Categories: Astrology

ग्यारहवें भाव में मंगल का फल | स्वास्थ्य, करियर और धन | Mars in 11th House in Hindi

ग्यारहवें भाव में मंगल का फल | स्वास्थ्य, करियर और धन
ग्यारहवें भाव में मंगल का फल

ज्योतिष में ग्यारहवें भाव में मंगल स्वभाव से बहुत प्यार करने वाला व्यक्ति बनाता है, जो दोस्तों और करीबी लोगों की संगति में रहना पसंद करता है।

ग्यारहवें भाव घर तरल लाभ (नकद), आशाओं, इच्छाओं, सपनों, लक्ष्यों, लक्ष्य निर्धारण, पेशेवर और व्यक्तिगत नेटवर्क और बड़े भाई-बहनों के साथ संबंधों का प्रतिनिधि है। वर्तमान समय की आवश्यकता के अनुसार यह सबसे महत्वपूर्ण और प्रभावशाली घर है।

मंगल इच्छा शक्ति का प्रतीक है और कर्म प्रधान ग्रह है। मंगल ऊर्जा, क्रिया, फिटनेस, स्वार्थ, आक्रामकता, नेतृत्व और प्रतिस्पर्धा का प्रतिनिधि है।

ग्यारहवें भाव में मंगल का महत्व और विशेषताएं :

  • ग्यारहवें भाव में मंगल जातक के जीवन में लाभ लाने और बढ़ाने में महत्वपूर्ण होता है। यह किसी अन्य ग्रह या स्थान के समर्थन के बिना लक्ष्य-निर्धारण और स्वयं को प्राप्त करने पर केंद्रित है। जातक अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने पर केंद्रित रहेगा।
  • ग्यारहवें भाव में मंगल जातक के लिए सामाजिक संगठन या राजनीति के क्षेत्र में काम करने के लिए एक उत्कृष्ट ग्रह स्थिति है क्योंकि इसके लिए एक बड़े वृत्त या नेटवर्क की आवश्यकता होती है, जो ग्यारहवें घर द्वारा प्रदान किया जाता है और इस प्रकार इसे नेतृत्व के लिए संभव स्थान बनाता है। भूमिकाएँ।
  • जातक अपने बड़े भाई-बहनों से प्रतिद्वंदी रहेगा। जातक की वाणी में
    कठोरता और कठोरता होगी, जो लोगों को उसकी बात सुनने और उसके आदेशों का पालन करने के लिए मजबूर करेगा, जिससे वह एक अच्छा प्रबंधक या सेनापति बन जाएगा। जातक में भीड़ को नियंत्रित करने की प्रतिभा होगी।
  • ग्यारहवें भाव में मंगल जब सप्तम भाव पर दृष्टि डालता है तो यह जातक के संतानों के साथ कटु संबंधों का द्योतक होता है। साथ ही मूल निवासियों के बच्चे एथलीट होंगे। ग्यारहवें भाव से पता चलता है कि जातक और उसकी माँ शराब या धूम्रपान के व्यसनों में शामिल हो सकते हैं।
  • जब मंगल नीच का होता है, तो जातक अवैध रूप से धन प्राप्त करने का प्रयास करेगा और अपनी नैतिकता और नैतिकता को भूल जाएगा। हालाँकि, मंगल उत्कृष्ट होने पर, जातक को शहरी नियोजन या इंजीनियरिंग में रुचि बना सकता है।

ज्योतिष में ग्यारहवां भाव क्या दर्शाता है?

ज्योतिष में 11वां घर सभी प्रकार के लाभ, आशाओं, इच्छाओं, अपने इच्छित लक्ष्य को प्राप्त करने की शक्ति और आपकी आय के स्रोत को दर्शाता है। दसवां भाव करियर में करियर, उत्थान और पतन को दर्शाता है, लेकिन 11वां घर धन के मामले में आपके जीवन में मिलने वाले बड़े लाभ को दर्शाता है।

वैदिक ज्योतिष में 11 वां घर किसी के कार्यों, आय और इच्छाओं की सामान्य पूर्ति का प्रतिनिधित्व करता है। यह करियर

खत्म होने के बाद के वर्षों, पेंशन का आनंद, दोस्तों के साथ बिताने के लिए समय का भी प्रतिनिधित्व करता है।

शारीरिक रूप से, 11 वां घर पैरों, पिंडलियों और पिंडलियों के तीसरे भाग से संबंधित है। 11 वां घर कुंभ राशि से मेल खाता है।

ज्योतिष में मंगल क्या दर्शाता है?

