Categories: Government Updates
| On 7 months ago

MYKY Rajasthan : Mukhymantri Yuva Koshal Yojna

मुख्यमंत्री युवा कौशल योजना : रोजगारोन्मुख विशेष कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम आरम्भ !

राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम के माध्यम से राजकीय महाविद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिये रोजगारोन्मुख विशेष कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम करवाये जाने बाबत्।

राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम (RSLDC) द्वारा राज्य के राजकीय महाविद्यालयों में अध्यानरत विद्यार्थियों के लिये एक विशेष योजना मुख्यमंत्री युवा कौशल योजना (MMYKY) के माध्यम से रोजगारोन्मुख विशेष कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम आरम्भ करवाये जा रहे हैं। इस योजना में राजकीय महाविद्यालयों में स्नातक/स्नातकोत्तर अन्तिम वर्ष में अध्ययनरत विद्यार्थियों को रोजगारोन्मुख कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा, जिससे कि लाभार्थी रोजगार प्राप्ति में सफल अथवा योग्य उद्यमी बन सके। प्रथम चरण में राजकीय महाविद्यालयों के 6,000 चयनित विद्यार्थयों को प्रशिक्षण करवाये जाने का प्रस्ताव है। इस योजना के सम्बंध में महत्वपूर्ण बातें निम्नलिखित है-

1. इस योजना में कितने कोर्सेस सम्मिलित हैं?

इस योजना में कुल 39 कोर्स सम्मिलित किये गये है, जिनकी कोर्स सूची संलग्नक A पर दी गई है।

2. इस प्रशिक्षण के लिये पात्र आवेदक कौन है ?

• इस प्रशिक्षण में स्नातक/स्नातकोत्तर अन्तिम वर्ष के उन विद्यार्थियों को प्राथमिकता दी जानी है! जो प्रशिक्षण उपरान्त सम्बंधित सैक्टर्स में रोजगार/निजी व्यवसाय करने की इच्छा रखते हों। तथापि, स्थान उपलब्ध होने पर स्नातक द्वितीय वर्ष/ स्नातकोत्तर पूर्वार्द्ध के विद्यार्थियों को भी इनमें प्रवेश दिया जा सकेगा। अत: स्नातक द्वितीय एवं तृतीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर पूर्वार्द्ध एवं उत्तरार्द्ध के विद्यार्थी ही आवेदन करें।

यह कौशल प्रशिक्षण केवल राजकीय महाविद्यालयों में अध्ययनरत नियमित विद्यार्थियों के लिये ही उपलब्ध है। इसमें अन्य विद्यार्थी- युवा आवेदन के पात्र नहीं है। आवेदक विद्यार्थी के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।

3. ये प्रशिक्षण कहां दिये जायेंगे तथा बैच का साइज क्या होगा?

ये प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्बंधित महाविद्यालयों में ही आयोजित किये जायेंगे। सभी अन्तिम चयनित विद्यार्थियों को उनके महाविद्यालय में ही प्रशिक्षण उपलब्ध करवाया जायेगा। परन्तु प्रशिक्षण के लिये निम्न शर्ते रहेगी-
* किसी कोर्स में प्रशिक्षण हेतु एक बैच में न्यूनतम 20 एवं अधिकतम 35 ही विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जा सकेगा। 20 से कम विद्यार्थी होने पर उस महाविद्यालय में कोर्स आरम्भ नहीं होगा।
*35 से अधिक विद्यार्थियों द्वारा किसी कोर्स की मांग होने पर विद्यार्थियों का चयन हेतु निश्चित प्रकिया अपनायी जायेगी। परन्तु किसी कोर्स के लिये अधिक मांग होने पर एक ही महाविद्यालय में
एक कोर्स के एक से अधिक बैच अनुमत किये जा सकते हैं। इस संबंध में बैच आवंटन हेतु अन्तिम निर्णय RSLDC एवं आयुक्तालय कॉलेज शिक्षा (CCE) द्वारा किया जायेगा।
*कौशल प्रशिक्षण हेतु किसी महाविद्यालय का चयन करना वहां से प्राप्त आवेदनों एवं प्रशिक्षण प्रदाता एजेन्सी की उपलब्धता पर निर्भर करेगा।

4. इनमें से किसी प्रशिक्षण में प्रवेश के लिये क्या फीस देनी होगी?

ये प्रशिक्षण पूर्णतः निःशुल्क है। इसके लिये विद्यार्थियों से किसी प्रकार की कोई फीस नहीं ली जायेगी।

5. प्रशिक्षण का समय क्या रहेगा?

*प्रशिक्षण का समय का समय महाविद्यालय में नियमित कक्षाओं के समय के उपरांत ही रखा जायेगा।
*प्रशिक्षण का कार्य प्रतिदिन 4 घण्टे रहेगा।
*प्रशिक्षण कार्य यथा संभव केवल कार्य दिवसों में ही निष्पादित करवाया जायेगा।

6.प्रशिक्षण कौन देगा?

प्रशिक्षण कार्य हेतु RSLDC द्वारा प्रशिक्षण दाता विशेषज्ञ संस्थाओं का चयन कर प्रशिक्षण कार्य हेतु महाविद्यालय स्तर पर विद्यार्थियों द्वारा चयनित कौशल के आधार पर उपलब्ध करवाया जायेगा।
इन चयनित प्रशिक्षण दाता एजेन्सीज को महाविद्यालय/ विद्यार्थी द्वारा किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नहीं करना है। तथापि, प्रशिक्षण कार्य हेतु आधारभूत सुविधाएं महाविद्यालय द्वारा निःशुल्क उपलब्ध करवानी होंगी।

7. प्रशिक्षण पूर्णता के क्या नियम है?

