| On 10 months ago

School Management Tips

एक संस्था प्रधान को याद रखने योग्य शाला फैक्ट्स।

किसी भी संस्था प्रधान को अपने विद्यालय के निम्न फैक्ट्स हर समय याद रहना उसके लिए मददगार है-

किसी भी संस्थाप्रधान को वर्तमान युग में शाला सम्बंधित विभिन्न प्रकार की सूचनाएं याद रखनी पड़ती है। सबसे पहले तो उसे विद्यालय की ईमेल आईडी व उसका कोड, शाला दर्पण कोड, इंस्पायर अवार्ड कोड, छात्रवृत्ति पोर्टल कोड इत्यादि याद रखने चाहिए।

1. विद्यालय का स्थापना वर्ष, क्रमोन्नति वर्ष, संकाय आरम्भ होने का वर्ष।
2. विद्यालय संस्थापन सुचना यथा वर्गवार कुल, कार्यरत व रिक्त पद। रिक्त पद के रिक्त होने की दिनांक, सेवनिवर्ति के नजदीक कार्मिक की सेवनिवर्ति तिथि। विद्यालय में विभिन्न बजट हेड व उनमे वेतन आहरण वाले कार्मिक।
3. विद्यालय नांमाकन सुचना। प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, माध्यमिक व उच्च माध्यमिक वर्ग की पृथक पृथक बालक- बालिका।
4. विद्यालय भवन, पट्टे की स्तिथि, कुल भौतिक सुविधाओं यथा कक्षा कक्ष, खेल मैदान, पुस्तकालय, लेब, कार्यालय, स्टाफ रम, भण्डार, प्याऊ, कम्प्यूटर कक्ष इत्यादि के विवरण सहित। अंतिम निर्माण व वर्तमान में निर्माणाधीन भौतिक सुविधा का हैड व प्रयुक्त राशि।
5. विद्यालय के प्रमुख भामाशाह के नाम, व्यापार, संपर्क सूत्र, सर्वाधिक सहयोग करने वाले भामाशाह का नाम, वर्तमान में सक्रिय भामाशाहों का विवरण।
6. विद्यालय में संचालित SDMC व SMC का मूल परिचय, अध्यक्ष सचिव सक्रिय सदस्य नाम, अंतिम बैठक की दिनांक व बैठक में लिया गया सर्वाधिक महत्वपूर्ण निर्णय, आगामी बैठक की दिनांक।
7. स्कुल ईमेल आईडी, शाळा दर्पण, पे मेनेजर, प्रोजेक्ट UTKARSH , यु डाइस, निःशुल्क पोषाहार हेतु दूरभाष नम्बर की वेबसाइट का url व कोड । आपातकालीन दूरभाष नम्बर।
8. छात्रवर्ति, रमसा, एसएसए व विभाग की वेबसाइट के नाम।
9. दिव्यांगता के प्रकार एवम विद्यालय में अध्धयनरत दिव्यांग विद्यार्थियों की सुचना एवम 40% से अधिक दिव्यांग विद्यार्थियों के नाम।
10. विद्यालय में संचालित होने वाली मुख्य शैक्षिक व सहशैक्षिक प्रवर्तिया व उनके प्रभारी अधिकारी के नाम।
11. अध्यापक- अभिभावक समिति के अध्यक्ष का नाम व बैठक आयोजन हेतु विद्यालय कलेंडर।
12. केंद्र व राज्य सरकार द्वारा देय छात्रवर्तिया व छात्रोपयोगी योजनाए एवम विद्यालय में उनमे लाभान्वितों की संख्या। इंस्पायर अवार्ड, लैपटॉप, गार्गी हेतु चयनित विद्यार्थी का नाम।
13. ग्राम पंचायत के राजस्व ग्राम, विद्यालय व आगनवाड़ी, ग्राम सरपंच- पटवारी-ग्रामसेवक-आगनवाड़ी कार्यकर्ता- BLO- नोडल- चिकत्सक का नाम। पंचायत समिति के BDO व BEEO का नाम, रमसा अधिकारीगणो, जिशिअ व उपनिदेशक कार्यालय के प्रमुख अधिकारीगणो के नाम व दूरभाष नम्बर।केंद्रीय किचन प्रभारी सुचना, राष्ट्रीय आपदा अधिकारी, जिला साक्षरता व सतत शिक्षा अधिकारी, स्काउट व NCC अधिकारी, जिला प्रशासन अधिकारी सुचना। स्थानीय विधानसभा क्षेत्र का नाम व जिला प्रमुख, विधायक व सांसद महोदय की पूर्ण जानकारी।
