Categories: Shala Darpan Updates
| On 5 months ago

Shala Darpan : Process to change in name at Shala Darpan

शाला दर्पण : शाला दर्पण पर कार्मिक नाम संशोधन की प्रक्रिया!

किसी भी कार्मिक का सही नाम अभिलेख व शाला दर्पण में लिखा होना आवश्यक है। नाम मे परिवर्तन की स्थिति या नाम गलत होने या अलग अलग अभिलेख में अलग-अलग नाम अंकित होने से सेवानिवृत्ति के समय अनावश्यक परेशानियों का सामना करना पड़ता है एवम सेवानिवृत्ति लाभों को प्राप्त करने में बाधा उतपन होती है।

किन अभिलेखों में नाम समान होना चाहिए?

निम्नलिखित अभिलेखों में नाम एक समान होना चाहिए-
1. कक्षा 10 वीं की अंकतालिका व प्रमाण पत्र।
2. कक्षा 10 व ततपश्चात समस्त अंकतालिकाओं/प्रमाणपत्रों में नाम।
3. आपकी प्रथम नियुक्ति वाले पद की न्यूनतम शैक्षिक/प्रशैक्षणिक योग्यता में अंकित नाम।
4. सेवा पुस्तिका के प्रथम पृष्ठ पर अंकित नाम।
5. राजकीय वेतन से सम्बंधित बैंक खाते में नाम।
6. आधार कार्ड में लिखित नाम।
7. पेन कार्ड में अंकित नाम।
8. विभागीय पोर्टल यथा शाला दर्पण में अंकित नाम।
9. अन्य आवश्यक प्रमाण पत्रों में नाम।

विभिन्न दस्तावेजों में नाम अलग होने के दुष्परिणाम-

राजकीय सेवा में विभिन्न दस्तावेजों में नाम एक समान अंकित नही होने पर राज्यसेवक को सेवा निवर्ती लाभों विशेषकर पेंशन जारी होने में अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। कार्मिक की दुर्भाग्यवश मृत्यु हो जाने पर उत्तराधिकारियों को अनावश्यक परेशानी का सामना करना पड़ता है।

दस्तावेजों में नाम परिवर्तन-


कुछ राजकीय दस्तावेजों में परिवर्तन करवाने की प्रक्रिया उपलब्ध है। अतः कक्षा 10 की अंकतालिका व प्रथम नियुक्ति पत्र को आधार मानकर तदनुसार अन्य दस्तावेजों में समयानुसार नाम परिवर्तन करवाकर अनावश्यक परेशानी से बचना चाहिए।
विभागीय पोर्टल, विभागीय दस्तावेजो, आधार कार्ड, पेन कार्ड इत्यादि में नाम परिवर्तन की व्यवस्था उपलब्ध है। यह समस्त जानकारी हम आपको इस लेख में क्रमशः उपलब्ध करवाएंगे।

शाला दर्पण पर कार्मिक नाम संशोधन की प्रक्रिया-

शाला दर्पण में किसी कार्मिक का नाम सम्मिलित करने हेतु प्रपत्र-10 भरा जाता है उसी के अनुसार कर्मचारी का नाम प्रदर्शित होता है। कार्मिक के नाम परिवर्तन हेतु शालादर्पन पर निम्नलिखित प्रक्रिया है-

शाला दर्पण पर कार्मिक के नाम मे संशोधन की प्रक्रिया-
(वर्तमान व्यवस्था)

कार्मिक के नाम संशोधन हेतु कार्मिक का  सेकेंडरी प्रमाण पत्र , सेवा पंजिका का के प्रथम पेज की प्रति सहित विद्यालय हेल्प सेंटर मोड्यूल में Staff Rellated Issues -> “Staff Name & Emp Id updation” sub category का चुनाव करते संग्लन मैनुअल में दिए गए फॉरमेट अक्षरशः पालना करते हुए अपलोड करे |

यदि किसी कार्मिक का नाम मे संशोधन पूर्व में गलत सूचनाओं के साथ दर्ज किया गया है तो अविलम्ब उसे विद्यालय लॉगिन से

क्लोज्ड करते हुए पुनः टोकन जेनेरेट करना चाहिए व  एक ही संशोधन के लिए एक से अधिक टोकन नही हो। साथ ही संस्था प्रधान लॉगिन से जनरेटर  किये गए टोकन यदि हल (Solve) हो गए है अर्थात कार्मिक का नाम सही हो गया है तो तुरंत क्लोज्ड करे।

