Categories: Rules and Regulations
| On 1 month ago

Boys Fund : The Procedure of using the Boys Fund in schools.

राजस्थान में विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों से छात्र कोष बॉयज फण्ड (Boys Fund) के रूप में लिए जाने शुल्क को व्यय करने की जानकारी इस लेख में दी जा रही है। निदेशालय ने आदेश जारी कर बैंक में छात्र निधि (बॉयज फंड) के नाम से खाते को बदलकर विद्यार्थी कोष (स्टूडेंट फंड) के नाम से संचालित करने के निर्देश दिए हैं, ताकि अध्ययनरत विद्यार्थियों का समिति से जुड़ाव हो सके।

छात्रकोष : विद्यालयों में छात्रकोष के उपयोग की प्रक्रिया।

1. राज्य सरकार के आदेश संख्या प./19/45/शिक्षा-6/96/जयपुर दिनांक 17.1.2002 की अनुपालना में छात्र निधि कोष की राशि उपयोग की सीमा निम्न प्रकार निर्धारित की जाती हैं।
2. संशोधित आदेश पं.-19(45)शिक्षा-6/96 दिनांक 24.8.2002 (लेखाविज्ञ पृष्ठ संख्या 483 अक्टूबर 2009)

3.1छात्र कोष हेतु बजट निर्माण | Budget Preparation For Boys Fund

छात्र निधि का उपयोग करने से पूर्व छात्र कोष समिति एवं छात्र परिषद् द्वारा वर्ष भर का बजट बनाया जाना चाहिए। जिन मदों में जितने व्यय का प्रावधान करना हो उसको निश्चित कर लेना चाहिए। छात्रकोष

निधि के बजट बनाने में विद्यालय शिक्षक वर्ग में से अनुभवी एवं योग्य तथा संभव वरिष्ठतम अध्यापकों को छात्र परामर्शदाता नियुक्त कर उनकी सलाह लेना अत्यावश्यक है।
बजट बनाते समय निम्नलिखित बिन्दुओं पर विशेष रूप से ध्यान देना चाहिए।अ. बजट को छात्र कोष समिति से पारित करवाया जाए। तत्पश्चात् प्रधानाध्यापकों द्वारा छात्र निधि राशि का उपयोग आवश्यकतानुसार बड़ी सतर्कता एवं सामान्य वित्तीय नियमों का पालन करते हुए किया जाए। अतएव छात्रनिधि का का बजट बनाते समय उदाहरण स्वरूप निम्न वर्णित कार्यो के लिए आवश्यकतानुसार प्रावधान रखा जाना चाहिए।
1. क्रीड़ा, 2. पुस्तकालय, 3. वाचनालय, 4. विद्यालय पत्रिका, 5. छात्र संसद, 6. मनोरंजन अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम, 7. परीक्षा, 8. उद्योग एवं कार्यानुभव, 9. सामान्य विज्ञान, 10. विकास, 11. चिकित्सा आदि
ब. उपलब्ध बजट को ध्यान में रखकर ही व्यय किया जाए।
स. स्थानीय परीक्षाओं के लिए निर्धारित राशि में संसद की स्वीकृति की आवश्यकता नहीं है।
द. निदेशालय माध्यमिक शिक्षा राजस्थान बीकानेर के आदेश क्रमांक:- शिविरा-माध्य / बजट / बी-2 / 25101 /2003-2004/119 दिनांक 6.6.2003 के अनुसार राजकीय बजट मद निम्नानुसार
है।य. राजकीय बजट का उपयोग नियमानुसार दिसम्बर माह तक कर लिया जाना चाहिए।

3.2 समिति का गठन एवं उसके कार्य | Committee to use Boys Fund

छात्रकोष शुल्क के समुचित उपयोग की दृष्टि से प्रत्येक विद्यालय स्तर पर एक छात्रकोष समिति का गठन निम्न प्रकार होगा।
1. संस्थाप्रधान,
2. अध्यापक/अभिभावक प्रतिनिधि- 2
3. अध्यापक प्रतिनिधि एक (संस्थाप्रधान द्वारा मनोनीत),
4. छात्र प्रतिनिधि - एक.
5. क्षेत्रीय विधायक द्वारा मनोनित व्यक्ति- एक,
6. क्षेत्रीय पार्षद सदस्य सरपंच-दोनो में से एक
कुल सात व्यक्तियों की समिति होगी।
उपर्युक्त समिति के 7 सदस्यों में से व्यय हेतु 5 सदस्यों का मीटिंग में उपस्थित होना आवश्यक होगा। जिसमे दो अशासकीय सदस्यों की उपस्थिति अनिवार्य होगी।