14. विद्यालय में संचाळीत NCC, NSS, SCOUT, GUIDE इत्यादि का वर्ष, प्रभारी व सम्बंधित अधिकारी का नाम।
15. विद्यालय में संधारित हॉनर वाली केशबुक्स का प्रकार व उनका अंतिम शेष व विद्यालय चेस्ट में रखी राशि। यात्रा भत्ता, महंगाई भत्ता, GPF, MRPF, SI कटौती दर।
16. विद्यालय में संचालित होने वाले राष्ट्रीय, राज्य व विभागीय कार्यक्रमों के नाम, उद्देश्य, विद्यालय प्रभारी व सम्बंधित समंक।
17. विद्यालय से सम्बंधित न्यायिक प्रकरण, याचिका संख्या, आगामी दिनांक, राजकीय अधिवक्ता का नाम।
18. विद्यालय हेतु कठिनाइयों का विवरण मय संभावित समाधान व कार्यकारी एजेंसी।
19. विद्यालय, विभाग व शिक्षा शास्त्र में प्रचलित Abbreviations, शिक्षा क्षेत्र हेतु गठित विभिन्न आयोग के अध्यक्षों द्वारा प्रदत्त सुझाव, शिक्षा नीति के वर्ष व प्रमुख सुझाव, आर एस आर, शिक्षा सहिता, कार्यालय कार्य प्रणाली, सामान्य वित्तीय नियम के प्रमुख प्रावधान।
20. विद्यालय योजना के प्रमुख कम्पोनेन्ट, निरीक्षण हेतु केलेंडर व प्रतिवेदन भेजने की तारीख।
21. प्रवेश नियम, कक्षा क्रमोन्नति नियम, बोर्ड परीक्षा में नियमित व स्वयंपाठी विद्यार्थियों हेतु नियम। टीसी, पुनप्रवेश नियम। शिक्षण शुल्क व विद्यार्थियों से प्राप्त की जाने योग्य विभिन्न शुल्क राशिं। समान परीक्षा हेतु देय प्रति छात्र-छात्रा राशिं।
22. SIQE व CCE के तहत पाठयोजना, बेसलाइन सर्वे, मूल्यांकन नियम , स्टूडेंड्स प्रोफाइल के नियम।
23. राष्ट्रगान, राष्ट्रगीत, एक प्रार्थना, प्रतिज्ञा, एक जागरण गीत, राष्ट्रीय चिन्ह- पशु- पक्षी- राज्यो की राजधानियाँ, संवैधानिक पदो पर कार्यरत व्यक्ति इत्यादि।
24. शिविरा केलेंडर, प्रतिमाह उपलब्ध कार्यदिवस, पदानुसार कार्य मानदंड। विद्यालय की शिक्षण परिविक्षण योजना, गृह कार्य योजना इत्यादि।
25. विभिन्न आयुवर्ग के अनुसार शारारिक मानदण्ड, विभागीय खेलकूद में खेले जाने वाले खेल और उनमे भाग लेने के नियम व प्रक्रिया।

View Comments

  • बहुत उत्तम जानकारी युक्त यह page ।मुझे अच्छा लगा।मैं भी राजकीय शिक्षा विभाग राजस्थान का एक सेवा निवृत (जिला शिक्षा अधिकारी एवम प्रधानाचार्य DIET पद से) एक शिक्षक हु जो राजकीय सेवाओं के बाद भी अनवरत अपनी सेवाएं इक्छुक छात्र छात्राओं को उनके उज्वल भविष्य के लिए सतत दे रहा हूँ।मेरा यही उद्देश्य है कि देश का हर युवक अपने ज्ञान और कौशल से अपने देश को समृद्धशाली बनाने का संकल्प लेकर देश हित मे अपनी सेवाएं अर्पित करे।
    जय जय साक्षरता जय जय भारत वर्ष महान ।

  • It is very important information for head Master and Principal etc.