मनरेगा योजना (Manrega Yojana) : युवाओं के लिए सरकार की तरफ से रोजगार का अवसर.

Manrega Yojana : भारत एक ऐसा देश है जिस ने अंग्रेजों से आजादी पाने के बाद में विज्ञान कृषि शिक्षा के क्षेत्रों में काफी हद तक तरक्की कर ली लेकिन देश में काफी समस्याओं के बीच एक समस्या ऐसी भी है जो युवाओं को मानसिक तौर पर चिंता में डाल देती है वह है रोजगार.

देश में इतना विकास होने के बावजूद भी युवाओं की संख्या ज्यादा होने के कारण उन्हें रोजगार मिलने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है और इसको लेकर सरकार ने बीते समय में काफी सारी योजनाएं भी बनाई है और उनमें से एक है.


महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम ( Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act ) इस योजना को सरकार के द्वारा 7 सितंबर 2005 में शुरू किया गया था इस योजना को पहले NAREGA कहा जाता था.

इस योजना

के तहत कमजोर वर्ग के लोगों को 100 दिन का गारंटी रोजगार दिया जाता है इसमें उन्हें उनके नजदीकी ग्राम पंचायत में कार्य करने का मौका दिया जाता है इस योजना को लेकर केंद्र सरकार सालाना बजट भी निकालती 2010-11 में यह बजट 40000 करोड के आसपास था.

मनरेगा का उद्देश्य (Objective Of Manrega)

• इस योजना का मुख्य उद्देश्य है वह यह है की कमजोर वर्ग के ग्रामीण लोगों को 100 दिनों का रोजगार देना जिससे वह अपनी जीविका को चला सके.
• बेरोजगारों को आर्थिक मजबूती प्रदान करना और उन्हें काम करने के लिए प्रोत्साहित करना.
• जो लोग रोजगार के लिए गांव से शहर की तरफ पलायन करते हैं उन लोगों को ग्राम में ही रोजगार देकर पलायन को रोकना.
• इस योजना के तहत समाज के कमजोर वर्गों को भी गांव के मुख्य कामों में सम्मिलित करना जिससे उनका आत्मविश्वास में

बढ़ोतरी हो सके.
• राष्ट्र की हर ग्राम की पंचायत राज को आर्थिक रूप से मजबूत करना.

Manrega Yojana के मुख्य बिंदु

योजना का नाम :Manrega Yojana
योजना कब शुरू की गयी :2006
योजना किसके द्वारा शुरू की गयी :केंद्र सरकार द्वारा
योजना का उद्देश्य :रोजगार प्रदान करने के लिए
योजना की अधिकारिक पोर्टल :यहां क्लिक करें

मनरेगा के फायदे (Benefit Of Manrega)

• मनरेगा में शामिल होने वाले कमजोर होकर ग्रामीण लोगों को केंद्र सरकार के द्वारा उनके नजदीकी ग्राम पंचायत में 100 दिन तक का रोजगार साथ में आए भी प्रदान की जाती है.
• किसी किसी राज्य में तो इसको 100 दिन से बढ़ाकर 150 दिन तक कर दिया गया जैसे कि छत्तीसगढ़ और अभी बढ़ाने को लेकर सरकार की नई योजनाएं भी आने वाली है.
• इस योजना में सम्मिलित होने वाले लोगों को आए सीधे उनके बैंक खाते में प्राप्त होती हैं.
• इस योजना के तहत सम्मिलित होने वाले हर एक व्यक्ति को 15 दिन के अंदर अंदर रोजगार प्राप्त होता है अगर किसी कारण से किसी को रोजगार नहीं मिल पा रहा है तो सरकार उसे 30 दिन तक बेरोजगार भरते के तौर पर धनराशि प्रदान करती है.

क्या-क्या कार्य करवाए जाते हैं ? (Work After Employment)

एक बार इस योजना में चयनित होने के बाद में सरकार द्वारा आपसे यह महत्वपूर्ण कार्य करवाए जाते हैं :-

• वृक्षारोपण करना,
• बागवानी करना,
• भूमि की सिंचाई करना,
• ग्रामीण मार्क बनवाने का कार्य.

यह भी पढ़े :

पशु बीमा योजना (Livestock Insurance Scheme) : मवेशियों के लिए सुनहरा मौका
किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (Kishore Vaigyanik Protsahan Yojana) : विज्ञान के क्षेत्र में बड़ा कदम।
Chirali Yojana (चिराली योजना) : महिलाओं की सुरक्षा की तरफ राजस्थान सरकार का बड़ा कदम
सौभाग्य योजना (Saubhagya Yojana) : प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना
Mahatma Gandhi Adarsh Gram Yojana (महात्मा गांधी आदर्श ग्राम योजना)

मनरेगा की आवेदन प्रक्रिया (Process for Manrega)

• मनरेगा में आवेदन करने के लिए आपको पहले रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा इसके लिए आपको फॉर्म डाउनलोड

करना पड़ेगा जो कि आप यहां पर क्लिक करके कर सकते हैं ( यहां क्लिक करें).

• बाद में इस फॉर्म को भर कर आपको अपने नजदीकी ग्राम पंचायत में जमा करवा देना है.

मनरेगा आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेज (Documents for Manrega)

मनरेगा के आयोजन के लिए आपको कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी :-

• आवेदक की फोटो,
• नाम लिंग और आयु,
• ग्राम पंचायत का नाम,
• गांव का नाम,
• आवेदक के हस्ताक्षर.