मंगल एक सैनिक की तरह है जो अपने विश्वासों के लिए खड़ा है। यह आपकी कुंडली में जहां कहीं भी स्थित होता है, आप उन मान्यताओं के लिए खड़े होते हैं, और वहीं आपकी ऊर्जा जाती है। मंगल ऊर्जा है। यह आपकी इच्छाशक्ति और जीवन शक्ति है। मंगल किसी चीज के प्रति कार्रवाई करने की आपकी क्षमता का प्रतिनिधित्व करता है।

यह उस क्रोध का भी प्रतिनिधित्व करता है जो हम अपने भीतर रखते हैं, क्योंकि एक सैनिक को लड़ाई लड़ने और जीतने के लिए उसके भीतर एक निश्चित स्तर का क्रोध होना चाहिए। मंगल पुलिसकर्मियों, सैनिकों, एथलीटों, सरदारों, हथियारों के सौदागरों और लड़ाकों का प्रतिनिधित्व करता है। इसके अलावा, मंगल दुर्घटनाओं, चोटों और विस्फोटकों से निपटने से भी संबंधित है।

ज्योतिष में मंगल ऊर्जा, मुखरता और कार्रवाई करने की क्षमता का प्रतिनिधित्व करता है। यह दर्शाता है कि कोई व्यक्ति विभिन्न स्तरों पर ऊर्जा का उपयोग कैसे करता है। सामाजिक क्षेत्र में, मंगल उन रिश्तों का प्रतिनिधित्व करता है जो किसी

की ताकत का परीक्षण करते हैं, जैसे कि प्रतिस्पर्धियों और दुश्मनों के संबंध। व्यक्तिगत कुंडली में मंगल की स्थिति व्यक्ति की ऊर्जा और महत्वाकांक्षा के स्तर का संकेत देगी।

ज्योतिष में ग्यारहवें भाव में मंगल में शुभ फल :

  • व्यक्ति रोगों से मुक्त, वीर और धैर्यवान होता है।
  • व्यक्ति बोलने में कुशल, सत्यवादी, मृदुभाषी, संस्कारी और दृढ़ निश्चयी होता है।
  • व्यक्ति स्वभाव से विनोदी होगा।
  • एक विद्वान और जानकार है।
  • एक भगवान को समर्पित होगा।
  • आत्म-संयम की शक्ति महान है।
  • व्यक्ति सुखी और धनवान होगा।
  • उसकी प्रतिभा से लाभ मिलेगा।
  • व्यक्ति धन, वाहन, भूमि और बड़े भवनों से संपन्न होगा।
  • एक के पास अमीर मखमली कपड़े होंगे, उसके पास नौकर होंगे और उसके पास हाथी, घोड़े और कार होंगे।
  • 24वें से 28वें वर्ष में धन की प्राप्ति होगी।
  • खेती और खेती से लाभ हो सकता है।
  • यात्रा, शौर्य, अग्नि, शस्त्र, सोने और रत्नों के व्यापार से धन अर्जित किया जा सकता है।
  • दूसरों के पैसे से काम करने पर नुकसान होता है।
  • सट्टा, लॉटरी और दौड़ में व्यक्ति अच्छा करता है।
  • एक अच्छा खाना खाता है।
  • किसी के पास विपरीत लिंग की अच्छी संगति है।
  • भाई की दौलत मिलती है।
  • उसके प्रभाव में आकर शत्रु उसकी प्रशंसा करने लगते हैं।
  • डॉक्टरों के लिए यह ग्रह स्थिति उपयुक्त है।
  • सर्जन और स्त्री रोग विशेषज्ञ प्रसिद्धि प्राप्त करते हैं।
  • वकील धन प्राप्त करते हैं और अदालत को प्रभावित करते हैं।
  • इंजीनियर, फिटर, सुनार और लोहार के लिए स्थितियाँ अच्छी हैं।
  • तीन पुत्र होंगे।
  • उनकी जमानत देनी होगी।
ग्यारहवें भाव में मंगल

ज्योतिष में ग्यारहवें भाव में मंगल में अशुभ फल :

  • व्यक्ति वाणी में कठोर, घमंडी, झगड़ालू, क्रोधी, जीवंत, प्रवासी, अभिमानी और कपटी होता है।
  • कोई उदास और निराश हो सकता है।
  • एक कामुक हो सकता है।
  • बच्चों को दर्द हो सकता है।
  • बच्चे कष्ट देते हैं और पुत्र कष्ट दे सकता है।
  • छोटे बच्चे को नुकसान हो सकता है।
  • आग और चोरों से हानि हो सकती है।
  • किसी के मित्र भरोसेमंद नहीं होते हैं, और वे उसे धोखा दे सकते हैं।

नोट: शुभ और अशुभता की डिग्री कुंडली (जन्म-चार्ट) के संपूर्ण विश्लेषण पर निर्भर करेगी।

अंग्रेजी में ग्यारहवें भाव में मंगल के बारे में ओर ज्यादा रोचक और विस्तारपूर्वक जानने के लिए, जाये : Mars in 11th House

पाएं अपने जीवन की सटीक ज्योतिष भविष्यवाणी सिर्फ 99 रुपए में। ज्यादा जानने के लिए : यहाँ क्लिक करे