Categories: NationalNews

National Highway : देश के इस हाइवे पर प्रदूषण रोकने सरकार ने की पहल, 10 लाख पौधे लगाने की योजना

National Highway देश में केंद्र सरकार की भारतमाला परियोजना के तहत बन रहे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे को हरियाली की वजह से ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे भी कहा जा रहा है। देश ही नहीं विश्व के सबसे लम्बे हाइवे में शुमार होने वाले 1350 किलोमीटर लंबे इस हाइवे पर प्रदूषण कम करने के लिए सरकार की और से अनोखी पहल की जा रही है । इसके तहत यहां पर लगभग 10 लाख पौधे लगाए जाएंगे। नेशनल हाइवे पर लगने वाले इन खास 5 किस्म के पौधों की खासियत यह है कि यह वाहनों से होने वाले प्रदूषण कम करेंगे।

इसको लेकर अधिकारियों का कहना है कि देश के सबसे लंबे हाईवे पर स्नेक, एरिका, परदेशी नीम, गरबेरा व जाइलीन की पांच किस्मो के पौधे लगाए जाएंगे। ये पौधे वाहनों से होने वाले पॉल्यूशन को कम करने के साथ ही पर्यावरण को भी स्वच्छ व शुद्ध रखेंगे। जिनमे एरिका पॉम शामिल है जो कार्बनडाइ ऑक्साइड ग्रहण करता है

और फिर ऑक्सीजन छोड़ता है। इसके अलावा स्नेक प्लांट जहरीली गैसों को पकड़ने का कार्य करता है । यह पढ़े हाईवे के किनारे व बीच में लगाए जाएंगे।

वर्षा जल संरक्षण के लिए बनेंगे टैंक

हाईवेके बारे में खास बात यह होगी कि वर्षा जल को संरक्षित करने के लिए यहां वॉटर हार्वेस्टिंग टैंक भी बनेंगे। राजस्थान के दौसा जिले में लगभग 130 टैंक बनाए जाएंगे। ऐसा माना जा रहा है कि इस पूरे हाईवे पर 500 मीटर की दूरी पर लगभग 2 हजार टैंक बनेंगे। जिसमे प्रत्येक टैंक की क्षमता 700 लीटर पानी की होगी। यानी हर वर्ष होने वाली वर्षा का करीब 14 लाख लीटर पानी इन टेंकों के माध्यम से बचाया जाएगा। इसी पानी का यूज़ इन प्लांट के लिए किया जाएगा।

राजस्थान में 374 KM लम्बा होगा National Highway

National Highway का 2023 तक काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। फ़िलहाल अभी तक 350 किलोमीटर का National Highway बनकर

तैयार हो चुका है। यह National Highway राजस्थान के अलवर, भरतपुर, सवाई माधोपुर, दौसा, टोंक, बूंदी व कोटा जिलों से होकर गुजरेगा । इस एक्सप्रेस-वे की लंबाई 374 किलोमीटर है। जिसमें 16 हजार 600 करोड़ रुपए खर्च होंगे। यह एक्सप्रेस-वे दिल्ली और मुंबई के बीच की दूरी कम करने के लिए बनाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें

Air India के जल्द आ सकते हैं अच्छे दिन, टाटा ग्रुप ने लगाई बोली
IIT Delhi BDES Program : IIT दिल्ली में अगले वर्ष से शुरू होगा 4 वर्षीय BDES प्रोग्राम
Private Universities News : निजी विश्वविद्यालयों की मनमानी पर लगेगी रोक, सरकार ने तय किए नियम
Rajasthan PTET 2021 : अभ्यर्थियों की बढ़ी धड़कने, जल्द जारी हो सकता है रिजल्ट
Agriculture Supervisor Exam : इस बार परीक्षा केंद्रों पर रहेगी सख्ती
IPL 2021 Phase 2 Schedule : 19 सितम्बर से शुरू होगा आईपीएल का दूसरा चरण, 27 दिन में होंगे 31 मैच
REET Exam 2021 : नागौर जिलें में रीट को लेकर बनाए 85 परीक्षा केंद्र, प्रशासन कर रहा तैयारी

Heavy Rain In India : इन राज्यों में बारिश से बदहाल हुए हाल, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट
Telecom sector को केंद्र सरकार ने दी खुशखबरी, राहत पैकेज को मंजूरी
School Reopen News : कक्षा 6 से 8 के स्टूडेंट्स को स्कूल खुलने के लिए करना पड़ेगा इंतजार
TIME Influential List : दुनिया के 100 प्रभावशाली नेताओं में फिर आया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम
Rajasthan Assembly News : विधानसभा में उठा परकोटे के अतिक्रमण का मामला
JNVU Jodhpur में नए सत्र से शुरू होगा उर्दू विभाग, हंगामे के बीच मिली सहमति
Farmer's Protest : सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब सिंधु बॉर्डर से हटेंगे किसान

दिल्ली से मुंबई का सफर होगा आसान

इस हाइवे के बनने से दिल्ली से मुंबई तक का सफर आसान हो जाएगा। वर्तमान में दिल्ली से मुंबई की दूरी सड़क मार्ग से करीब 1510 किलोमीटर है। एक्सप्रेस-वे के बनने के बाद यह दूरी 1350 किलोमीटर ही रह जाएगी। ऐसे में

National Highway बनने के बाद कार से केवल 12 घंटे में दिल्ली से मुंबई तक का सफर तय कर सकेंगे।

National Highway निर्माण पर लगभग 90 हजार करोड़ रुपए की लागत आएगी। वर्तमान में दिल्ली से दौसा तक एक्सप्रेस-वे का 70 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। यहां जयपुर-आगरा नेशनल हाईवे 21 से एक्सप्रेस-वे को लिंक करते हुए भाण्डारेज बंध पर सर्किल व टोल नाका बनाने का काम चल रहा है। इससे लोगों को जयपुर, आगरा व करौली की तरफ जाने में आसानी होगी। दिल्ली से दौसा तक का National Highway इसी वर्ष के अंत तक शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है।