Categories: Astrology
| On 3 weeks ago

आठवें भाव में मंगल का फल | स्वास्थ्य, करियर और धन | Mars in 8th House in Hindi

आठवें भाव में मंगल का फल

आठवें भाव में मंगल का शुभ फल (Positive Results of Mangal in 8th House in Astrology)

  • आठवें भाव में मंगल जातक के कपड़े सादे होंगे। रत्नों की पारखी, धनवान् लोगों में प्रमुख होगी। सोना, चाँदी आदि धन प्राप्त होगा और भोगों को भोगने वाला होगा
  • जातक अच्छी परीक्षक होगा अष्टम भावस्थ मंगल के अफसर बहुत रिश्वत खाते हैं किन्तु पकडे नहीं जाते।
  • आठवें भाव में मंगल शुभग्रहों से युक्त होने से नीरोग शरीर, दीर्घ आयु, तथा मनुष्यों आदि में वृद्धि तथा घर में समृद्धि होगी।
  • अष्टमभाव का स्वामी बलवान होने से पूर्ण आयु मिलेगी।

आठवें भाव में मंगल का अशुभ फल (Negative Results of Mangal in 8th House in Astrology)

  • आठवें स्थान का मंगल व्यक्ति को शुभ फल नहीं देता। जातक के कार्य अधूरे रहेंगे, काम में रुकावटें आयेंगी। बहुत प्रयास करने पर भी इच्छा पूरी नहीं होगी। कार्यो के अनुकूल उद्योग करने पर भी सफल मनोरथ नहीं होगा, प्रत्युत विघ्नों से पीडि़त
    हो जायेगी।
  • आठवें स्थान में मंगल होने से जातक मूर्ख, चुगलखोर, कठोरभाषी, शस्त्रचोर, अग्निभीरू तथा गुणहीन होगी। जातिका सर्वदा अनुचित बोलने वाली, बुद्धिहीन होगा
  • जातक निर्दयी, बुरे विचारों की बहुत ही निंदनीय होगा लोग उसकी निंदा करेंगे। जातक दुराचारी तथा शोक सन्तप्त होगी। जातक की आँखे अच्छी नहीं होंगी, कुरूप होंगी। बुरे कामों की ओर प्रवृत्ति होगी।
    सज्जनों की निन्दक होगी। व्यसनी, मदिरापायी मद्यपायी होगी। जातक का शरीर दुबला होगा।
  • आठवें भाव में मंगल होने से कई एक प्रबल रोग प्रादुर्भूत हो जायेंगे जिनकी चिकित्सा करने पर भी कोई लाभ नहीं होगा और ये रोग विघ्न हो जायेंगे।