समिति के कार्य

1. वार्षिक व्यय की योजना बनाना।
2. व्यय पर नियंत्रण रखना।
3. विद्यालय के विकास हेतु आय के साधनों में व्यय करने हेतु योजना एवं क्रियान्विति।
उपर्युक्त कार्यों को संपादित करने हेत समिति की बैठक नियमित रूप से आयोजित की जाएगी। प्रथम बैठक माह जुलाई में होगी। इस बैठक में वर्ष भर की योजना बनाई जाएगी। शेष बैठकों के मध्य 3 माह से अधिक

का अन्तराल नहीं होना चाहिए। बैठक में लिये गये निर्णयों का प्रतिवेदन संबंधित नियत्रंण अधिकारी को भेजा जाएगा।

3.3 व्यय का स्वरूप

(अ) छात्रकोष शुल्क से व्यय निम्नांकित मदों में किया जाएगा।
1. परीक्षा
2. पुस्तकालय एवं वाचनालय
3. कार्यानुभव
4. विकास (निर्धन छात्र कल्याण सहित) भवन, टेलीफोन, पानी, फर्नीचर आदि कि लिए अनावर्तक व्यय।
5. संख्या (4) में वर्णित आइटम्स पर आवर्तक व्यय अर्थात भवन की मरम्मत, पूताई, बिजली, टेलिफोन, पानी का बिल आदि।
6. शारीरिक शिक्षा एवं स्वास्थ्य (खेलकूद, स्काउटिंग आदि)
7. खेलकूद प्रतियोगिताएँ
8. छात्र प्रवृत्तियाँ, सांस्कृतिक प्रवृत्तियाँ, सामाजिक प्रवृत्तियाँ, मनोरंजन उत्सव, समारोह, पुरस्कार, विद्यालय पत्रिका, अतिथि सत्कार, निमंत्रण पत्र आदि।
नोट : मद वार प्रदत्त शक्तियों के स्थान पर संस्था की आवश्यकतानुसार समिति द्वारा व्यय करने की शक्तियों में बढ़ोतरी की जाती है। मद वार कोई सीमा नहीं होगी।

3.4 छात्रकोष से राशि व्यय करने की शक्तियों का प्राधिकरण | Authorization of powers to spend money from Boys Fund

उक्त समिति को विद्यमान नियमों में वर्णित मदों में छात्रनिधि कोष से व्यय करने हेतु निम्न प्रकार की शक्तियाँ प्रदान की जाती है।

कोष में उपलब्ध राशि व्यय का समिति को अधिकार | Right to the committee to spend the amount available in the boys fund

समिति को अधिकारप्राप्त राशि। 100 प्रतिशत
गत वर्षों की शेष राशि 90 प्रतिशत

(10 प्रतिशत आपात स्थिति हेतु आरक्षित रखी जाएगी।) | 10% of Boys Fund  will be kept reserved for emergencies.

नॉट- जिला शिक्षा अधिकारी एवं उपनिदेशक द्वारा समिति की अनुशंसा अथवा राज्य सरकार के विशेष निर्देशों के पश्चात ही छात्र निधि कोष की राशि के उपयोग की स्वीकृति के अधिकार का उपयोग करेंगे।

छात्र कोष सम्बंधित एक महत्वपूर्ण आदेश। An important order related to student fund.

छात्र कोष सम्बंधित एक महत्वपूर्ण आदेश। An important order related to student fund www.shivira.com

रोकड़ बही क्या हैं? What is Cash Book ? राजकीय विद्यालय में रोकड़ बही के नियम | Cash book rules in government school - Shivira https://shivira.com/how-to-write-cash-book-in-schools/