मत्स्य सम्पदा योजना (Matsya Sampada Yojana in Hindi)

मत्स्य सम्पदा योजना : केंद्र सरकार द्वारा वर्ष तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा गया है। हम सभी जानते हैं कि देश की अर्थव्यवस्था में कृषि एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसके लिए सरकार द्वारा किसानों की आवश्यकता के अनुसार विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। इस समय सरकार मछली पालन यानी एक्वाकल्चर करने वाले किसान को बढ़ावा दे रही है। भारत में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सरकार द्वारा प्रधान मंत्री मत्स्य सम्पदा योजना शुरू की गई है।

केंद्र की मोदी सरकार ने इस योजना को 'नीली क्रांति' नाम दिया है। इस योजना के तहत जलीय कृषि करने वाले किसानों को बैंक ऋण, बीमा आदि कई प्रकार की सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना क्या है? (What Is Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana in Hindi) :

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (PMMSY) भारत सरकार द्वारा संचालित एक योजना है, जिसके माध्यम से मत्स्य व्यवसाय से जुड़े लोगों की आय बढ़ाने के साथ-साथ उनके जीवन स्तर में सुधार किया जाता है। इस योजना के तहत सरकार जलीय कृषि को बढ़ावा देना चाहती है, जिसे जलीय क्षेत्रों में एक बड़े पामानेन व्यवसाय तक बढ़ाया जा सकता है।

PMMSY योजना के तहत मत्स्य पालन के क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को सरकार द्वारा 3 लाख रुपये का ऋण प्रदान किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के लिए बजट में 20,050 करोड़ रुपये का कोष बनाया गया है. इस पैसे का इस्तेमाल इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार के लिए किया जाएगा, जिससे इस सेक्टर में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना का उद्देश्य (Purpose Of Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana in Hindi) :

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही PMMSY योजना मछली पालन के क्षेत्र में अब तक की सबसे बड़ी योजना है। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य देश में मछली पालन को बढ़ावा देना है। इसके तहत मछली की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाएगा, साथ ही विभाग द्वारा जिला स्तर पर मत्स्य पालन करने वालों को नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा.

आपको बता दें कि देश के ज्यादातर राज्यों में मछली की मांग बहुत ज्यादा है। ऐसे में अगर इस सेक्टर के विकास के साथ-साथ इसे अपग्रेड करने पर भी ध्यान दिया जाए तो

इससे रोजगार के अवसर काफी बढ़ जाएंगे। PMMSY योजना का मुख्य उद्देश्य मत्स्य पालन क्षेत्र को और अधिक विकसित करना है।

देश में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं। आपको बता दें कि वर्तमान में भारत सरकार विदेशों में मछलियों के निर्यात से लगभग 46,589 करोड़ रुपये की आय अर्जित कर रही है और अब सरकार ने मछली निर्यात पर 1 लाख करोड़ रुपये की आय प्राप्त करने का लक्ष्य रखा है. इसके लिए सरकार मत्स्य पालन से संबंधित शिक्षा प्रदान करने के लिए कॉलेजों में सर्टिफिकेट कोर्स शुरू करने पर विचार कर रही है.

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के लाभार्थी (Beneficiaries of Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana in Hindi) :

  • मछुआ
  • मछली किसान
  • मछली श्रमिक और मछली विक्रेता
  • मछली विकास निगम
  • स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) / संयुक्त देयता समूहों (जेएलजी) में
  • मछली पकड़ने का क्षेत्र
  • मछली सहकारी समितियां
  • मत्स्य पालन संघ
  • उद्यमी और निजी फर्म
  • मछली किसान उत्पादक संगठन/कंपनियां (एफएफपीओ/सीएस)
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/महिला/विकलांग व्यक्ति

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना का प्रभाव (Impact of Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana in Hindi) :

  • इस योजना के माध्यम से वर्ष 2018-19 में मछली उत्पादन को 137.58 लाख मीट्रिक टन बढ़ाकर 2024-25 तक 220 लाख मीट्रिक टन करने में मदद मिलेगी।
  • PMMSY मछली उत्पादन में लगभग 9 प्रतिशत की औसत वार्षिक वृद्धि को बनाए रखने में मदद करेगा।
  • पीएम मत्स्य सम्पदा योजना के तहत मत्स्य पालन क्षेत्र के जीवीए का कृषि जीवीए में योगदान 2018-19 में 7.28% से बढ़कर 2024-25 तक लगभग 9 प्रतिशत हो जाएगा।
  • इससे मछली निर्यात आय को वर्ष 2018-19 के 46,589 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 2024-25 तक लगभग 1 लाख करोड़ रुपये करने में मदद मिलेगी।
  • वर्तमान में जलीय कृषि में उत्पादकता औसतन 3 टन से बढ़कर लगभग 5 टन प्रति हेक्टेयर हो जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से फसलों के नुकसान को रिपोर्ट किए गए 20-25 प्रतिशत से घटाकर लगभग 10 प्रतिशत कर दिया जाएगा।
  • इस योजना से घरेलू मछली की खपत लगभग 5 से 6 किलो से बढ़ाकर लगभग 12 किलो प्रति व्यक्ति करने में मदद मिलेगी।

प्रधान मंत्री मत्स्य सम्पदा योजना पात्रता (Prime Minister Matsya Sampada Yojana Eligibility in Hindi) :

  • आवेदक भारत का स्थायी नागरिक होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत देश के सभी मछली किसान और किसान आवेदन कर सकते हैं।
  • इस योजना के तहत प्राकृतिक आपदाओं से पीड़ित लोगों को लाभ प्रदान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के लिए दस्तावेज (Documents for Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana in Hindi) :

  • आधार कार्ड
  • मछली पकड़ने का कार्ड
  • अधिवास प्रमाणपत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक के खाते का विवरण
  • आवेदक का जाति प्रमाण पत्र

मत्स्य सम्पदा योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें (How To Apply PM Matsya Sampada Yojana Online in Hindi) :

  • प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट क्लिक करें पर जाना होगा।
  • होम पेज पर आपको स्कीम सेक्शन में PMMSY के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपको बुकलेट ऑफ पीएम मत्स्य सम्पदा योजना के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने योजना का आवेदन फॉर्म खुल जाएगा, जिसमें पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करने के बाद दस्तावेज अपलोड कर सबमिट पर क्लिक कर दें।
  • इस तरह प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।