Categories: Education
| On 1 month ago

Paryayvachi Shabd (पर्यायवाची शब्द)

Paryayvachi Shabd का अर्थ है समान अर्थ वाले शब्द। पर्यायवाची शब्द किसी भी भाषा की सबलता की बहुता को दर्शाता है। जिस भाषा में जितने अधिक पर्यायवाची शब्द होंगे, वह उतनी ही सबल व सशक्त भाषा होगी। इस दृष्टि से संस्कृत सर्वाधिक सम्पन्न भाषा है। भाषा में पर्यायवाची शब्दों के प्रयोग से पूर्ण अभिव्यक्ति की क्षमता आती है।

Paryayvachi Shabd, मर्फीम या वाक्यांश है जिसका अर्थ बिल्कुल या लगभग उसी भाषा में किसी अन्य शब्द, मर्फीम या वाक्यांश के समान है। उदाहरण के लिए, शब्द प्रारंभ, प्रारंभ, प्रारंभ और आरंभ सभी एक दूसरे के पर्यायवाची हैं; वे पर्यायवाची हैं। पर्यायवाची के लिए मानक परीक्षण प्रतिस्थापन है: एक रूप को बिना किसी अर्थ को बदले एक वाक्य में दूसरे द्वारा प्रतिस्थापित किया जा सकता है। शब्दों को केवल एक विशेष अर्थ में समानार्थक माना जाता है: उदाहरण के लिए, लंबे और विस्तारित संदर्भ

में लंबे समय या विस्तारित समय समानार्थी हैं, लेकिन विस्तारित परिवार वाक्यांश में लंबे समय तक उपयोग नहीं किया जा सकता है।

समान अर्थ वाले Paryayvachi Shabd एक सेम या डेनोटेशनल सेमेम साझा करते हैं, जबकि समान रूप से समान अर्थ वाले एक व्यापक अर्थ या अर्थपूर्ण सेमेम साझा करते हैं और इस प्रकार एक अर्थ क्षेत्र के भीतर ओवरलैप करते हैं। पूर्व को कभी-कभी संज्ञानात्मक समानार्थक शब्द कहा जाता है और बाद वाले, निकट-समानार्थक, प्लेसीओनिम्स या पॉसिलोनिम्स।

पर्याय का अर्थ है-समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को Paryayvachi Shabd (Synonym words) कहते हैं। इन्हें प्रतिशब्द या समानार्थक शब्द भी कहा जाता है। व्यवहार में पर्याय या Paryayvachi Shabd ही अधिक प्रचलित हैं। विद्यार्थियों के अध्ययन हेतु पर्यायवाची शब्दों की सूची प्रस्तुत है-

Example : [ फूल ] - पुष्प, सुमन, कुसुम, मंजरी, प्रसून.

Paryayvachi Shabd Examples (पर्यायवाची शब्द के उदहारण)

  • पत्थर — पाषाण, प्रस्तर पाहन ।
  • पानी— जल, वारि, नीर, तोय, सलिल, अंबु, सर।
  • आकाश — व्योम, शून्य, गगन, अम्बर, आसमान, अंतरिक्ष, नभ, अभ्र, नष्ट करने वाला धौ, अनंत
  • हवा — पवन, वायु, समीर, अनिल, वात, मरुत्, पवमान, बयार, प्रकंपन, समी
  • साँप — सर्प, नाग, विषधर, व्याल, भुजंग, उरग, अहि पन्नग।
  • जंगल — वन, कानन, बीहड़, विटप, विपिन।
  • घर — गृह, सदन, आवास, आलय, गेह, निवास, निलय, मंदिर।
  • अमृत — सुधा, सोम, पीयूष, अमिय, जीवनोदक
  • असुर — राक्षस, दैत्य, दानव, निशाचर, दनुज, यातुधान, निशिचर, रजनीचर।
  • अग्नि — आग, अनल, पावक, वह्नि।
  • अश्व — घोड़ा, हय, तुरंग, वाजी, घोटक, सैंधव, तुरंग।
  • आकाश — गगन, नभ, आसमान, व्योम, अंबर, धौ, अंतरिक्ष, अनंत
  • आँख — नेत्र, दृग, नयन, लोचन, चक्षु, अक्षि, अंबक, दृष्टि, विलोचन।
  • इच्छा — आकांक्षा, चाह, अभिलाषा, कामना, ईप्सा, मनोरथ, स्पृहा, ईहा, वांछा।
  • इंद्र — सुरेश, देवेंद्र, देवराज, पुरंदर, सुरपति, मघवा, वासव, महेंद्र।
  • ईश्वर — प्रभु, परमेश्वर, भगवान, परमात्मा।
  • कमल — जलज, पंकज, सरोज, राजीव, अरविन्द नीरज पयज
  • गरमी — ग्रीष्म, ताप, निदाघ, ऊष्मा।

