Categories: Education

Public Relations Officer (PRO) जनसंपर्क अधिकारी बनते है?

Public Relations Officer जनसंपर्क अधिकारी (PRO) का अर्थ है 'जनता से संपर्क रखना'। PRO जनसम्पर्क एक प्रक्रिया स्वरूप है जो एक उद्देश्य से व्यक्ति या वस्तु की छबि, महत्व एवं विश्वास को समूह अथवा समाज में स्थापित करने में सहायक होती है। जनसंचार के विभिन्न उपकरणों के माध्यम से समाज या समूह से जीवन्त सम्बन्ध बनाने में यह सेतु का कार्य करती है।

पब्लिक रिलेशन क्षेत्र को ठाट-बाट से भरा क्षेत्र माना जाता है। अगर Public Relation Officer में कैरियर बनाना चाहते हैं, तो सबसे पहले मीडिया कॉलेज से पब्लिक रिलेशन से रीलेटेड कोर्स करना चाहिए। इस उद्योग में आने के लिए Mass Communication and Journalism (मास कंम्यूनकेशन एंड जर्नलिज्म), Advertising and Public Relations (एडवरटाईजिंग एंड पब्लिक रिलेशन) जैसे कोर्स कर सकते हैं। Diploma (डिप्लोमा) से लेकर PG (पीजी) कोर्स और PHD (पीएचडी) कोर्स तक इस क्षेत्र में उपलब्ध हैं। उन्हें इच्छनुसार कोर्स को जॉइन करना चाहिए।
Public Relations (पब्लिक रिलेशन) कोर्स को पूरा करने के बाद किसी पीआर एजेंसी (PR agency) में प्रशिक्षण लें, जिससे आपको Public Relation के क्षेत्र की वास्तविक जानकारी हो जाएगा। प्रशिक्षण से सही तरह से पब्लिक रिलेशन (PRO) प्रशिक्षण को समझ पाते हैं कि इसमें काम कैसे होता है। दूसरा प्रशिक्षण का यह है कि अगर प्रशिक्षण के दौरान अच्छा काम कर रहे हैं, तो उस पीआर एजेंसी (PR Agency) में कार्य मिलने के मौके भी रहते हैं। इसलिए मेहनत, लगन और ईमानदारी से प्रशिक्षण पूरा करें। ज्यादा से ज्यादा सीखने पर जोर दें।


जनसंपर्क में करियर का दायरा (Career Scope In Public Relations Officer
In Hindi )


पब्लिक रिलेशन (PRO) के क्षेत्र में अनेक करियर के अवसर हैं। इस क्षेत्र में आकर्षक Career बना सकते हैं। निजी क्षेत्र से लेकर सरकारी क्षेत्र सभी में Public Relation Officer की माँग रहती है। आज के समय मे ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है, जंहा पर पब्लिक रिलेशन पेशेवर की जरूरत नहीं होती। पब्लिक रिलेशन अफसर (PRO) का पद  केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनो में होता है। इन जगहों पर सरकारी कार्य कर सकते हैं। इसके अलावा शिक्षण संस्थानों, यूनिवर्सिटी, कॉलेज, हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, शोध परियोजनाओं, सर्वेक्षण परियोजनाओं, स्वास्थ्य परियोजनाओं आदि में स्थायी या कंसल्टेंट के रूप में जॉब का मौका मिलता है।


जनसंपर्क पाठ्यक्रम के लिए योग्यता (Qualification For Public Relations Officer Course In Hindi)


पब्लिक रिलेशन PRO अवधि करने के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से 12वीं उत्तीर्ण या ग्रेजुएशन उत्तीर्ण हों। 12वीं के बाद बैचलर (Bachelor) डिग्री या डिप्लोमा (Diploma) कोर्स कर सकते हैं। बैचलर डिग्री 03 बर्ष और डिप्लोमा कोर्स 02 बर्ष का होता है। ग्रेजुएशन के बाद मास्टर डिग्री या पीजी डिप्लोमा में दाखिला ले सकते हैं। मास्टर डिग्री 02 बर्ष और पीजी डिप्लोमा  01 से 02 बर्ष का हो सकता है। इन कोर्स का शुल्क 40 से 80 हजार प्रतिबर्ष होता है। अगर सरकारी कॉलेज से इन कोर्स को करते हैं, तो कम शुल्क 10 से 15 हजार प्रतिबर्ष में Public Relation से जुड़े कोर्स को कर सकते हैं।


जनसंपर्क अधिकारी का कार्य (Work of Public Relation Officer In Hindi)


पब्लिक रिलेशन ऑफिसर (PRO) का मुख्य कार्य जन और संस्थान के बीच मधुर संबंध बनाना और उन्हें कायम रखना होता है। जनसंपर्क अधिकारी अपने कौशल के द्वारा अपने संस्थान की जनता की नजरों में बेहतर छवि बनाता है। इसके लिए वह संचार माध्यमों का उपयोग करता है। जैसे टीवी, रेडियो, न्यूज़पेपर, सोशल मीडिया आदि। 
पब्लिक रिलेशन ऑफिसर (PRO) पत्रकार सम्मलेन का आयोजन करता है, जिसमें वह सभी मीडिया संस्थानों को बुलाता है। जिससे कि मीडिया के माध्यम से उसकी कंपनी, संस्थान की छवि जनता में अच्छी बने। इस प्रकार पब्लिक रिलेशन के माध्यम से पब्लिक रिलेशन ऑफिसर अपने संस्थान की छवि को बेहतर बनाता है। इसी प्रकार सरकार भी अपनी छवि को जनता की नजरों में बेहतर बनाने के लिए पब्लिक रिलेशन ऑफिसर की नियुक्ति करती है। वह केंद्र सरकार हो या प्रदेश सरकार दोनों अपनी योजनाओं को जनता तक पंहुचाने के लिए पब्लिक रिलेशन की मदद लेते हैं। 

