राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi)

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना : राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 29 मई 2017 को भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश के किसानों को कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा देश के किसानों को कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में विकास लाने के लिए अतिरिक्त सहायता प्रदान की जाएगी।

अगर आप भी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं या इस योजना के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस पोस्ट में आपको राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (आरकेवीवाई) 2022, आरकेवीवाई योजना हिंदी में, ऑनलाइन पंजीकरण से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी। जानकारी दी जा रही है।

भारत की केंद्र सरकार द्वारा 29 मई 2017 को राष्ट्रीय कृषि विकास योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत देश में कृषि और संबद्ध क्षेत्रों का विकास किया जाएगा। कृषि-जलवायु, प्राकृतिक संसाधनों और प्रौद्योगिकी को ध्यान में रखते हुए देश के कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में विकास कार्यों को बढ़ावा दिया जाएगा। राष्ट्रीय कृषि विकास योजना मुख्य रूप से कृषि क्षेत्रों के समग्र और विकास को सुनिश्चित करने के लिए की गई है। इससे कृषि क्षेत्र में 4% तक की वार्षिक वृद्धि हासिल की जा सकेगी।

जिनका उद्देश्य ग्रामीण समस्याओं को और जनकल्याण तथा पर्यावरण संरक्षण को एक ऊंचाई के तौर पर देखना जिससे हमारे देश की प्रगति और विकास में बढ़ोतरी हो सके किसी को लेकर आज के लेख में हम आपको एक ऐसी योजना के बारे में बताएंगे जो सरकार द्वारा किसानों के लिए मुख्य रूप से एक फायदेमंद सौदा साबित होगी। देखा जाए तो पिछले कई वर्षों में ना जाने हमारे किसान भाइयों ने बैंक से ऋण लेने के कारण उसे चुका नहीं पाते तो वह आत्महत्या जैसे कदमों को भी उठा देते हैं लेकिन इन सब चीजों को कम करने के लिए सरकार ने एक योजना निकाली है जिसका नाम है।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का मुख्य उद्देश्य कृषि के क्षेत्र में किसानों का विकास करना जिससे उनकी आमदनी को बढ़ाया जा सके क्योंकि आमदनी नहीं बढ़ने या आमदनी ही नहीं होने के कारण जो किसान ऋण लेता है वह उसे चुका नहीं पाता और चुका नहीं पाने के कारण वह आत्महत्या जैसे कदमों को भी लेने पर मजबूर हो जाता है।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना को सरकार द्वारा 1 नवंबर 2017 में शुरू किया गया था इस योजना का उद्देश्य समग्र कृषि विकास जो हमारे भारत के अंदर है उनको तकनीकी तौर पर सशक्त करना जिससे उनकी आमदनी में बढ़ोतरी हो सके और देश को विकास की प्राप्ति भी हो सके और इस योजना को सफल पूर्वक बनाने के लिए सरकार द्वारा काफी धनराशि प्रदान की जा रही है।

  • इस योजना के माध्यम से देश के कृषि और संबद्ध क्षेत्रों का विकास किया जाएगा।
  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना यह सुनिश्चित करेगी कि किसानों की स्थानीय जरूरतें और फसलों की प्राथमिकताएं केंद्रित हों।
  • इस योजना का लाभ यह भी होगा कि किसानों के कृषि और संबंधित क्षेत्रों में विकास होगा, जिससे किसानों की आय में भी वृद्धि होगी और उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा।

वर्ष 2022 में सरकार देश के किसानों को पारंपरिक खेती के बजाय सर्वोत्तम फलों की खेती के लिए 25 से 50 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करेगी। इस अनुदान सहायता को पाने के लिए किसानों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। किसानों का आवेदन पूरा होने के बाद उन सभी किसानों का चयन विभाग द्वारा किया जाएगा। योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक को पासबुक, आधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेजों के साथ कार्यालय जाना होगा। यदि आवेदन सफल होता है, तो उस स्थिति में आवेदक को इन फसलों पर अनुदान राशि प्रदान की जाएगी।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के मुख्य बिंदु (Key Highlights Of Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi) :

योजना का नाम :राष्ट्रीय कृषि विकास योजना
योजना कब शुरू की गयी :2007
योजना किसके द्वारा शुरू की गयी :केंद्र सरकार
योजना का उद्देश्य :कृषि में विकास करना
योजना की अधिकारिक पोर्टल :यहां क्लिक करें

