Categories: National

Nationalism Study In JNU : जेएनवीयू में अब होगी राष्ट्रवाद की पढ़ाई

Nationalism Study In JNU : आतंक के खिलाफ स्टूडेंट्स को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाने के लिए जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में अब सेंटर फॉर नेशनल सिक्योरिटी को गठित किया गया है। इस विभाग को विशेष पद दिया गया है। जो स्वतंत्र रहकर कार्य करेगा। इस कोर्स के तहत देश की सिक्योरिटी के लिए खतरा बने सीमा पार के आतंकवाद व स्टेट स्पॉन्सर्ड आतंकवाद सहित इसके विभिन्न पहलुओं पर डाक्टरेट स्तर की रिसर्च करवाई जाएगी। इसको लेकर यूनिवर्सिटी में विशेषज्ञों की टीम भी तैयार की जा रही है। जो आतंकवाद के विरूद्ध पॉलिसी बनाएगी।

Nationalism Study In JNU : 2016 में लगे थे देश विरोधी नारे

Nationalism Study In JNU : आपको बता दें कि यूनिवर्सिटी में 9 फरवरी 2016 को वामपंथी विचारधारा से ताल्लुक रखने वाले स्टूडेंट्स ने देश विरोधी नारे लगाए थे। लेफ्ट विचारधारा का गढ़ कही जाने

वाली इस यूनिवर्सिटी में इसके बाद से ही कई बदलाव हुए हैं। इसके तहत यूनिवर्सिटी में स्वामी विवेकानंद की मूर्ति लगाई जा चुकी है। इसके अलावा देश की आजादी के लिए शहीद हुए भगतसिंह, वीर सावरकार के नाम पर मार्ग बन चुका है। देश विरोधी नारों से हुई खराब छवि को सुधारने के लिए व छात्रों में राष्ट्रवाद की भावना भरने के लिए इस कोर्स को शुरू किया गया है।

Nationalism Study In JNU Letest News : देश की सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर होगा शोध

यूनिवर्सिटी में अब राष्ट्रीय सुरक्षा अध्ययन केंद्र को शुरू किया जा रहा है। यह केंद्र पिछले दो वर्षों से निष्क्रिय पड़ा है। इसमें देश की सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर नवीन रिर्सच की जाएगी। इसके अलावा स्टूडेंट्स को राष्ट्रवाद का पाठ भी पढ़ाया जाएगा। क्योंकि देश की सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा आतंकवाद

ही है। अब आतंकवाद कई तरहों से फैलाया जा रहा है। जिसमें युवाओं को भी बरगलाकर भर्ती कर दिया जाता है। जिसे रोकने में अध्ययन केंद्र भूमिका निभा सकता है। क्योंकि हाल ही में कई राज्यों के युवा आतंक की आर्मी में शामिल होने के लिए चले गए थे।

Nationalism Study In JNU 2021: आतंक के खिलाफ इन मुद्दों पर होगी रिसर्च

सीमा पार के आतंकवाद, मॉर्डन आतंकवाद, जैविक हथियार, साइबर अपराध, आंतरिक सुरक्षा, सोशल मीडिया, देश के खिलाफ माहौल बनाने की प्रक्रिया पर खोज की जाएगी। इसके अलावा यहां पर कम्पयूटर विज्ञान सहित अन्य तकनीक के विभाग, आतंक के मॉर्डन हथियार आदि पर रिसर्च होगी।

यह भी पढ़ें

Covid Case : फेस्टिवल सीजन से पहले केंद्र सरकार ने दी चेतावनी
FD Investments : अच्छा रिटर्न पाने के लिए इन बातों का रखें ख्याल
Taliban China News : अब चीन के पैसों पर पलेगा अफगानिस्तान
Traffic Rules : अब प्रतिबंधित क्षेत्रों में बजाया हॉर्न तो खैर नहीं
OBC Reservation : मध्यप्रदेश में अब ओबीसी को सरकारी भर्तियों में 27% आरक्षण
Rajasthan : अब विधानसभा को घेरने की तैयारी में बेरोजगार
Cow Protection : अब हाइकोर्ट ने भी कहा गाय को घोषित करें राष्ट्रीय पशु
Housing Flats News : अब होटल की जमीन पर बना सकेंगे मल्टी स्टोरी रेजिडेंशियल फ्लैट्स
Big Controversy : एक्टर नसीरुद्दीन शाह ने मुस्लिमों पर कह दी यह बड़ी बात !
Cow Protection : अब हाइकोर्ट ने भी कहा गाय को घोषित करें राष्ट्रीय पशु
TRAI NEWS : घर में लगवाएं इंटरनेट कनेक्शन, सरकार से पाएं पैसा !!
International News : पाकिस्तान को भारत के मुद्दे पर लगा जोर का झटका
LPG Price Hike : सितम्बर की शुरूआत में ही महंगाई का लगा झटका, गैस कम्पनियों ने फिर बढ़ाए दाम

रिसर्च के लिए इन पेपरों को पढ़ना होगा

  • राष्ट्रीय सुरक्षा की चुनौतियां
  • आंतरिक सुरक्षा
  • पारम्परिक आतंकवाद
  • न्यू टेरर मीडियम
  • डिजिटल
  • जैविक हथियार
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

Nationalism Study In JNU News : आतंकवाद पर रहेगा निशाना

Nationalism Study In JNU : इस कोर्स के बारे में यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर ने बताया कि इसका मकसद किसी भी धर्म को टारगेट करना नहीं है। बल्कि आतंक व आतंकवाद के जनक के खिलाफ टारगेट करना है। इसके लिए आतंक से जुड़े मसलों पर विविध तरीकों से रिसर्च किया जाएगा। देश की सुरक्षा की भावना को ध्यान में रखते हुए इससे जुड़े मामलों पर रिसर्च कर आतंक को पहचानने के लिए एक्सपर्ट की टीम तैयार करना है।