Categories: NewsState

Navjeevan Scheme : अब राजस्थान में नशा छुड़वाने के लिए सरकार चलाएगी अभियान

Navjeevan Scheme Rajasthan : राजस्थान में नशे की प्रवृति को खत्म करने के लिए सरकार अब नवजीवन योजना चला रही है। इसके तहत राजस्थान में नशे की लत में डूबे व हथकढ़ शराब बनाने वाले व उनके परिवारों का इस योजना के तहत पुनर्वास किया जाएगा।

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग का प्रस्ताव स्वीकृत कर नवजीवन योजना का दायरा बढ़ाने के लिए 25.74 करोड़ रुपए के अतिरिक्त बजट को मंजूरी दी है।

बता दें कि राजस्थान में चल रही नवजीवन योजना को बढ़ाने के लिए नया कार्य प्लान राज्य सरकार लागू करेगी। राजस्थान में शराबबंदी आंदोलन चलाने वाले पूर्व एमएलए गुरुशरण छाबड़ा की याद में सरकार ने नशे की लत के विरूद्ध बड़े स्तर पर जन जागरुकता अभियान चलाने का फैसला किया है।

image 76 2 Shivira

हजारों लोगों को होगा Navjeevan Scheme से फायदा

राजस्थान सरकार की इस नई कार्य योजना में नशे की लत वाले परिवारों व लोगों को चयनित किया जाएगा। इसके बाद उनके पुनर्वास के लिए स्कीम से विभिन्न कार्यक्रमों के लिए 22.60 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इसके अलावा टारगेट ग्रुप के 5 हजार लोगों का भी स्किल डवलपमेंट किया जाएगा। इस पर 11.2 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

इसके अलावा इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा करने के लिए 10 करोड़ रुपए खर्च होंगे जिसके लिए बजट में प्रावधान किया गया है।

Navjeevan Scheme में ऐसे परिवारों के स्कूली बच्चों के लिए 70 लाख रुपए की लागत से 2 हजार साइकिलें दी जाएंगी। ऐसे परिवारों के सर्वे के लिए 60 लाख रुपए एवं 500 विद्यार्थियों के हॉस्टल पर 10 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इसके अलावा नशे से जुड़े परिवारों को प्राथमिकता के आधार पर सरकार की विभिन्न योजनाओं से जोड़ा जाएगा।

Navjeevan Scheme Rajasthan : नशे के विरूद्ध पंचायत स्तर पर चलेगा अभियान

नशे की लत के विरूद्ध गुरूशरण छाबड़ा जनजागरूकता अभियान चलाकर ग्रांम पंचायत लेवल पर विभिन्न प्रकार की गतिविधियां की जाएगी। जिन पर 3.14 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसके अलावा बस्तियों में जन जागरूकता कैंपों पर 1.64 करोड़ रुपए, राज्य स्तर पर इलेक्ट्रोनिक मीडिया व समाचार पत्रों में विज्ञापन, फिल्म निर्माण पर 1 करोड़ खर्च किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें

Air India के जल्द आ सकते हैं अच्छे दिन, टाटा ग्रुप ने लगाई बोली
REET Exam 2021 : नागौर जिलें में रीट को लेकर बनाए 85 परीक्षा केंद्र, प्रशासन कर रहा तैयारी
Rajasthan School : स्कूलों में होगा ग्रेडिंग सिस्टम, अब घर बैठे ले सकेंगे स्कूल की जानकारी
Rajasthan Politics : बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने बोला सीएम अशोक गहलोत पर हमला
Private Universities News : निजी विश्वविद्यालयों की मनमानी पर लगेगी रोक, सरकार ने तय किए नियम

Rajasthan PTET 2021 : अभ्यर्थियों की बढ़ी धड़कने, जल्द जारी हो सकता है रिजल्ट
Agriculture Supervisor Exam : इस बार परीक्षा केंद्रों पर रहेगी सख्ती
IPL 2021 Phase 2 Schedule : 19 सितम्बर से शुरू होगा आईपीएल का दूसरा चरण, 27 दिन में होंगे 31 मैच
National Highway : देश के इस हाइवे पर प्रदूषण रोकने सरकार ने की पहल, 10 लाख पौधे लगाने की योजना
TIME Influential List : दुनिया के 100 प्रभावशाली नेताओं में फिर आया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम
IIT Delhi BDES Program : IIT दिल्ली में अगले वर्ष से शुरू होगा 4 वर्षीय BDES प्रोग्राम

इसके अलावा जिला स्तर पर नशा मुक्ति के लिए प्रचार, एडवरटाइजमेंट, होर्डिंग्स आदि बांटने का कार्य किया जाएगा। इसके लिए 50 लाख रुपए का बजट का प्रस्ताव है। वहीं शॉर्ट मूवी, जन जागरूकता अभियान, नुक्कड़ नाटक आदि के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाएगा।

सरकार ने बजट में की थी घोषणा

Navjeevan Scheme के तहत राजस्थान में वर्ष 2009 में हथकढ़ शराब से जुड़े परिवारों के पुनर्वास के लिए ‘Navjeevan Scheme’ शुरू की गई थी। इस योजना के बेहतर नतीजों को देखते हुए राज्य बजट 2021-22 में Navjeevan Scheme को बढ़ाने एवं नशे की आदत के खिलाफ प्रदेश में जन-जागरूकता अभियान चलाने की घोषणा सीएम अशोक गहलोत ने की थी।