राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम (National social assistance Programme in Hindi)

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम : इस योजना के तहत राज्य सरकार तथा केंद्र सरकार अनुच्छेद 41 और 42 के अनुसार अपने राज्य में रहने वाले नागरिकों को जो बेरोजगारी विकलांगता वृद्धावस्था या किसी बीमारी से पीड़ित है तो उस व्यक्ति को राज्य सरकार द्वारा आर्थिक राशि प्रदान की जाती है। जिससे वह अपनी समस्या का हल निकाल सके इस कार्यक्रम के तहत जो परिवार अभाव से जूझ रहे हैं उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करना INSAP की पूर्ण परिभाषा है।

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम जिसको सरकार द्वारा स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 1995 को शुरू किया गया था।

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम संविधान का अनुच्छेद 41 राज्य को अपने नागरिकों को बेरोजगारी, वृद्धावस्था, बीमारी और विकलांगता के मामले और अन्य अवांछित परिस्थितियों में अपनी आर्थिक क्षमता और विकास की सीमा के भीतर सरकारी सहायता प्रदान करने के लिए निर्देश देता है।

  • NSAP ग्रामीण विकास मंत्रालय के तहत एक केंद्र प्रायोजित योजना है। यह 15 अगस्त ,1995 से लागू हुई।
  • यह संविधान के अनुच्छेद 41 में निहित राज्य की नीति के निदेशक तत्त्वों की पूर्ति की दिशा में एक महत्त्वपूर्ण कदम को रेखांकित करती है। मूलतः भारत के संविधान का अनुच्छेद 41 राज्य को बेरोज़गारी, वृद्धावस्था, बीमारी और दिव्यांगता के मामले में और अवांछित चाह के अन्य मामलों में इसकी आर्थिक क्षमता और विकास के दायरे में इसके नागरिकों को सार्वजानिक सहायता उपलब्ध कराने का निर्देश देता है।
  • इसका लक्ष्य वृद्धजनों, विधवाओं और दिव्यांग लोगों को सामाजिक पेंशन के रूप में वित्तीय सहायता उपलब्ध कराना है।
  • कवरेज : यह वर्तमान में तीन करोड़ ऐसे लोगों को कवर करता है जो गरीबी रेखा से नीचे BPL जीवनयापन कर रहे हैं जिनमें लगभग 80 लाख विधवाएँ, 10 लाख दिव्यांग और 2.2 करोड़ वृद्ध शामिल हैं।

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम के मुख्य बिंदु (Key Highlights National social assistance Programme in Hindi) :

योजना का नाम :राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम
योजना कब शुरू की गयी :1995
योजना किसके द्वारा शुरू की गयी केंद्र सरकार
योजना का उद्देश्य :असहाय लोगों की सहायता
योजना की अधिकारिक पोर्टल :यहां क्लिक करें

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम के उद्देश्य (Objective Of National social assistance Programme in Hindi) :

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम उन पीड़ा से गुजर रहे लोगों की सहायता करता है जो कि वृद्ध, विधवाओं, विकलांग व्यक्तियों और शोक संतप्त परिवारों को सहायता प्रदान करता है।

यह भी पढ़ें

National Literacy Mission Programme : ग्रामीण युवाओं के लिए शिक्षा का नया अवसर।
National Scheme on Welfare of Fishermen : मछुआरों के लिए सरकार की तरफ से सुनहरा मौका I
नमामि गंगे योजना (Namami Gange Scheme) : गंगा की स्वच्छता की तरफ सरकार का बड़ा कदम।
Members of Parliament Local Area Development Scheme ( संसद सदस्य स्थानीय क्षेत्र विकास योजना।)

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम की योग्यताएं (Eligibility for National social assistance Programme in Hindi) :

  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना (IGNOAPS)
    : इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा वृद्धावस्था से पीड़ित व्यक्ति जिसकी उम्र 60 वर्ष से 79 वर्ष तक है उनको सरकार द्वारा ₹200 धनराशि प्रतिमाह प्रदान की जाते हैं।
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना (IGNWPS) : इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा जो औरतें विधवा हो चुकी है और जिनकी उम्र 40 वर्ष है। उनको सरकार द्वारा ₹300 प्रतिमा धन राशि के तौर पर उपलब्ध करवा जाता है तथा जो महिला 80 साल की उम्र में है उनको ₹500 धन राशि प्रतिमाह दी जाती है।
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विकलांगता पेंशन योजना (आईजीएनडीपीएस) : इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा जो व्यक्ति विकलांगता की श्रेणी में आता है उसको 18 साल की उम्र वालों को सरकार द्वारा ₹200 प्रतिमाह धनराशि उपलब्ध करवाई जाती है और जिनकी उम्र 80 वर्ष से अधिक है उनको सरकार द्वारा ₹500 प्रति माह धनराशि उपलब्ध कराई जाती है।
  • राष्ट्रीय परिवार लाभ योजना (एनएफबीएस) : इस योजना के तहत उन परिवारों को धन राशि प्रदान की जाती है जिनके कर्ता-धर्ता की मृत्यु हो चुकी है जो पहले अपने परिवार का पालन पोषण करते थे इस योजना के तहत सरकार ऐसे परिवारों को आर्थिक तौर पर लम सम ₹20000 की धनराशि मुहैया कराती है।
  • अन्नपूर्णा योजना : इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा उन परिवारों को 10 किलो राशन दिया जाता है। जिससे वह अपना पेट पाल सकें यह सिर्फ उन लोगों के लिए है जो लोग भूख के तौर पर संघर्ष कर रहे हैं।