Categories: Entertainment
| On 1 month ago

Meena Kumari | मीना कुमारी

मीना कुमारी का नाम बॉलीवुड में बड़े अदब व इखलाक से लिया जाता है। मीना कुमारी एक महान अभिनेत्री थी। मीना कुमारी के अभिनय में गहराई, आवाज में खनक, आंखों में अभिव्यक्ति व व्यक्तित्व में विराटता थी। मीना कुमारी फ़िल्म जगत की अतिश्योक्ति बन गई थी व हर अभिनेता की यह हसरत मीना कुमारी के साथ फ़िल्म में काम करने की थी। आज भी मीना कुमारी फिल्मों के दीवानों की पहली पसंद है।

Who was Meena Kumari? | मीना कुमारी कौन थी ?

मीना कुमारी का असली नाम महजबीं बानों था। मीना कुमारी का जन्म ०१ अगस्त १९३३ में हुआ था। मीना कुमारी की मृत्यु 31 मार्च 1972 लीवर की बीमारी के कारण 1972 में हुई थी। मीना कुमारी का जन्म मुंबई में अली बक्श व् माता प्रभावती देवी के यहां हुआ था। मीना कुमारी की बड़ी दोनों बहने खुर्शीद जुनियर और मधु (बेबी माधुरी) भी फिल्म अभिनेत्री थीं।

Tragedy Queen Meena Kumari | ट्रेजेडी क़्वीन मीना कुमारी

मीना कुमारी को फिल्म इंडस्ट्री में " ट्रेजिडी क़्वीन " के नाम से पुकारा जाता था। मीना कुमारी की अधिकतर फिल्मो के किरदार गम में डूबे हुए होते थे। मीना कुमारी की मशहूर फिल्में ,साहिब बीबी और गुलाम, दिल एक मंदिर , काजल , फूल और पत्थर , बैजू बावरा, मैं चुप रहेगी, मेरे अपने

एवं दुश्मन थी। मीना कुमारी की पाकीजा को मील का पत्थर माना जाता हैं। फिल्म मेरे अपने आज भी लोगो की पसंदीदा फिल्म हैं। मीना कुमारी की अधिकतर फिल्मो में उनकी भूमिका बहुत गंभीर एवं गम में डूबी हुई थी। मीना कुमारी आपने किरदार में इस कदर डूब जाती थी कि उनको अपने किरदार से उबरने में बहुत समय लगता था।

ऐसा कहा जाता हैं कि मीना कुमारी आंसू बहाने वाले द्र्श्यो की शूटिंग हेतु ग्लिसरीन का उपयोग नहीं करती थी। मीना कुमारी के किरदारों का असर उनके निजी जीवन पर पड़ने लगा था। उनके द्वारा निभाए गए किरदार बहुत त्यागमय , दुखी, परेशान एवं मूल्यों की रक्षा करने वाले होते थे। जैसा कि हम जानते हैं कि वे अपने किरदारों में ही डूबी रहती थी अतः रंगमंच की ट्रेजेडी क़्वीन असल जिंदगी में भी ट्रेजेडी क़्वीन बन कर रह गई।

Death of Meena Kumari | मीना कुमारी की मृत्यु

मीना कुमारी की मृत्यु पाकीजा फिल्म के रिलीज के बाद 31 मार्च 1972 को हो गई थी। मीना कुमारी की अपने पति अमरोही से अनबन रहने के कारण वे एकाकी जीवन जीने लगी थी। इसके अलावा उनके करीबियों के अनुसार वे अत्यधिक मात्रा में शराब का सेवन करने लगी थी।अधिक मात्रा में शराब के सेवन, एकाकी जीवन एवं नैराश्य के कारण वे अपने सेहत के

प्रति जागरूक नहीं रही इस कारण उनको अनेक प्रकार की शारीरिक समस्याओ का सामना करना पड़ा। शराब के अधिक सेवन से उनके लीवर पर पड़े गंभीर असर ने उनकी जान ले ली थी।

