झारखण्ड फसल राहत योजना (Jharkhand Fasal Rahat Yojana in Hindi)

झारखण्ड फसल राहत योजना के साथ, राज्य सरकार ने किसानों के ऋण माफ करने का फैसला किया है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा 2000 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है जिससे किसानों को दिया गया ऋण माफ किया जाएगा। यह योजना दिसंबर 2020 के अंत तक शुरू कर दी जाएगी, जिसमे सरकार ऋण माफ करने के लिए एक पोर्टल शुरू करेगी, जिसमें सभी किसानों का डाटा एकत्रित किया जाएगा।

विभिन्न बैंकों इस योजना के तहत, किसानों को किसी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल का नुकसान होने के मामले में बीमा कंपनी किसान को पंजीकृत राशि प्रदान करती है। झारखण्ड फसल राहत योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को एक प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा। फसल राहत योजना के तहत प्राकृतिक आपदाओं में सूखा, ओलावृष्टि आदि को शामिल किया गया है। योजना का लाभ लेने के लिए राज्य के किसान को इस योजना के तहत आवेदन करना होगा।

झारखण्ड फसल राहत योजना के लाभ तथा विशेषताएं (Benefits and Features of Jharkhand Fasal Rahat Yojana in Hindi) :

  • झारखण्ड फसल राहत योजना के तहत किसानो को प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल में जो नुकसान होता है उसके लिए झारखण्ड सरकार द्वारा आर्थिक साहयता मुहैया कराई जाएगी
  • इस योजना को सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर आरंभ किया है।
  • इस योजना के अंतर्गत नुकसान की राशि पंजीकृत किसानों को बीमा कंपनी द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • योजना का लाभ लेने के लिए उन्हें झारखण्ड फसल राहत बिमा योजना के अंदर पंजीकरण करवाना होगा।
  • झारखण्ड फसल राहत योजना के लागु होने से किसानो की आय में भी बढ़ोतरी होगी जिससे किसान आत्मनिर्भर व सशक्त बनेंगे
  • झारखण्ड सरकार द्वारा योजना के लिए 100 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है
  • योजना का लाभ लेने के लिए पंजीकृत किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।

झारखण्ड फसल राहत योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ (Documents Required to take Advantage of Jharkhand Fasal Rahat Yojana in Hindi) :

  • आवास प्रामाण पत्र
  • Aadhaar Card
  • Bank Account Details
  • Passport Size Photo
  • पहचान पत्र
  • Mobile Number

झारखण्ड फसल राहत योजना के लिए पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria for Jharkhand Fasal Rahat Yojana in Hindi) :

  • योजना का लाभ लेने के लिए झारखण्ड का स्थायी निवासी होना आवश्यक है
  • आवेदनकर्ता की उम्र 18 साल से अधिक होना अनिवार्य है
  • यदि आवेदनकर्ता सरकारी कर्मचारी है तो व झारखण्ड फसल राहत बिमा योजना के अंदर लाभ नहीं ले सकेगा
  • झारखण्ड के रहने वाले छोटे और सीमांत किसान है जिनकी आर्थिक स्थिति बेहतर नहीं है, उन्हें योजना के तहत आवेदन करने के लिए पात्र माना जाएगा और योजना का लाभ उन्हें ही मिलेगा जिन्होंने Loan लिया है।

झारखण्ड फसल राहत योजना में मिलने वाले लाभ
और विशेषताएं (Benefits and Features Available in Jharkhand Fasal Rahat Yojana in Hindi) :

  • झारखण्ड फसल राहत योजना व योजना है जिसके तहत प्राकृतिक आपदाओं (Natural Hazard) के कारण फसल पर नुकसान होने पर झारखंड सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • झारखण्ड फसल राहत योजना को झारखण्ड सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर शुरू किया है।
  • झारखण्ड फसल राहत योजना व योजना है जिसके तहत प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल पर नुकसान होने पर झारखंड सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • झारखण्ड फसल राहत योजनाके अंदर नुकसान की राशि पंजीकृत किसानों को बीमा कंपनी द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • योजना का लाभ लेने के लिए होना पंजीकरण होना आवशयक है
  • योजना के लागु होने से झारखण्ड के रहने वाले किसान आत्मनिर्भर व ससक्त बनेंगे
  • झारखंड फसल राहत योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 100 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • योजना के तहत पंजीकृत किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।

झारखण्ड फसल राहत योजना की मुख्य विशेषताएं (Key Highlights Of Jharkhand Fasal Rahat Yojana in Hindi) :

योजना का नामझारखण्ड फसल राहत योजना
योजना के लाभार्थीझारखण्ड के स्थायी नागरिक
योजना के लाभकिसानो को फसल में होने वाले नुकसान में आर्थिक साहयता प्रदान करना
Year2020

यह भी पढ़े :