कामधेनु डेयरी योजना (Kamdhenu Dairy Yojana in Hindi)

कामधेनु डेयरी योजना से राजस्थान के वह लोग जो एक लंबें समय से पशुपालन का कार्य कर रहे थे, उनके लिए एक बेहद जबरदस्त योजना है। राजस्थान सरकार ने प्रदेश में देसी गाय की हाईटेक डेयरी फार्म को बढ़ावा देने के लिए कामधेनु डेयरी योजना ( कामधेनु डेयरी योजना) की शुरूआत की है। इस योजना का संचालन प्रदेश के पशुपालन विभाग द्वारा किया जाएगा। इसके अंतर्गत पशुपालक को केवल अपनी ओर से 10 प्रतिशत पैसा ही निवेश करना होगा, वंही बचा हुआ पैसा सरकार और बैंक की तरफ से कर्ज के तौर पर दिया जाएगा।

राजस्थान में जो भी निवासी कामधेनु डेयरी योजना का लाभ उठाना चाहते हैं। वह इस योजना में आवेदन कर सकते हैं। आवेदन केवल 30 जून तक ही स्वीकार किए जाएंगे। लिहाजा अगर आप कामधेनु डेयरी योजना से जुड़ी किसी भी तरह कि कोई जानकारी हासिल करना चाहते हैं, चाहे आप आवेदन करना

चाहें, या योजना से जुड़ी शर्ते जानना चाहें, यह सब आपको हमारे इस लेख में मिल जाएगा।

सरकार द्वारा चलाई जा रही कामधेनु डेयरी योजना का लाभ राज्य के वह सभी लोग ले पाएंगे जो पशुपालन का कार्य करते हैं, या कर चुके हैं। कामधेनु डेयरी योजना खोलने की कुल लागत 36.68 लाख रूपए है। जिसमें से आवेदन कर्ता को केवल 10 प्रतिशत ही निवेश करना होगा वंही इसके अलावा बचा हुआ 90 प्रतिशत बैंक से लोन के जरिए दिया जाएगा। वंही लोन की रकम  समय पर वापिस करने पर आवेदक को 30 प्रतिशत तक की सब्सिडी भी दी जाएगी।

इस योजना में अधिक मात्रा में दुध देने वाली 30 गाय एक ही नस्ल की रखी जाएंगे। आवेदक के पास डेयरी खोलने के लिए पर्याप्त मात्रा में  धन, भूमि और कम से कम 1 एकड़ जमीन हरा चारा उत्पादन करन के लिए होनी है।

कामधेनु डेयरी योजना का उद्देश्य (Objective of Kamdhenu Dairy Yojana in Hindi) :

राजस्थान राज्य में ज्यादा से ज्यादा रोजगार पैदा किये जाये इसी के लिए ही इस योजना का ऐलान किया गया है। हम सभी जानते हैं कि देश में मजदूर वर्ग की हालत आज कितनी घंभीर रूप से खराब है। वंही मजदूर अपने अपने राज्य लौट चुके हैं। इसके लिए अलग अलग राज्य सरकारे इन मजदूरों के लिए रोजगार का रास्ता खोल रही हैं।

ऐसे में अगर प्रदेश में हाईटेक डेयरी खोली जाएंगी तो पशुपालकों समते मजदूरों को भी काम मिलने का मौका मिलेगा और इन्हे फिर से राज्य से पलायन नहीं करना पड़ेगा। इसके अलावा राजस्थान में पशु पालन करने वाले किसानो की आर्थिक स्थिति अच्छी हो और वह भी देश के विकास में भागीदारी निभा पाए।

  • इस योजना का लाभ उन सभी लोगों को होगा जिन्होने पशु पालन का कार्य किया हुआ है।
  • योजना के जरिए लोग आत्मनिर्भर बनेंगे और अधिक मात्रा में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।
  • डेयरी योजना की वजह से प्रदेश के लोगों को बेहतर क्वालिटी का दूध उचित दामों पर मिल पाएगा, जिससे उनका इम्यून सिस्टम भी मजबूत होगा।
  • इस योजना का लाभ प्रदेश की महिला, युवा और वृद्ध व्यक्ति भी उठा पाएंगे।
  • योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को केवल 10 प्रतिशत ही पैसा निवेश करना होगा।
  • लोन के तौर पर दी गई रकम को समय पर चुकाने वाले व्यक्ति को 30 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी।
  • पशुपालकों को सही तरह से प्रशिक्षित किया जाएगा, ताकि वह डेयरी के जरिए अच्छा मुनाफा कमा सकें।
योजना का नाम:कामधेनु डेयरी योजना
योजना कब शुरू की गयी:2020
योजना किसके द्वारा शुरू की गयी:राजस्थान सरकार द्वारा
योजना के लाभार्थी:पशुपालक
अधिकारिक वेबसाइट:यहां क्लिक करें
Key Highlights of कामधेनु डेयरी योजना

कामधेनु डेयरी योजना के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ (Documents required for Kamdhenu Dairy Yojana in Hindi) :

  • राजस्थान के निवासी होने का प्रमाण पत्र
  • Aadhaar Card
  • Mobile Number
  • Bank Account (Passbook)
  • पशु पालन से संबंधित दस्तावेज

कामधेनु डेयरी योजना का आवेदन करने की प्रक्रिया (Procedure to Apply for Kamdhenu Dairy Yojana in Hindi) :

  • राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना योजना के लिए आपको सबसे पहले इनकी आधिकारिक वेबसाइट
    पर जाना है जहां आपको सारी जानकारियां प्राप्त हो जाएगी।
  • साइट पर जाने के बाद आपको इस योजना का फार्म प्रिंट करना है और उससे अच्छे से पढ़कर भरना है।
  • फार्म भरते समय इस बात का पूरा ध्यान रखें की आपसे कोई गलती ना हो।
  • इसके बाद आपको इसमें मांगे गए दस्तावेज इस फार्म के साथ अटैच करने हैं और इसे जमा कराना है।
  • इसके बाद इस फार्म की जांच होगी अगर ये सही लगा तो इसे स्वीकार कर लिया जाएगा।

कामधेनु डेयरी योजना पंजीकरण फॉर्म (Kamdhenu Dairy Yojana Registration Form in Hindi) :