Categories: Uncategorized
| On 2 years ago

Rajasthan: The state government is determined for all round development in the field of education

राज्य सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सर्वांगिण विकास के लिए दृढ़ संकल्पित है
- शिक्षा राज्य मंत्री
जयपुर, 26 अगस्त। शिक्षा राज्य मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा है कि राज्य सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सर्वांगिण विकास के लिए दृढ़ संकल्पित है, आवश्यकता है अभिभावक सरकारी विद्यालयों में शिक्षक व बच्चों से मिलकर सकारात्मक सहयोग प्रदान करें।
श्री डोटासरा सोमवार को चुरू जिले के राजगढ़ के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, में अटल टेकरिंग लैब, ऑनग्रिड सोलर सिस्टम 20 केवी, 400 मीटर एथलेटिक्स ट्रेक व जिम हॉल एवं 30 केवी जनरेटर सेट का उद्घाटन कर आयोजित समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य में शिक्षकों की समस्याओं का समाधान कर विद्यार्थियों को गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने के लिए
कारगर प्रयास किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि राजकीय विद्यालयों में योग्य शिक्षक है, अभिभावक जागरुक होकर अपने बच्चों का सरकारी विद्यालयों में नामांकन दर्ज करावें। उन्होंने कहा कि राज्य में कक्षा 10 व कक्षा 12 में विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम निजी विद्यालयों से बेहत्तर है
उन्होंने कहा कि राजस्थान में प्रत्येक जिला मुख्यालय पर चालू शिक्षा सत्र में एक राजकीय महात्मा गांधी (अंग्रेजी माध्यम) विद्यालय शुरू किया गया है जहां 11 हजार बच्चे अध्ययनरत है। उन्होंने राज्य में सरकारी विद्यालयों में नामांकन वृद्धि के लिए अभिभावकों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि अभिभावक सरकारी विद्यालयों में जाकर शिक्षक व बच्चों से मिलकर शैक्षिक गतिविधियों की जानकारी प्राप्त करें तथा सकारात्मक सहयोग प्रदान करें। उन्होंने कहा कि राजस्थान में राजगढ
सहित 3 विधानसभा क्षेत्रों में कक्षा-कक्ष निर्माण के लिए 3 करोड़ 80 लाख रुपये स्वीकृत किये गये हैं। उन्होंने कहा कि बालिका शिक्षा को बढावा देने के लिए अभिभावक जागरुक होकर बच्चों को शिक्षा से जोड़े ताकि सामाजिक विकास को नये आयाम मिल सके।शिक्षा राज्य मंत्री ने इस अवसर पर शिक्षा सत्र में राजगढ विधानसभा क्षेत्र के गांव गागड़वास, लसेड़ी, कांधरान व ढाणी मौजी में राजकीय माध्यमिक विद्यालयों को राजकीय सीनियर माध्यमिक विद्यालयों में तथा गांव लीलावटी व बैरासर बड़ा में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालयों को राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में क्रमोन्नत करने की घोषणा की। उन्होंने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय राजगढ में फर्नीचर व अन्य शैक्षिक सुविधाओं के विस्तार के लिए 10 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने राजकीय आदर्श माध्यमिक विद्यालय, नेशल को पुनः शुरू करने की घोषणा की।
इस मौके पर उन्होंने शिक्षा राज्य मंत्री ने राजगढ क्षेत्र के राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों एवं प्रतिभावान छात्र-छात्राओं व स्कूल प्रशिक्षक जसवंत पूनिया को प्रतीक चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया।
समारोह में राजगढ विधायक पद्मश्री डॉ. कृष्णा पूनिया ने कहा कि राजगढ क्षेत्र में सकारात्मक सोच के साथ विकास के नये आयाम स्थापित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजगढ क्षेत्र में खेलों को बढावा देने के लिए राजस्थान का एकमात्र अन्तर्राष्ट्रीय स्टेडियम का निर्माण किया जायेगा तथा बालिका शिक्षा को बढावा देने के लिए कन्या महाविद्यालय शुरू किया गया है।
उद्घाटन समारोह में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा निदेशक श्री नथमल डिडेल ने कहा कि राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्मक बदलाव के लिए स्कूलों में आवश्यक सुविधाएं, आधुनिक शिक्षा व खेल व्यवस्था में सुधार के लिए दानदाताओं एवं भामाशाहों का सहयोग लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में शिक्षकों की मानसिक उपस्थिति सुनिश्चित हो ताकि बेहत्तर परीक्षा परिणाम अर्जित किया जा सके। द्रोणाचार्य अवार्डी विरेन्द्र पूनिया ने कहा कि राज्य में शिक्षा के साथ-साथ खेलों को बढावा देने की महत्ती आवश्यकता है। उन्होंने विद्यार्थियों का आह्वान किया कि वे जीवन में लक्ष्य निर्धारित कर सफलता अर्जित करने के लिए कड़ी मेहनत करेंं। संस्था प्रधान श्री जयसिंह नेहरा ने संस्था की शैक्षणिक प्रगति एवं बेहत्तरीन खेल गतिविधियों व उपलब्धियों पर प्रकाश डाला।
इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि संबंधित अधिकारी मौजूद थे।