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के उद्देश्य (Objective Of Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi) :

भारत एक कृषि प्रधान देश है, इसलिए यहां कृषि को बहुत महत्व दिया जाता है। लेकिन किसानों की कम उम्र के कारण उनकी आर्थिक स्थिति खराब होती जा रही है, जिससे किसानों की खेती के प्रति रुचि भी कम होती जा रही है। इन्हीं समस्याओं को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (आरकेवीवाई) शुरू की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में विकास करना और सार्वजनिक क्षेत्रों को बढ़ावा देना है। देश के किसानों की आय में वृद्धि होनी चाहिए, और वे अपना जीवन अच्छे से जी सकें।

  • इस योजना के तहत सरकार का जो मुख्य
    उद्देश्य है वह यह है कि आर्थिक सहायता से या धनराशि से कृषि के मुख्य स्रोतों को विकसित करना जिससे किसान अच्छी फसल का लाभ उठा सकें।
  • योजना के तहत जो राज्य कृषि के अंदर अपना काफी योगदान देते जैसे कि राजस्थान हरियाणा पंजाब उन राज्यों को कृषि के क्षेत्र में प्रोत्साहित करना जिससे हमारे देश के अंदर कृषि और बढ़ सके।
  • इस योजना के तहत इस को सफल पूर्वक बनाने के लिए राज्य सरकारों को फ्लैक्सिबिलिटी प्रदान करना जिससे वह पूरे आत्मविश्वास से कृषि के क्षेत्र में विकास की तरफ आगे बढ़े।
  • इस योजना के तहत फसलों के अंतराल को जो उपजाऊ के दौरान कम करवाने की पूरी कोशिश करना जिसे जल्द से जल्द किसानों को फायदा प्राप्त हो सके।
  • इस योजना के तहत जो सेक्टर कृषि से सीधा संबंध रखते हैं उन को प्रोत्साहित करना उनके लिए सब्सिडी प्रदान करना जिससे वह और प्रोत्साहित होकर किसानों की आमदनी को बढ़ाएं।
  • इस योजना के तहत जो मुख्य उद्देश्य है वह बस यही आएगी किसानों की आमदनी में बढ़ोतरी करना जिससे वह आत्महत्या जैसे कदम ना उठाएं।
  • इस योजना से यह सुनिश्चित होगा कि कृषि क्षेत्रों में वार्षिक वृद्धि दर प्राप्त की जा सके।
  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के माध्यम से कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में सार्वजनिक क्षेत्र के विकास को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • यह योजना इसलिए शुरू की गई है ताकि किसानों को कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में अधिक लाभ मिल सके।
  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का लाभ यह भी होगा कि देश में कृषि उत्पादन में वृद्धि होगी।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की विशेषताएं (Features Of Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi) :

  • यह केंद्र सरकार द्वारा उद्घाटित राज्य योजना के तौर पर भी माना जाता है।
  • इस योजना के तहत राज्य सरकार को अपने कुल खर्च का कुछ प्रतिशत इस योजना में लगाना पड़ेगा जिससे विकास हो सके।
  • आधारभूत व्यय का निर्धारण पिछले वर्ष से पूर्व के तीन वर्षों के दौरान राज्य द्वारा किए गए औसत व्यय के आधार पर किया जाता है।
  • किस योजना के तहत जो फंड होगा वह राज्य सरकार को केंद्र सरकार के द्वारा प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत जिला कृषि योजना तथा राज्य कृषि योजना का होना अनिवार्य है।
  • जो एक प्रोत्साहित करने के लिए योजना है जिसके लिए सरकार द्वारा कोई आवंटन प्रदान नहीं किया जाएगा।
  • योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों को अधिक लचीलापन या फ्लैक्सिडिटी दी जाती है जिससे वह आराम से निर्णय ले सके।

राष्ट्रीय कृषि और विकास योजना के अंतर्गत आने वाले प्रमुख क्षेत्र (Major areas covered by the National Agriculture and Development Plan in Hindi) :

