Categories: Biographies

Govind Singh Dotasara Biography Caste, Wife, Family, And Educational Qualification (गोविन्द सिंह डोटासरा की जीवनी)

Govind Singh Dotasara गोविन्द सिंह डोटासरा - गोविंद सिंह डोटासरा का जन्म सन 1964 में 01 अक्टूबर को सीकर जिले के सुतोद, लक्ष्मणगढ़ के कृपाराम जी की ढाणी गांव में हुआ। इनके पिता का नाम मोहन सिंह डोटासरा है। गोविन्द सिंह डोटासरा के पिता एक सरकारी अध्यापक थे तथा उनकी माता का नाम रूपी देवी है। डोटासरा जाट समुदाय से आते हैं।

डोटासरा ने BCom (बीकॉम) और LLB (एलएलबी) तथा B.Ed (बी.एड) की पढ़ाई राजस्थान विश्वविद्यालय से की, चूँकि डोटासरा जाट समुदाय से सम्बन्ध रखते हैं। जो राजस्थान की सियासत में काफी अहम माना जाता है, क्योंकि जाट मतदाता को BJP (बीजेपी) का परंपरागत Voter (वोटर) माना जाता है। जिसे साधने के लिए Congress (कांग्रेस) सरकार ने पार्टी की कमान गोविन्द सिंह डोटासरा को सौंपी है। डोटासरा की प्रारंभिक स्कूली शिक्षा पैतृक गांव में ही हुई थी।

Education Minister of Rajasthan got promotion of Samadhi bypassing the rules

life introduction point (जीवन परिचय बिंदु)
नामगोविन्द सिंह डोटासरा
जन्म तिथि 01 अक्टूबर, 1964
जन्म स्थानलक्ष्मणगढ़ सीकर
राजनितिक दल कांग्रेस नेता
पेशा विधायक, राजनीतिज्ञ, वकील
जातिजाट समुदाय
पिता मोहन सिंह डोटासरा
माता रूपी देवी
विवाह तिथि 04 मार्च, 1984
पत्नी सुनीता देवी
संतान02 पुत्र

गोविंद सिंह डोटासरा कौन हैं (Who is Govind Singh Dotasara in hindi )-

वर्तमान समय में डोटासरा राजस्थान प्रदेश के कांग्रेस पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष एवं शिक्षा मंत्री के पद पर कार्यरत हैं। गोविन्द सिंह डोटासरा की गिनती प्रदेश के प्रमुख जाट राजनेताओं में की जाती हैं। डोटासरा स्वभाव से बहुत सख्त माने जाते हैं। कई बार वे अपने बयानों और कठोर निर्णयों के चलते चर्चा का विषय भी रह चुके हैं। अशोक गहलोत की सरकार में सबसे

अधिक लोकप्रिय मंत्री में गोविन्द सिंह डोटासरा का नाम सबसे पहले लिया जाता है। डोटासरा social media (सोशल मिडिया) पर सबसे अधिक Active (सक्रिय) रहते हैं। तथा क्षेत्रीय विकास को भी वे प्रमुखता देते हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सबसे करीबियों में गोविंद सिंह डोटासरा का नाम लिया जाता हैं।

गोविंद सिंह डोटासरा का आरंभिक जीवन व प्रारम्भिक शिक्षा (Early Life and Early Education of Govind Singh Dotasara in hindi )

57 वर्षीय गोविन्द सिंह डोटासरा जी का जन्म 01 अक्टूबर, 1964 को राजस्थान राज्य के सीकर जिले में लक्ष्मणगढ़ के कृपाराम जी की ढाणी गाँव में हुआ था। डोटासरा के पिता का नाम श्री मोहन सिंह डोटासरा है। जो की पूर्व में एक सरकारी अध्यापक थे तथा इनकी माता का नाम श्रीमती रूपी देवी डोटासरा है।

डोटासरा का विवाह श्रीमती सुनीता देवी के साथ 04 मार्च, 1984 को हुआ था, श्रीमती सुनीता देवी वर्तमान में एक सरकारी अध्यापिका हैं इनके दो पुत्र हैं। डोटासरा ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा सीकर जिले में अपने गाँव से ही की तथा उच्च शिक्षा के लिए उन्होंने राजस्थान विश्वविद्यालय से B.Com (बीकॉम) और LLB (एलएलबी) तथा B.Ed (बीएड) की शिक्षा ग्रहण की गोविंद सिंह डोटासरा ने अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद अपनी आजीविका की शुरुआत सीकर जिले में वकालत से की तथा वे लगभग 20 वर्षों तक वकालात करते रहे।