  • पत्रकार सम्मलेन का आयोजन करना
  • संस्थान की नीतियों, कार्य योजना, कार्यक्रम का प्रचार, प्रसार करना।
  • संगठन के विकास के किये सदैव तैयार रहना।
  • मीडिया के साथ मधुर संबंध बनाना, जिससे समय आने पर मीडिया का उपयोग संगठन के हित में किया जा सके।
  • जनता के मन मे संगठन की छवि को बेहतर बनाना।
  • संगठन के प्रति लोगों के भ्रम को दूर करना।
  • संगठन के कार्यक्रम और विकास मीडिया के सामने ले जाना, जिससे संगठन की छवि लोगो की नजरो में बने।
  • संगठन की पत्र पत्रिकाओं का प्रकाशन व संपादन।
  • संस्थान द्वारा जारी किये जाने वाले विज्ञापनों को जारी करना और उनकी निगरानी रखना।
  • आपातकालीन
    या असामान्य स्थिति में संस्थान की छवि को बनाये रखने या सुधारने में सक्रिय भूमिका बनाना।

जनसंपर्क में करियर के लिए कौशल (Skills For Career in Public Relation In Hindi)


पब्लिक रिलेशन ऑफिसर (PRO) को सभी संचार तकनीकों के बारे में जानकारी रखनी चाहिए। मीडिया से अच्छे रिश्ते, अच्छा व्यकितत्व, जनता से मधुर सम्बन्ध बनाने का कौशल होना चाहिए। अच्छा लेखन कौशल, जग्वाक्ता जैसे गुणों का होना जरूरी है। इसके अतिरिक्त अंग्रेजी भाषा का अच्छा ज्ञान, कंप्यूटर जानकारी, प्रेस रिलीज लिखने की योग्यता ये सभी कौशल पब्लिक रिलेशन ऑफीसर (PRO) के लिए बहुत जरूरी हैं।

Also Read :

NDA क्या है ?
Scalping Trading क्या होती है? (What is Scalping Trading In Hindi)


जनसंपर्क अधिकारी वेतन (Saillery of Public Relation Officer In Hindi)


पब्लिक रिलेशन (PRO) के क्षेत्र में आरंभिक वेतन 14 से 16 हजार रुपये तक मिलते हैं। जैसे- जैसे अनुभव बढ़ता है, वेतन भी बढ़ता है। 04 से 05 वर्ष का अनुभव होने के बाद इस क्षेत्र में 50 से 01 लाख तक प्रतिमाह कमा सकते हैं।  


जनसंपर्क में कैरियर के लिए पाठ्यक्रम (Course For Career In Public Relation Career In Hindi)

  1. Diploma in Journalism and Mass Communication (डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन)
  2. Diploma in Advertising and Public Relations (डिप्लोमा इन एडवरटाइजिंग एंड पब्लिक रिलेशन)
  3. Bachelor in Mass Communication and Journalism (बैचलर इन मास कॉम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म)
  4. BSc in Mass Communication (बीएससी इन मास कॉम्युनिकेशन)
  5. BA in Mass Communication (बीए इन मास कॉम्युनिकेशन)
  6. PG Diploma in Journalism and Mass Communication (पीजी डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एंड मास कॉम्युनिकेशन)
  7. PG Diploma in Advertising and Public Relations (पीजी डिप्लोमा इन एडवरटाइजिंग एंड पब्लिक रिलेशन)
  8. PG Diploma in Public Relations (पीजी डिप्लोमा इन पब्लिक रिलेशन)
  9. Master in Mass Communication and Journalism (मास्टर इन मास कॉम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म)
  10. MSc in Mass Communication (एमएससी इन मास कॉम्युनिकेशन)
  11. MA in Mass Communication (एमए इन मास कॉम्युनिकेशन)


जनसंचार और जनसंपर्क के लिए सर्वश्रेष्ठ संस्थान (Best Institute For Mass Communication & Public Relation In Hindi)

  • Indian Institute of Mass Communication, Delhi (इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कॉम्युनिकेशन, दिल्ली)
  • Makhanlal Chaturvedi University, Bhopal (माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी, भोपाल)
  • Symbosis Institute of Communication, Pune (सिम्बोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ कंम्यूनकेशन, पुणे)
  • Delhi University, Delhi (दिल्ली यूनिवर्सिटी, दिल्ली)
  • Gurughasidas University, Chhattisgarh (गुरुघासीदास यूनिवर्सिटी, छत्तीसगढ़)
  • Guru Nanak Dev University, Punjab (गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी, पंजाब)
  • Chandigarh University, Chandigarh (चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़)
  • Allahabad University, Allahabad (इलाहाबाद यूनिवर्सिटी, इलाहाबाद)
  • Banaras Hindu University, Banaras (बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, बनारस)
  • Lucknow University, Lucknow (लखनऊ यूनिवर्सिटी, लखनऊ)
  • Jamia Millia Islamia University, New Delhi (जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली)
  • Aligarh University, Aligarh (अलीगढ़ यूनिवर्सिटी, अलीगढ़)
  • Andhra University, Andhra (आंध्र यूनिवर्सिटी, आंध्र)
  • Bundelkhand University, Jhansi (बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी)
  • Chhatrapati Shahu Ji Maharaj University, Kanpur (छत्रपति शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी, कानपुर)
  • Rohilkhand University, Bareilly (रुहेलखंड यूनिवर्सिटी, बरेली)
  • Whistling Woods International, Mumbai (व्हिस्टलिंग वुड्स इंटेरनेशनल, मुम्बई)