  • खाद्यान्न फसल ,गेहूं ,चावल ,मोटा अनाज छोटे अनाज दालें और तिलहन
  • राज्य बीज फार्मों को सहायता
  • एकीकृत कीट प्रबंधन योजना
  • मृदा स्वास्थ्य
  • कृषि यंत्रीकरण योजना
  • पंढरा क्षेत्रों के अंदर और बाहर समेकित गठन प्रणाली का विकास
  • बागवानी उत्पादों को बढ़ावा
  • सेवन बढ़ाएं
  • भूमि सुधार के लिए विशेष योजनाओं का शुभारंभ
  • पशुपालन योजना
  • किसान अध्ययन यात्रा
  • जैविक और अभिनव योजनाएं

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का बजट (The budget of the National Agricultural Development Plan in Hindi) :

  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 11वीं पंचवर्षीय योजना अवधि के दौरान शुरू की गई थी। यह योजना मुख्य रूप से कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में विकास उत्पन्न करने के लिए की गई थी।
  • इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए सरकार द्वारा 25,000 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है।
  • इस योजना से देश के किसानों को अत्यधिक लाभ होगा, इससे किसानों की आय में वृद्धि होगी और उनके द्वारा किए गए उत्पादन में भी वृद्धि होगी।
  • इस योजना के तहत सरकार ने रेशम का उत्पादन और निवेश करने का फैसला किया है।
  • इस योजना के माध्यम से यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि कृषि उत्पादन के क्षेत्रों को बढ़ावा दिया जाए, जिससे किसानों की आय में भी वृद्धि होगी।

Also Read :-

मनरेगा योजना (Manrega Yojana) : युवाओं के लिए सरकार की तरफ से रोजगार का अवसर
पशु बीमा योजना (Livestock Insurance Scheme) : मवेशियों के लिए सुनहरा मौका
किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (Kishore Vaigyanik Protsahan Yojana) : विज्ञान के क्षेत्र में बड़ा कदम।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के फायदे (Benefits Of Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi) :

  • 10000 रुपये प्रति माह के वजीफे के साथ 2 महीने का एक अभिविन्यास प्रदान किया जाता है। अभिविन्यास विभिन्न वित्तीय, तकनीकी और अन्य मुद्दों पर परामर्श प्रदान करता है।
  • इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों को फसलों के बीच के लिए धन राशि प्रदान की जाती है जिससे किसानों को कम दाम पर बीजों की उपलब्धि करवाई जाए।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के लाभ और विशेषताएं (Benefits and Features of Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi) :

  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 29 मई 2017 को देश सरकार द्वारा शुरू की गई है।
  • योजना के माध्यम से कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में विकास सुनिश्चित किया जाएगा।
  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का मुख्य उद्देश्य देश में कृषि और संबद्ध विभागों में विकास करना है। इससे हमारे देश के किसानों की अच्छी आमदनी होगी और वे अपना जीवन अच्छे से जी सकेंगे।
  • इस योजना के माध्यम से यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि देश में उत्पादन भी अच्छी तरह से विकसित हो।
  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 2022 के तहत स्थानीय जरूरतों की फसलों की प्राथमिकताओं को बेहतर ढंग से सुनिश्चित किया जाएगा।
  • देश के किसानों की आय में वृद्धि होनी चाहिए और घटकों को समग्र रूप से हल करके उत्पादन बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए महत्वपूर्ण फसलों में उपज के अंतर को कम करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • देश के सभी राज्यों में उनकी स्थानीय आवश्यकताओं के अनुसार उत्पादन को पूरा करना।
  • किसानों की आय दोगुनी करने के लिए मशरूम की खेती, एकीकृत फूलों की खेती पर भी फोकस रहेगा.
  • देश के युवाओं को सशक्त बनाने के लिए कृषि विकास योजना के तहत कृषि के अलावा विभिन्न प्रकार के कौशल विकास, नवाचार और कृषि व्यवसाय मॉडल का प्रशिक्षण भी प्राप्त होगा।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना ऑनलाइन पंजीकरण (Rashtriya Krishi Vikas Yojana Online Registration in Hindi) :

  • सबसे पहले आपको इसकी ऑफिशियल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट खुलते ही आप होम पेज पर पहुंच जाएंगे।
  • इस होम पेज में आपको अप्लाई के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • यह आपका आवेदन पत्र होगा।
  • इस फॉर्म में आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी ठीक-ठीक भरनी है।
  • इसके बाद आपको सभी संबंधित दस्तावेज अटैच करने होंगे।
  • यह सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपको नीचे दिए गए सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में आपका आवेदन पूरा हो जाएगा।