गोविंद सिंह डोटासरा का राजनैतिक जीवन (Political life of Govind Singh Dotasara in hindi)-

2018 के राजस्थान विधानसभा के चुनाव में Congress Party (कांग्रेस पार्टी) को जब बहुमत मिला तो सत्ता की खींचतान भी शुरू हो गई थी। इसी परिस्तिथि में गोविंद सिंह डोटासरा को अपने राजनीतिक जीवन में चरम पर जाने का अवसर मिला इससे पहले वे 03 बार लक्ष्मण गढ़ से विधायक रह चुके हैं, किन्तु इनका सफर काफी रोचक और साधारण रहा।

सीकर जिले के न्यायालय में वकालत के दिनों से ही डोटासरा Congress Yuth (कांग्रेस यूथ) के कार्यकर्ता बन गये थे। वर्ष 2005 में पंचायत समिति चुनाव में उन्होंने कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ा और प्रधान बने तथा लगातार 07 वर्ष तक वे जिला कांग्रेस अध्यक्ष भी रहे डोटासरा पूर्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष रह चुके श्री चौधरी नारायण सिंह जी को अपना राजनीतिक गुरु मानते हैं।

2008 में कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में लक्ष्मणगढ़ सीट के लिए गोविंदसिंह डोटासरा को अपना प्रत्याशी बनाया अपने पहले ही बड़े चुनाव में उनका कई दलों व निर्दलीय उम्मीदवारों से मुकाबला था वोटों के विभाजन के बावजूद भी उन्हें 34 मतों से विजय मिली थी और पहली बार राजस्थान विधानसभा में प्रवेश किया। उसके बाद वर्ष 2013 तथा वर्ष 2018 में वे लगातार 03 बार विधायक बने।

वर्तमान में वे

राजस्थान राज्य के कांग्रेस पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष पद पर कार्यरत हैं। इसके साथ ही वे राजस्थान सरकार में प्राथमिक शिक्षा तथा माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री और पर्यटन व देवस्थान मंत्री के पद पर कार्यरत हैं। वह 15वीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य हैं और उस विधानसभा में वे भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस पार्टी के पूर्व मुख्य सचेतक भी हैं। उन्होंने वर्ष 2008 में राजस्थान राज्य के सीकर जिले के लक्ष्मणगढ़ निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया तथा वर्ष 1981 से कांग्रेस पार्टी के सदस्य हैं।

05 अक्टूबर, 2018 को राजस्थान चुनाव से पूर्व डोटासरा को मीडिया और संचार समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। वे वर्ष 2014 से वर्ष 2020 तक राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष तथा 07 वर्ष के तक जिला कांग्रेस कमेटी, जिला सीकर के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया। जो वर्ष 2011 से 2018 तक रहा। वर्तमान में, वे जिला कांग्रेस कमेटी जिला नागौर राजस्थान के प्रभारी पद पर कार्यरत हैं।

यह भी पढ़े :

Rakesh Tikait Biography | Age, Wife, Family, Children, Biography & More (राकेश टिकैत की जीवनी)
Bhavina Patel Age, Husband, Family, Biography & More | भाविना हसमुखभाई पटेल की जीवनी
Ashok Gehlot Biography l Caste, Son, Daughter & Education Qualification

गोविंद सिंह डोटासरा के विवाद (Controversy of Govind Singh Dotasara in Hindi )-

राजस्थान प्रदेश के लाखों युवा गोविंद सिंह डोटासरा को पसंद नहीं करते, क्योंकि उसकी बड़ी वजह उनके

विवादित मामले हैं। जब उनके आवास पर ज्ञापन देने आए शिक्षकों को उनके द्वारा नाथी का बाड़ा समझ रखा है, क्या के बयान के बाद प्रदेश में शिक्षक समाज ने इस वक्तव्य का भरपूर विरोध किया बोर्ड पूरक परीक्षा परिणामों में सुधार को लेकर शिक्षकों का नहीं निदेशक महोदय की बदौलत परिणाम अच्छे रहे।

इस वक्तव्य के बाद उन्हें सफाई देनी पड़ी विवादों में रहना डोटासरा के लिए कोई बड़ी बात नहीं है। कम राजनीतिक अनुभव और अधिक कार्य बोझ के चलते कई बार उनसे वार्ता करने आए युवाओं के साथ अपमानजनक तरीके से वार्ता करते रहे हैं। प्रदेश सरकार के सबसे सक्रिय मंत्री होने के कारण विपक्ष की दृष्टि हमेशा उनकी छोटी-बड़ी गलतियों पर रहती हैं।