यह भी पढे:

Vilom Shabd (विलोम शब्द)

  • गृह — घर, निकेतन, भवन, आलय,निवास, गेह, सदन, आगार, आयतन, आवास, निलय, धाम।
  • गंगा — सुरसरि, त्रिपथगा, देवनदी, जाह्नवी, भागीरथी।
  • चंद्र — चाँद, चंद्रमा, विधु, शशि, राकेश, हिमांशु, सुधांशु, सुधाकर, सुधाधर, सारंग, निशाकर, निशापति, रजनीपति,मृगांक, कलानिधि।
  • जल — वारि, पानी, नीर, सलिल, तोय, उदक, अंबु, जीवन, पय, अमृत, मेघपुष्प।
  • नदी — सरिता, तटिनी, तरंगिणी, निर्झरिणी, आपगा, निम्नगा, कूलंकषा।
  • पवन — वायु, समीर, हवा, अनिल।
  • पत्नी — भार्या, दारा, अर्धागिनी, वामा, गृहिणी, बहू, वधू, कलत्र, प्राणप्रिया
  • पुत्र — बेटा, सुत, तनय, आत्मज, जनज, लड़का, तनुज।
  • पुत्री — बेटी, सुता, तनया, आत्मजा, दुहिता, नंदिनी, तनुजा।
  • दोस्त — बन्धु, मित्र, साथी, यार, सखा, हितैषी, अंतरंग, साखी, जीवन-साथी, मीत, सहायक
  • पृथ्वी — धरा, [], धरती, वसुधा, भूमि, वसुंधरा, भू, इला, धरा, धरत्री, धरणी।
  • पर्वत — शैल, नग, भूधर, पहाड़, अंचल, महीधर, गिरि, भूमिधर, तुंग, अद्रि।
  • बिजली — चपला, चंचला, दामिनी, सौदामनी, विधुत्, तड़ित्, बीजुरी, क्षणप्रभा।
  • मेघ — बादल, जलधर, पयोद, पयोधर, घन।
  • राजा — नृप, नृपति, भूपति, नरपति, भूप, महीप, महीपति, नरेश, राव, सम्राट्
  • रजनी — रात्रि, निशा, यामिनी, विभावरी।
  • सर्प — साँप, अहि, भुजंग, विषधर, व्याल, फणी, उरग, पन्नग, नाग।
  • सागर — समुद्र, उदधि, जलधि, वारिधि, पारावार, सिंधु, नीरनिधि, नदीश, पयोधि, अर्णव, पयोनिधि, रत्नाकर, अब्धि, वारीश, जलधाम, नीरधि।
  • सिंह — शेर, वनराज, शार्दूल, मृगराज, व्याघ्र, पंचमुख, मृगेंद्र, केशरी, केहरी, केशी, महावीर।
  • सूर्य — रवि, दिनकर, सूरज, भास्कर, मार्तंड, मरीची, प्रभाकर, सविता, पतंग, दिवाकर, हंस, आदित्य, भानु, अंशुमाली।
  • स्त्री — ललना, नारी, कामिनी, रमणी, महिला, वनिता, कांता।
  • शिक्षक — गुरु, अध्यापक, आचार्य, उपाध्याय।
  • हाथी — कुंजर, गज, द्विप, करी, हस्ती।
  • सिर - शीश, मुंड,
  • अनुपम-- अपूर्व, अनोखा, अद्भुत, अनूठा, अद्वितीय, अतुल
  • आम-- आम्र, चूत, रसाल, अमृतफल, सहकार, अतिसौरभ, च्यूत,