Categories: Circular
| On 2 years ago

Privilege Leave: Admissibility, Rules and Performa for apply.

Share

उपार्जित अवकाश: देयता, उपार्जित अवकाश सम्बंधित सभी नियम, आवेदन हेतु प्रारूप।

अनुज्ञेयता (Admissibilite) :

एक सरकारी कर्मचारी चाहे स्थाई हो या अस्थाई हो, एक कैलेण्डर में 30 दिनों के उपार्जित अवकाश हकदार वर्ष का होगा। उपर्युक्त के अलावा भारतीय पुलिस सेवा के सदस्यों के अलावा अन्य जिसे भारतीय रक्षित बटालियन Indian Reserve Battalion) या सीमा (जैसा कि समय-समय पर परिभाषित हो) पर प्रतिनियुक्ति पर पदस्थापित किया गया हो, को एक कैलेण्डर वर्ष में 42 दिनों का उपार्जित अवकाश देय होगा।

1. एक सरकारी कर्मचारी 300 दिनों तक की अधिकतम अवधि का उपार्जित अवकाश
एकत्रित कर सकता है। IPS के अलावा RAC (राजस्थान सशस्त्र कान्सटेबुलेटी) का
एक-एक सदस्य जो भारतीय रक्षित बटालियन (Indian Reserve Battalion) की
प्रतिनियुक्ति पर है। जिसे लोक सेवा के कारण पूर्ण या आंशिक अवकाश देने से इनकार,
एक औपचारिक आज्ञा जारी कर उसमें सेवा करने के कारण देते हुए कर दिया है, को
उपार्जित अवकाश 300 दिनों की अधिकतम सीमा से अधिक एकत्रित करने का अधिकारी
होगा।

2. सेवा नियम 59 के प्रावधानों को ध्यान में रखते हुए एक राज्य कर्मचारी को एक समय में अधिकतम 120 दिनों तक उपार्जित अवकाश स्वीकृत किया जा सकता है।

3. एक राजकीय कर्मचारी को उपार्जित अवकाश किसी मान्यता प्राप्त सेनिटोरियम/अस्पताल में टी.बी., कैंसर रोग, कुष्ठ अथवा मानिसक रोग के निदान की चिकित्सा के लिए 300 दिवसों वित्त विभाग की अधिसूचना एफ.1 (49)(ग्रुप-2)/1823 दिनांक 28.12.1991 द्वारा 180 दिवस के स्थान पर 240 दिवस एवं एफ.1 (5) वि.वि.नियम/96 दिनांक
02.04.1998 द्वारा 240 दिवस के स्थान पर 300 दिवस प्रतिस्थापित तथा 01.01.98
से प्रभावी) का उपार्जित अवकाश स्वीकृत किया जा सकता है।

4. कोई राज्य कर्मचारी किसी कैलेण्डर वर्ष की किसी छमाही में राज्य सेवा में नियुक्त होता है तो उसको प्रत्येक पूर्ण माह की सेवा पर ढाई दिन का उपार्जित अवकाश एक सशस्त्र पुलिस कार्मिक के मामले में साढ़े तीन दिन का उपार्जित अवकाश देय होगा।

5. एक राज्य कर्मचारी के द्वारा पद त्यागने, अस्थाई सेवा समाप्ति पर, सेवा से निष्कासित अथवा बर्खास्त करने पर ,सेवामुक्त/सेवानिवृत्त करने एवं सेवा में रहते हुए मृत्यु हो जाने पर कर्मचारियों को देय उपार्जित अवकाशों की गणना के लिए एक जनवरी या एक जुलाई जैसी भी स्थिति हो, वाली छमाही सेवा में प्रति पूर्ण माह की अवधि में ढाई दिन तथा RAC के मामलें में साढ़े तीन दिन की दर से घटना तक की सेवा के आधार पर गणना की जायेगी। गणना करते समय उस माह के अन्तिम दिन तक गणना की जायेगी जिसमें कर्मचारी उपर्युक्त में से किसी घटना के कारण राजकीय सेवा से संबंध विच्छेद करता है।

6. (91 A) राज्य कर्मचारी एक वित्तीय वर्ष
एक में जो कि एक , अप्रेल से आरम्भ होगा में अधिकतम 15 दिवस का उपार्जित अवकाश समर्पित करके उनके एवज में समर्पित किए गये अवकाश अवधि का नगद भुगतान प्राप्त कर सकेगा, परन्तु यह कि अस्थाई कर्मचारी को उपार्जित अवकाश के एवज में नगद भुगतान तब तक स्वीकृत नहीं किया जायेगा, जब तक उसके एक पूर्ण वर्ष की स्थाई सेवा (परिविक्षण अवधि के अतिरिक्त) पूर्ण न करली हो। इसके लिए प्रार्थना पत्र उसी वित्तीय वर्ष में दिया हो।

7. (91 B) एक राज्य कर्मचारी के अधिवार्षिकी, असमर्थता, क्षतिपूरक अथवा (राज्य सिविल
सेवा (पेंशन) नियम 1996 के जियम 50 व 53) के अनुसार सेवानिवृति प्राप्त करने पर उस दिन उसके उपार्जित अवकाश के लेखों में अनुपयोजित (अवशेष) अवकाशों के एवज में, जो 300 दिन से अधिक न हो, उनके समान अवकाश वेतन की राशि का भुगतान उसे कर दिया जाये।
नोट :- इस उपनियम के अन्तर्गत राजस्थान सिविल सेवा (सीसीए) नियम 1958 के अन्तर्गत सजा के रूप में अनिवार्य सेवानिवर्ती पर यह लाभ नहीं मिलेगा।

8. विद्यालयों में अध्यापन करने वाले शिक्षकों को एक कैलेण्डर वर्ष में 15 उपार्जित अवकाश देय होगा। किसी कैलेण्डर वर्ष की एक छमाही के बीच सेवा में नियुक्त होने वाले शिक्षकों को उसके द्वारा की गई प्रत्येक एक माह की पूर्ण सेवा के लिए 1.25 दिन का उपार्जित अवकाश जमा किया जाएगा।

9. शीतकालीन अवकाश, मध्यावधि अवकाश ग्रीष्मावकाश में कार्य करने एवं प्रशिक्षण में भाग
लेने के एवज में प्रति 3 दिन पर एक दिन का उपार्जित अवकाश कर्मचारी के अवकाश लेखो में जोड़ा जाएगा परन्तु एक कैलेण्डर वर्ष में 30 दिन से अधिक अवकाश कदापि नहीं जोडा जायेगा।

नियम संकलन-

मोहितपाल सिंह, कनिष्ठ सहायक।

राजस्थान सेवा नियमों के अंतर्गत अवकाश के लिए आवेदन पत्र का प्रारूप।

View Comments

  • प्रोबेशन में टीचर्स के लिये rsr नियम 91(ख) लागू है क्या ?

  • में राजस्थान सरकार के शिक्षा विभाग में वरिष्ठ अध्यापक पद पर कार्यरत हूँ।मै हज यात्रा पर जा रहा हूँ ।क्या मुझे विभाग से अनुमति लेनी है या इसकी छूट है