते है फिनलैंड की शिक्षा व्यवस्था के बारे में।

फ़िनलैंड: मातृभाषा पर जोर।

फिनलैंड की शिक्षा व्यवस्था उसकी स्वयम की भाषा फिनिश व स्वीडिश में की गई है। उच्च शिक्षा के कई कोर्स वहाँ अंग्रेजी भाषा मे उपलब्ध है लेकिन आरम्भिक अध्ययन वहाँ मातृभाषा मे ही उपलब्ध है।

फ़िनलैंड: शैक्षिक ढांचा

फिनलैंड में प्रत्येक विद्यार्थी को अनिवार्यतः 11 वर्ष की आरंभिक शिक्षा प्राप्त करनी पड़ती है। एक बच्चे हेतु उसका प्रथम वर्ष Early childhood education and care ऐच्छिक है। इसके पश्चात एक वर्ष हेतु उसे अनिवार्य रूप से प्री प्राइमरी एजुकेशन प्राप्त करनी होती है। प्री प्राइमरी शिक्षा के पश्चात प्रत्येक विद्यार्थी को 9 वर्ष तक बेसिक एजुकेशन प्राप्त करनी होती है। इस बेसिक शिक्षा को हम सेकंडरी शिक्षा के बराबर समझ सकते है।
बेसिक शिक्षा पूर्णता के पश्चात विद्यार्थी को अपर सेकेंडरी शिक्षा/व्यवसायिक शिक्षा 3 से 4 वर्ष हेतु ग्रहण करनी पड़ती है। अपर सेकंडरी तक कि शिक्षा स्कूली स्तर पर होती है।
अपर सैकंडरी शिक्षा के पश्चात एक

विद्यार्थी वहाँ विश्विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करता है।विश्विद्यालय शिक्षा का समय अलग अलग स्ट्रीम में अलग अलग है।

फ़िनलैंड: भारत मे भी लगभग समान

हमारे देश में भी मोटे तौर पर 2 वर्षीय पूर्व प्राथमिक, 8 वर्ष की उच्च प्राथमिक, 2 वर्ष की माध्यमिक व 2 वर्ष की उच्च माध्यमिक शिक्षा व्यवस्था है। फिनलैंड में विश्विद्यालय जाने से पूर्व करीबन 13 वर्ष की शिक्षा प्राप्त करनी होती है व हमारे देश मे करीबन 14 वर्ष की शिक्षा कॉलेज/विश्विद्यालय से पहले प्राप्त करनी होती है।

फिनलैंड शिक्षा की खास बातें-

सब्जेक्ट की जगह टॉपिक को महत्व।

फिनलैंड में पूरे सब्जेक्ट की अपेक्षा विभिन्न टॉपिक्स पर ध्यान केंद्रित किया जाता है। फिनलैंड में Teaching by Subject की बनिस्पत Teaching by topic पर फोकस किया जाता है।

अकादमिक व व्यवसायिक शिक्षा में फर्क।

फिनलैंड में विद्यार्थियों को व्यवसायिक शिक्षा में गणित, भाषा कौशल( विदेशी भाषा, ताकि ग्राहकों से बेहतर सम्वाद हो सके), लेखन कौशल व संचार कौशल पर फोकस किया जाता है।
अकादमिक शिक्षा में अंतर्विषयक सब्जेक्ट्स पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

परीक्षा पास की अपेक्षा कौशल विकास।

फिनलैंड में विद्यार्थियों को मात्र "एग्जाम फैक्ट्री" में धकेलने की बजाय उसमें आधुनिक युग हेतु आवश्यक कौशलों के विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

लीक पीटने से बेहतर नई जरूरत हेतु पूर्ति।

फिनलैंड शिक्षा व्यवस्था में शिक्षा के परंपरागत तरीकों की अपेक्षा वर्तमान समय की आवश्यकता के अनुरूप शिक्षा व्यवस्था पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है।

सफलता के मूल सूत्र।

फिनलैंड ने शिक्षा में स्थाई सुधार हेतु 19 वी सदी में ही Education for all तथा Leave no child behind के कॉन्सेप्ट को अपना लिया था। फिनलैंड में शिक्षण क्षेत्र में लोग बहुत उत्साह से प्रवेश करते है।

विकेन्द्रीकृत शिक्षा व्यवस्था।

फ़िनलैंड की स्कूली व्यवस्था काफ़ी विकेंद्रीकृत है। नगरपालिका को राष्ट्रीय पाठ्यचर्या को अपने हिसाब से लागू करने पूरी छूट है। कौन से स्कूल में किस भाषा में पढ़ाई होगी? किस कक्षा से भाषा का प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए, इस बारे में फ़ैसला करने का अधिकार नगरपालिका को ही होता है। वहीं स्कूल के लिए संसाधनों का निर्धारण करने की जिम्मेदारी स्थानीय राजनीतिज्ञों के हाथ में होती है।