Categories: FinanceInvestmentNews

FD Investments : अच्छा रिटर्न पाने के लिए इन बातों का रखें ख्याल

FD Investments : अपनी कमाई के पैसों से बचत करके भविष्य को सुरक्षित करने के लिए हममें से कई लोग एफडी का सहारा लेते हैं। जहां सेफ एवं फिक्स रिटर्न मिलने के चलते इसे इन्वेस्ट करने का एक अच्छा मंच माना जाता है। कई बार हम किसी से सुनकर एवं बिना जानकारी लिए ही इस फील्ड में निवेश करने का मानस बना लेते हैं, लेकिन बिना नॉलेज के इस फील्ड में इन्वेस्टमेंट करना भी ठीक नहीं कहा जा सकता है।

FD Investments Tips : सही अवधि का करें चुनाव

किसी भी एफडी में इन्वेस्ट करने के लिए सबसे पहले उसकी अवधि के बारे में जान लेना चाहिए। क्योंकि यदि एफडी की परिपक्वता अवधि से पहले उसे तुड़वाते हैं तो इस पर जुर्माना चुकाना पड़ता है। एफडी के परिपक्व होने से पहले उसे तुड़वाने पर 1 प्रतिशत की

राशि जुर्माने के तौर पर चुकानी पड़ती है। इससे जमा पर होने वाली ब्याज की कमाई भी कम हो सकती है। इसलिए इस अवधि के बारे में विशेष ख्याल रखें।

FD Investments Scheme : अलग-अलग जगहों पर लगाएं पैसा

FD Investments कई बार हम एक ही बैंक में इन्वेस्ट करने का निर्णय ले लेते हैं। लेकिन इस तरह का निर्णय भी सही नहीं है। इसके बजाय अलग-अलग जगहों पर निवेश की राशि लगानी चाहिए। क्योंकि एक बड़ी रकम को जरूरत पड़ने पर तुड़वाना मुश्किल होता है, लेकिन यदि यही रकम छोटे-छोटे हिस्सों में अलग-अलग जगहों पर लगाई जाए तो जरूरत पड़ने पर आप इसे आसानी से निकाल सकते है। इतना ही नहीं बाकी की एफडी भी सेफ रहेगी।

FD Investments Return : एफडी से मिलने वाले ब्याज पर लगता है टैक्स

FD Investments : आपको बता दें कि

एफडी पर मिलने वाले ब्याज पर आयकर विभाग के नियमों के अनुसार टैक्स लगता है। इसके तहत यदि एफडी पर 1 वर्ष में कमाया गया ब्याज 10 हजार रूपए से ज्यादा होता है तो उस ब्याज पर डिडक्शन लगता है। यह कुल प्राप्त किए गए ब्याज का 10 प्रतिशत होता है। वहीं सीनियर सिटीजंस के लिए यह सीमा 50 हजार रूपए हैं।

यह भी पढ़ें-

Covid Case : फेस्टिवल सीजन से पहले केंद्र सरकार ने दी चेतावनी
Rajasthan : अब विधानसभा को घेरने की तैयारी में बेरोजगार
Taliban China News : अब चीन के पैसों पर पलेगा अफगानिस्तान
Traffic Rules : अब प्रतिबंधित क्षेत्रों में बजाया हॉर्न तो खैर नहीं
OBC Reservation : मध्यप्रदेश में अब ओबीसी को सरकारी भर्तियों में 27% आरक्षण
Cow Protection : अब हाइकोर्ट ने भी कहा गाय को घोषित करें राष्ट्रीय पशु
Housing Flats News : अब होटल की जमीन पर बना सकेंगे मल्टी स्टोरी रेजिडेंशियल फ्लैट्स

Big Controversy : एक्टर नसीरुद्दीन शाह ने मुस्लिमों पर कह दी यह बड़ी बात !
Cow Protection : अब हाइकोर्ट ने भी कहा गाय को घोषित करें राष्ट्रीय पशु
TRAI NEWS : घर में लगवाएं इंटरनेट कनेक्शन, सरकार से पाएं पैसा !!
International News : पाकिस्तान को भारत के मुद्दे पर लगा जोर का झटका
LPG Price Hike : सितम्बर की शुरूआत में ही महंगाई का लगा झटका, गैस कम्पनियों ने फिर बढ़ाए दाम

लेकिन यदि आपकी इनकम आयकर सीमा से कम हैं तो आप एफडी पर टीडीएस नहीं कटने के लिए बैंक को फॉर्म संख्या 15 जी व 15 एच जमा करवा सकते हैं। इसके अलावा बैंकों में पहले तीन माह व वार्षिक आधार पर ब्याज का पैसा निकालने का विकल्प था, लेकिन कुछ बैकों में इसे माह के हिसाब से ही निकाल सकते हैं।

समय सीमा का रखें ख्याल

FD Investments : एफडी के लिए यदि आप समय सीमा से पहले इसे तुड़वाते है तो आपको मिलने वाले ब्याज की राशि में कमी हो सकती है। क्योंकि बैंक की ओर से ब्याज निर्धारित समय-सीमा के आधार पर दिया जाता है। इसके अलावा यदि आप एफडी समय सीमा पूरी होने से पहले इसे ब्रेक करते हैं तो 5 लाख रूपए तक की एफडी पर 0.50 प्रतिशत राशि पेनल्टी के तौर पर चुकानी पड़ेगी। वहीं 5 लाख से अधिक व 1 करोड़ रूपए से कम की एफडी पर 1 प्रतिशत राशि चुकानी होगी।