The truth of Meena kumari | मीना कुमारी का सच

मीना कुमारी के बारे में बहुत सी बाते समाज में प्रचलित हैं। मीना कुमारी के बारे में यह आम चर्चा हैं कि अपने पति कमाल अमरोही से अलगाव के बाद वे शराब पीती थी , वे अपने पति द्वारा लगाई गई पाबंदियों जैसे कि , किसी गैर पुरष से शूटिंग के समय मेकअप रूम में अकेले नहीं मिलना इत्यादि , को नहीं मानती थी। इसके अतिरिक्त भी उन पर कुछ चर्चाये आम थी एवं हैं। उनके परिवार के सदस्य इन सब बातो को लेकर बताते हैं कि निश्चित रूप से अपने पति कमाल अमरोही से अलगाव होने के बाद वे जब कार्टर रोड शिफ्ट हो गई तब उन्होंने शराब का सेवन आरम्भ कर दिया था। कमाल अमरोही से उनकी अनबन अवश्य रही थी लेकिन कमाल अमरोही ने उन पर कभी भी हाथ नहीं उठाया था।

Meena Kumari and Tagore Family | मीना कुमारी का टैगोर परिवार से संबंध

मीना कुमारी की नानी का नाम हेमसुन्दरी था। हेमसुन्दरी का विवाह भारत के प्रसिद्ध टैगोर परिवार के पुत्र के साथ हुआ था। टैगोर परिवार के इस

सदस्य का नाम जदुनन्दन था। जदुनन्दन की मृत्यु हो जाने के कारण हेमसुन्दरी ने बंगाल को छोड़ करके मेरठ में रहना शुरू कर दिया था। हेमसुन्दरी ने मेरठ में नौकरी की थी। इसी नौकरी के दौरान हेमसुन्दरी ने अपनी दूसरी शादी मेरठ निवासी प्यारे शंकर से कर ली थी। हेमसुन्दरी एवं प्यारेलाल के घर में दो पुत्रियों ने जन्म लिया था। प्रभावती इनकी एक बेटी थी। प्रभावती की बेटी मीना कुमारी थी। इस प्रकार टैगोर परिवार से मीना कुमारी का कोई रक्त संबंध नहीं होते हुए भी एक अप्रत्यक्ष संबंध अवश्य था।

Meena Kumari and kamaal Amrohi | मीना कुमारी एवं कमाल अमरोही

' कुछ तो लोग कहेंगे। लोगों का काम हैं कहना।

मीना कुमारी एवं कमाल अमरोही को लेकर फिल्म इंडस्ट्री एवं समाज में अनेक प्रकार की कटु बाते की गई हैं। ये भी कहा गया हैं कि कमाल अमरोही मीना कुमारी के प्रति बहुत आक्रामक Violent थे। कमाल अमरोही द्वारा मीना कुमारी की जासूसी करवाई जाती थी। मीना कुमारी पर कमाल अमरोही ने सख्त पाबंदिया लगा रखी थी। अब इन बातो की सच्चाई सिर्फ मीना कुमारी व कमाल अमरोही के अलावा उनके नजदीक परिजनों को ही हो सकती हैं।

कमाल अमरोही व मीना कुमारी को लेकर दो तथ्य उपरोक्त समस्त बातो पर भारी पड़ते हैं।

1. कमाल अमरोही एवं मीना कुमारी दोनों जबरदस्त प्रतिभाशाली व्यक्तित्व थे।

2. दोनों में जबरदस्त प्यार था। इसी प्यार का परिणाम उनकी शादी थी। मीना कुमारी अपने समय की सुपर स्टार थी। कमाल अमरोही भी जबरदस्त निर्देशक थे। उन दोनों ने हजारो विकल्प को छोड़कर परस्पर शादी की थी।

3. कमाल अमरोही ने अपनी मृत्यु के बाद अपने परिवार के लोगो को कहा था कि उनकी कब्र मीना कुमारी की कब्र के पास खुदवाये। आज उन दोनों की पास-पास खुदी कब्रे उनके प्यार की गवाह हैं।