• सभी पंजीकृत विद्यार्थियों एवं पढाने वाले प्रशिक्षकों की बायोमैट्रिक उपस्थिति अनिवार्य रहेगी।
• प्रशिक्षणार्थियों के लिये 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य है। चूंकि यह मशीनीकृत उपस्थिति व्यवस्था है, अत: उपस्थिति के प्रति स्वयं प्रशिक्षणार्थियों को सचेत रहना होगा। 75 प्रतिशत उपस्थिति पूर्ण होने पर ही प्रशिक्षणार्थी अपने चयनित कोर्स की जांच परीक्षा में प्रविष्ट
होने के लिये पात्र होगा।
• एक बार प्रवेश लेने के उपरान्त प्रशिक्षण पूरा नहीं करने अथवा छोड देने अथवा अनुपस्थित रहने के कारण अयोग्य होने की स्थिति में ऐसे विद्यार्थियों को पुनः किसी अन्य कोर्स में प्रवेश नहीं दिया जायेगा।

8. प्रशिक्षण में सहभागिता से विद्यार्थियों को क्या लाभ होंगे?

*यह योजना प्रवेश एक लाभ अनेक की तर्ज पर राजकीय

महाविद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को संस्था में उनके नियमित डिग्री कोर्स हेतु प्रवेश के साथ साथ उनके भविष्य निर्माण हेतु अनेकों
सुनहरे अवसर उपलब्ध करवाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।
* विद्यार्थी द्वारा चयनित कोर्स का प्रशिक्षण कार्यक्रम, जो कि अधिकांशतः कक्षा अध्यापन पद्धति आधारित है, पूर्ण करने पर जांच परीक्षा आयोजित की जायेगी।
*जांच परीक्षा में सफल होने पर प्रशिक्षण सफलता प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा, जो कौशल विभाग द्वारा प्रतिहस्ताक्षरित होगा।
*प्रत्येक कोर्स में श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिये महाविद्यालय एवं राज्य स्तर पर पुरुस्कृत करने की योजना है।
*सफलतापूर्वक प्रशिक्षण समाप्ति उपरान्त RSLDC एवं CCE के संयुक्त तत्वावधान में जॉब फेयर आयोजित करवाये जायेंगे ताकि विद्यार्थियों को अधिकाधिक नियोक्तओं से जुडने का लाभ मिल

9. आवेदन कैसे करना है?

इस आदेश पत्र के साथ आवेदन हेतु फॉर्म प्रारुप संलग्नक B पर संलग्न किया गया है। इस आवेदन पत्र को भरकर विद्यार्थियों को अपने महाविद्यालय में नवाचार एवं कौशल विकास प्रभारी को जमा करवाना है। अलग से अथवा सादे कागज पर किया गया आवेदन स्वीकार नहीं होगा।
आवेदन पत्र का प्रारुप आयुक्तालय कॉलेज शिक्षा राजस्थान की वैबसाइट
http://hte.rajasthan.gov.in/dept/dce/ पर डाउनलोड के अन्तर्गत भी उपलब्ध है।
महाविद्यालय अपने स्तर पर भी विद्यार्थियों को यह आवेदन पत्र निःशुल्क उपलब्ध करवायेंगे, इसके लिये कोई राशि नही ली जायेगी। एक विद्यार्थी को एक ही आवेदन दिया जायेगा। आवेदन पत्र में प्रत्येक विद्यार्थी को तीन कौशल विकल्प भरने हैं। इनमें से

जिस भी कोर्स में 20 विद्यार्थियों का ग्रुप बनेगा, उसमें वरीयता आधार पर प्रवेश दिया जायेगा।

*आवेदक विद्यार्थी अपने आवेदन पत्र पर अपना नाम सुपाठ्य अक्षरों में, अपना मोबाइल नम्बर, ई-मेल आई.डी. तथा अपने महाविद्यालय का नाम एवं कक्षा को उल्लेख अवश्य करें।
* आवेदन की अन्तिम तिथि दिनांक 16 सितम्बर 2019 है। इस दिनांक उपरान्त प्राप्त आवेदनों पर विचार नहीं किया जा सकेगा।
* इस दिनांक तक प्राप्त आवेदनों की सूचना महाविद्यालय द्वारा आयुक्तालय के निर्देशानुसार अन्तिम दिनांक (16 सितम्बर 2010) की सांयकाल 5 बजे आवश्यकरुप से प्रेषित करनी होगी।

10. आवदेन से पूर्व कुछ समझना हो तो?

* इच्छुक आवेदक इन कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों हेतु राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम (RSLDC) की वैबसाइट पर मुख्यमंत्री युवा कौशल योजना (MMYKY)' पर क्लिक करके विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
* इन कोर्सेज के बारे में अथवा किसी मार्गदर्शन हेतु RSLDC में स्कीम टॉस्क लीड श्री विक्रम राघव से उनके दूरभाष नम्बर 8890581920 अथवा ई-मेल आई.डी. vikram.raghav@in.gt.com
पर सम्पर्क कर सकते है।
इस सम्बंध में किसी विशेष सहायता हेतु आयुक्तालय कॉलेज शिक्षा राजस्थान, जयपुर में प्रभारी अधिकारी डा. विनोद कुमार भारद्वाज को उनके दूरभाष नम्बर 9414304650 अथवा ई-मेल आई. डी. skill.cceraj@gmail.com पर सम्पर्क कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री युवा कौशल योजना के तहत विभिन्न प्रशिक्षण

मुख्यमंत्री युवा कौशल योजना हेतु आवेदन का प्रारूप