Categories: EducationNews
| On 3 weeks ago

JNU में एंट्रेंस एग्जाम के लिए आज अंतिम तिथि

भारत के बेहतरीन विश्वविद्यालयों में शामिल नई दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में यूजी व पीजी कोर्स सहित पीएचडी प्रोग्राम में प्रवेश के लिए आवदेन करने का आज 27 अगस्त को अंतिम दिन है। इसके बाद पंजीकरण प्रक्रिया को बंद कर दिया जाएगा। आपकों बता दें कि जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में इस बार कुल 3 हजार 16 सीटों के लिए प्रवेश होंगे। जिसमें 982 सीटें यूजी (Undergraduate) की है वहीं 1583 पीजी(Post Graduate) व पीएचडी (PHD) के लिए 451 सीटें है।

यहां प्रवेश पाने के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की ओर से आयोजित प्रवेश परीक्षा को देना होगा। इसमें सफल रहने वाले आवेदकों को इन कोर्स के लिए प्रवेश मिल सकेगा।
यदि आप भी इस यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करने की सोच रहे

हैं और अभी तक आवेदन नहीं किया है तो यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं। पंजीकरण के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

JNU: सीबीटी मोड पर होगी परीक्षा

JNU यूनिवर्सिटी में प्रवेश के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की ओर से सीबीटी मोड (कम्प्यूटर) आधारित परीक्षा (Exam) का आयोजन किया जाएगा। परीक्षा का आयोजन 20,21,22 व 23 सितम्बर को किया जाएगा। इसके लिए दो पारियों (Shift) में परीक्षा आयोजित की जाएगी। प्रथम पारी (First Shift) में प्रातः 9ः30 बजे से 12ः30 बजे व द्वितीय पारी (Second Shift) में दोपहर 2ः30 से शाम 5ः30 बजे तक परीक्षा होगी। परीक्षा के लिए Covid-19 Guidelines की पालना की जाएगी । प्रश्न पेपर में वैकल्पिक प्रश्न होंगे। वहीं पेपर इंग्लिश (English) में होगा। आपको बता दें कि जवाहरलाल

नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में 2021 सत्र के लिए प्रवेश परीक्षा में आवेदन को लेकर 27 जुलाई से प्रक्रिया शुरू हुई थी।
JNU आवेदन प्रारंभ करने की तिथि-27 जुलाई 2021
ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तारीख-27 अगस्त 2021
फॉर्म करेक्शन-1 से 3 सितंबर 2021
प्रवेश पत्र डाउनलोड-8 सितंबर से
प्रवेश परीक्षा तिथि-20, 21, 22 व 23 सितम्बर 2021
  • परीक्षा पैर्टन
  • परीक्षा का मोड- कम्पयूटर
  • समय सीमा- तीन घंटे
  • प्रश्न प्रकार- वैकल्पिक
  • प्रश्न संख्या- 100
  • निगेटिव मार्किंग- नहीं
  • माध्यम- अंग्रेजी भाषा

जल्द ही शुरू होगी मेडिकल की पढ़ाई

JNU में अब जल्द ही मेडिकल फील्ड से जुड़ी पढ़ाई भी करवाई जाएगी। इसको लेकर यूनिवर्सिटी की एकेडमिक काउंसिल ने स्कूल ऑफ मेडिकल साइंसेज व मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पीटल बनाने के प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है। यहां 500 बिस्तरों वाला अस्पताल (Hospital) भी बनाया जाएगा।

लगभग 900 करोड़ रूपए की लागत से यहां पर 2024 की शुरूआत तक निर्माण कार्य होने की उम्मीद जगी है। वहीं अब यहां मेडिकल स्कूल के तहत पीएचडी (PHD), MD, MS, DM, MCH सहित MBBS कोर्स भी करवाए

जा सकेंगे। जिसमें आधुनिक दवाओं, औषधियों पर रिर्सच, मानव जीवन, सामाजिक विज्ञान से रिलेटेड विषयों पर फोकस किया जाएगा। इसके अलावा यहां नई शिक्षा नीति (NEP) के तहत भी विभिन्न कोर्स को शुरू करने के लिए मंजूरी भी दी गई है।

यह भी पढ़े:

पढ़ाई की राह में है दिक्कतें तो इन Scholarship Scheme का उठाएं फायदा

एनसीसी (NCC) के लिए 3 वर्ष का कोर्स

यूनिवर्सिटी की ओर से अब यहां नेशनल कैडेट कोर एनसीसी (NCC) की पढ़ाई भी करवाई जाएगी। इसके लिए यहां तीन वर्ष का सेमेस्टर प्रोग्राम भी यूनिवर्सिटी की ओर से जारी किया गया है। जिसमें कुल 6 सेमेस्टर होंगे। इसके तहत यहां थ्योरी, प्रैक्टिकल व कैंप ट्रेनिंग भी करवाई जाएगी।

कब हुई स्थापना

जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय की स्थापना वर्ष 1969 में की गई थी। जेएनयू अधिनियम 1966 को भारत की संसद ने 22 दिसम्बर 1966 में पास किया था।

JNU के स्कूल एवं सेंटर

Language, Literature
Intrachain
Social Science Institute
Institute of Physics
Institute of Life Sciences
Institute of Arts and Aesthetics
Institute of Information Technology
Computer and science institute
Institute of Pro Technology
Environmental science institute
Special Sanskrit Study Center
Molekar ️ Study ️ Study ️️
La & Dwarf Center