Categories: Entertainment
| On 3 years ago

Movie Review and dialogues :Happy fir bhag jayegi.

फ़िल्म " हैप्पी फिर भाग जाएगी" : समीक्षा मय सम्वाद।

"लफड़े करोड़ है, लेकिन, कोई गल नही"।।

2016 में रिलीज "हैप्पी भाग जाएगी" ने क़रीब 50 करोड़ का कलेक्शन किया था। इस सफल फ़िल्म के सीक्वल के रूप में इरोज इंटरनेशनल ने गत शुक्रवार को "हैप्पी फिर भाग जाएगी" रिलीज की है। पिछली कहानी में फ़िल्म की एकमात्र हैप्पी का कनेक्शन पाकिस्तान से था लेकिन इस बार डबल हैप्पी का कनेक्शन चाइना से रखा गया है। इस बार फ़िल्म में दो हैप्पी है। पहली सोनाक्षी सिन्हा और दूसरी डायना पेंटी।

फ़िल्म की शुरुआत कन्फ्यूजन से शुरू होती है। एक हैप्पी की गलतफहमी में दूसरी हैप्पी का अपहरण हो जाता है। शंघाई की खूबसूरती व खुशनुमा लोकेशन्स के बीच दोनो हैप्पी के बीच का कन्फ्यूजन कहानी को आगे बढ़ाता है। इन सबके बीच मे चाइनीज माहौल और पंजाबी म्यूज़िक को बेहतरीन तऱीके से सिनेमोटोग्राफ किया गया है।

उस्मान, खुशी, अदनान, फ़ा और बग्गा सब मिलकर

मुसीबतों में घिरी दोनो हैप्पी की मदद को एकजुट हो जाते है। कुछ भागदौड़ व कॉम्प्लीकेशंस के बावजूद फ़िल्म का हैप्पी एन्ड हो जाता है।

कुछ चुटीले सम्वाद-

1.एक का नाम दूसरे का नाम खुशी लेकिन मजाक नही समझते।
2.मुल्क तो आजाद हो गया लेकिन कश्मीर का क्या करें?
3. तू कॉम्प्लिमेंट दे रहा है कि कंडोलेन्स।।
4. घूरना बन्द कर चाइनीज में इसे बदतमीजी कहते है।
5. तू गिल है तो मैं शेरगिल हूँ।
6. लोगो देखकर कम्पनी पहचान

ली तूने।
7. हमारा पकवान पकने से पहले लोगो ने लात मारकर हमारी देग गिरा दी।
8. अरे हम पगले है। अक्लमन्दी की बातें हमको सूट नही ना होती।
9. मेरी लाइफ का जनाजा उठा के तू यहाँ मुजरा कर रहा है।
10. तो तू अब मेरे जख्मों पर उर्दू छिड़क रहा है।
11. तेरेको चढ़ गई है बग्गा। तूँ पाकिस्तानी को भाई बोल रहा है।

ज्यादतर रिपोर्ट्स फ़िल्म के बेशक पक्ष में नही है लेकिन आप इसको देख डाले क्योकि फ़िल्म ठीक ठाक है। म्यूजिक गुड है, कॉमेडी भी नेचुरल है, स्टार कास्ट बढ़िया है और फ़िल्म टोटलिटी में ठीक है। फ़िल्म का स्ट्रांग पॉइंट इसका म्यूजिक, नॉन स्टॉप कन्फ्यूजन, परफॉर्मेंस एवम म्यूजिक है। सोनाक्षी व जिम्मी ने जम कर एक्टिंग की है और बाकी सब भी शानदार है।

" जिंदगी की रोड पर लाइफ का लोड है, कोई गल नही"।

आप रिपोर्ट्स को छोड़ दो इस फ़िल्म का आनंद लो।