Categories: Students Forum
| On 12 months ago

RBSE : Secondary Result declared, Jhunjhunu on Top

माशिबो : सेकेंडरी परीक्षा  में झुंझुनूं जिले ने  मारी बाजी।

माशिबो : सेकेंडरी परीक्षा  में झुंझुनूं जिले ने  मारी बाजी

अजमेर, 28 जुलाई 2020, आज माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान , अजमेर की कक्षा 10 का  परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया। घोषित परिणाम के अनुसार झुंझुनूं 88.27% के साथ प्रथम स्थान पर, सीकर 87.64% के साथ दूसरे व  87.20%  के साथ नागौर तीसरे स्थान पर रहा है।

कुल ग्यारह लाख से अधिक परीक्षार्थी

राजस्थान राज्य  में माध्यमिक परीक्षा में कुल विद्यार्थी  11,78,570 पंजीकृत हुए जिनमे 6,52,144 बालक व 5,26,426 बालिकाएं थी। इनमें से 6,33,821 बालक व  5,18,380 बालिकाओं कुल 11,52,201 ने परीक्षा में भाग लिया। राजस्थान राज्य में  बालिकाओं ने सेकण्डरी  वर्ग में बाजी मारी। बालिका वर्ग में बालिकाओं का परीक्षा परिणाम  80.07% रहा जबकि बालकों का परीक्षा परिणाम 78.80% रहा। राज्य का कुल परीक्षा परिणाम  79.38 % रहा।

जिला झुंझुनूं टॉप पर।

कला वर्ग में  झुंझुनूं ने यह सिद्ध कर दिया है कि  राजस्थान का यह जिला माध्यमिक शिक्षा का सिरमौर है। माध्यमिक  वर्ग में जिले में परीक्षा

में दाखिल 41,074 विद्यार्थियों में से  18,015 विद्यार्थियों ने प्रथम श्रेणी प्राप्त की। झुंझुनूं जिले ने जिला रैंकिंग माध्यमिक वर्ग में राजस्थान में पहला स्थान प्राप्त किया।

सीकर के बालक पूरे राज्य में टॉप पर।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अगर आंकड़ो की बात की जाए तो  माध्यमिक वर्ग में  बालक वर्ग में  पूरे राज्य में  86.98% फीसदी सफलता के साथ सीकर राज्य में सबसे आगे रहा। इसके पश्चात झुंझुनूं  96.92 % के साथ दूसरे स्थान पर व  नागौर 86.50 % के साथ तीसरे स्थान पर रहा।

झुंझुनूं की बालिकाएं राज्य की सिरमौर।

माध्यमिक वर्ग  के बालिका वर्ग में  झुंझुनूं की बालिकाओं ने पूरे राज्य में  90.13% सफलता के साथ राज्य में सबसे आगे  रही।  सीकर की बालिकाओं ने  88.49% फीसदी सफलता के साथ दूसरा व नागौर की बालिकाओं ने 88.08% सफलता के साथ राज्य में तीसरा स्थान प्राप्त किया।

सूर्यनगरी जोधपुर को पांचवा स्थान।

जोधपुर जिले में माध्यमिक वर्ग में कुल 61,749 विद्यार्थी पंजीकृत हुए जिनमे 36,014 बालक व 25,735 बालिकाएं थी। इनमें से 35,273 बालक व 25,485 बालिकाओं

कुल 27,478 ने परीक्षा में भाग लिया। जोधपुर जिले में बालिकाओं ने माध्यमिक वर्ग में बाजी मारी। माध्यमिक वर्ग में बालिकाओं का परीक्षा परिणाम 85.23 % रहा जबकि बालकों का परीक्षा परिणाम 84.65% रहा। जिले का कुल परीक्षा परिणाम 84.89% रहा। जिले का राज्य में पांचवा स्थान रहा।

झुंझुनूं का कोई मुकाबला नही।

झुंझुनूं  जिले में माध्यमिक वर्ग में कुल 42,284 विद्यार्थी
पंजीकृत हुए जिनमे 24,737 बालक व 17,547 बालिकाएं थी। इनमें से 23,785 बालक व 17,289 बालिकाओं कुल 41,074 ने परीक्षा में भाग लिया। झुंझुनूं जिले में बालिकाओं  ने कला वर्ग में बाजी मारी। बालिकाओं का परीक्षा परिणाम 90.13% रहा जबकि बालकों का परीक्षा परिणाम  86.92% रहा। जिले का कुल परीक्षा परिणाम 88.27% रहा। जिले का राज्य में पहला स्थान रहा।

सीकर मध्यमिक में दूसरे नम्बर पर।

सीकर जिले में माध्यमिक  वर्ग में कुल 53,755 विद्यार्थी पंजीकृत हुए जिनमे 30,403 बालक व 23,352  बालिकाएं थी। इनमें से  29,766 बालक व 23,097 बालिकाओं कुल 52,863  ने परीक्षा में भाग लिया। सीकर जिले में  बालिकाओं  ने कला  वर्ग में बाजी मारी। कला वर्ग में

बालिकाओं का परीक्षा परिणाम  88.49 % रहा जबकि बालकों का परीक्षा परिणाम 86.98% रहा। जिले का कुल परीक्षा परिणाम  87.64% रहा। जिले का राज्य में दूसरा स्थान रहा।

नागौर तीसरे स्थान पर काबिज।

नागौर जिले में माध्यमिक वर्ग में कुल 62,321 विद्यार्थी पंजीकृत हुए जिनमे 35,020 बालक व 27,301  बालिकाएं थी। इनमें से 34,013  बालक व  26,949 बालिकाओं कुल 60,962 ने परीक्षा में भाग लिया। नागौर  जिले में  बालिकाओं ने  बाजी मारी। माध्यमिक वर्ग में बालिकाओं का परीक्षा परिणाम  88.08 % रहा जबकि बालकों का परीक्षा परिणाम 86.50% रहा। जिले का कुल परीक्षा परिणाम 87.20% रहा। जिले का राज्य में तीसरा  स्थान रहा।

चौथे स्थान पर जालौर।

जालोर जिले में कला वर्ग में कुल 30,113 विद्यार्थी पंजीकृत हुए जिनमे 17,969 बालक व 12,144  बालिकाएं थी। इनमें से 17,574  बालक व  12,004 बालिकाओं कुल 29,578 ने परीक्षा में भाग लिया। जालोर जिले में  बालिकाओं ने माध्यमिक वर्ग में बाजी मारी। बालिकाओं का परीक्षा परिणाम  86.39% रहा जबकि बालको का परीक्षा परिणाम 85.89 % रहा। जिले का कुल परीक्षा परिणाम 86.08% रहा। जिले का राज्य में चौथा  स्थान रहा।

जयपुर में रिकॉर्ड 1,20,673 विद्यार्थियों ने दी परीक्षा।

जयपुर जिले में माध्यमिक वर्ग में कुल 1,22,731 विद्यार्थी पंजीकृत हुए जिनमे 66,280 बालक व 56,451 बालिकाएं थी। इनमें से 64,884 बालक व  55,789 बालिकाओं कुल 1,20,673ने परीक्षा में भाग लिया। जयपुर जिले में  बालिकाओं ने बाजी मारी। कला  वर्ग में बालिकाओं का परीक्षा परिणाम  82.96 % रहा जबकि बालकों का परीक्षा परिणाम 80.01% रहा। जिले का कुल परीक्षा परिणाम  81.37% रहा। जिले का राज्य में तेरहवाँ स्थान रहा।