शाला दर्पण पर कार्मिक के नाम के सम्बंध में -

शाला दर्पण पोर्टल पर कार्मिक के नाम संशोधन हेतु विद्यालय हेल्प सेंटर मोड्यूएल पर अद्यतन हेतु प्रस्ताव प्राप्त हो रहे अतः स्प्ष्ट किया जाता है पोर्टल पर संशोधन हेतु-
०कार्मिक का  सेकेंडरी प्रमाण पत्र
०सेवा पंजिका का के प्रथम पेज की प्रति
अपलोड करें।

नोट- प्राप्त संशोधन प्रस्ताव में ये देखने मे आया है कि कुछ कार्मिको द्वारा नाम संशोधन आधार कार्ड अनुरूप करवाये जाने हेतु आवेदन किया है , जो कि सेवा रिकॉर्ड में जानबूझकर संज्ञान होते हुए भी प्रधानाचार्य द्वारा प्रमाणित कर भिजवाया जा रहा है। अतः समस्त peeo /प्रधानचार्य सेवा रिकॉर्ड अनुसार नाम अद्यतन होने के स्थिति में ही प्रस्ताव भिजवाये।

आधार में गलत होने की स्थिति में आधार में सही करवाये जाने हेतु आवेदन करें।

पोर्टल पर एक बार आधार ऑथेंटिकेशन होने बाद किसी भी स्तर पर आप नाम संशोधन नही करवा पाएंगे और इसके लिए आप स्वयं जिम्मेदार होंगे और पोर्टल

पर आपके संशोधन टोकन हमेशा उपलब्ध रहेगा,अतः आपके विरुद्ध कार्यवाही निर्देशानुसार निश्चित आवश्यक  रूप से सक्षम स्तर को प्रस्तावित हो सकती है। अतः यदि गलत तथ्यों के आधार पर संस्था प्रधान द्वारा टोकन जनरेटर  किया गया है तो टोकन तुरंत क्लोज्ड करे।

निम्नानुसार कार्यवाही भी कीजिए-

शाला दर्पण में किसी कार्मिक का नाम सम्मिलित करने हेतु प्रपत्र-10 भरा जाता है उसी के अनुसार कर्मचारी का नाम प्रदर्शित होता है।

यह फॉर्म जरिये संस्थाप्रधान भेजा जाता है। उपरोक्त फॉर्म भरते समय निम्नलिखित सावधानी अपेक्षित होती है-

  1. फॉर्म में प्रेषक की जगह विद्यालय के संस्था प्रधान की मोहर लगायें।
  2. SIPF Portal से कार्मिक की एम्प्लोयी आईडी का
    प्रिंट लेकर और कक्षा 10 की अंकतालिका, सर्विस बुक
    प्रोफाइल पेपर को स्कैन करके फॉर्म के साथ संलग्न कर शाला दर्पण पर स्कुल लॉगिन द्वारा शाला दर्पण हेल्प डेस्क पर कम्प्लेन दर्ज करें।
  3. एक से ज्यादा कार्मिकों की स्थिति में संलग्नर प्रपत्रों की संख्या जरूर लिखें।
  4. हस्ताक्षर संस्था प्रधान मय मोहर के बाद संस्था प्रधान के मोबाइल नंबर जरूर लिखें।

शाला दर्पण पर कार्मिक सूचनाओ को अपडेट की प्रक्रिया-

1- एम्प्लोयी आईडी, वर्तमान विद्यालय में कार्यग्रहण तिथि(मध्यान्ह पूर्व/पश्चात) ,जन्म दिनांक , मोबाइल नंबर , आधार नंबर,जेंडर , पद स्थापन का प्रकार (टेम्पररी /परमानेंट ) में संशोधन-

  • ये सभी संशोधन
    मा. शिक्षा के विद्यालयों के लिए सम्बन्धित प्रधानाध्यपक/प्रधानाचार्य व प्रा शिक्षा के विद्यालय के PEEO लॉग इन से कार्यग्रहण (3A) में कार्यालय स्तर पर किया जाने का विकल्प उपलब्ध है |राज्य स्तर पर उक्त प्रकार के संशोधन हेतु प्रकरण प्रेषित न करे |

2- कार्मिक के नाम में संशोधन –

  • कार्मिक के नाम संशोधन हेतु कार्मिक का सेकेंडरी प्रमाण पत्र , सेवा पंजिका का के प्रथम पेज की प्रति सहित विद्यालय हेल्प सेंटर मोड्यूल में Staff Rellated Issues -> “Staff Name & Emp Id updation” sub category का चुनाव करते समस्त संग्लन अपलोड करते हए आवेदन करे ..