| On 10 months ago

Shala Darpan : How to issue Transfer Certificate and Character Certificate

शाला दर्पण :  स्थानांतरण प्रमाण पत्र व चरित्र प्रमाणपत्र कैसे जारी करे।

शाला दर्पण : स्थानांतरण प्रमाण पत्र व चरित्र प्रमाणपत्र कैसे जारी करे।

स्थानांतरण प्रमाणपत्र।

3
स्थानांतरण प्रमाणपत्र (Transfer Certificate) जिसे हम साdp

मान्य भाषा मे टीसी कहते है , एक अत्यंत महत्वपूर्ण प्रलेख है। किसी भी विद्यालय द्वारा टीसी जारी करते समय पूर्ण The aनी रखनी चाहिए।

स्थानांतरण प्रमाण पत्र जारी करते समय सावधानी।
स्थानांतरण प्रमाण पत्र जारी करते समय ध्यान टखना चाहिए कि विद्यार्थी से सम्बंधित निम्नलिखित सूचनाएं पूर्णतया सही हो। जैसे-


विद्यार्थी का नाम: विद्यार्थी का नाम पूर्णतया सही हो। जैसा नाम वह पिछले स्थानांतरित स्थान से टीसी में अंकित करके लाया हो अथवा जैसा उसके प्रवेश आवेदन पत्र में अंकित हो।


जन्मतिथि: विद्यार्थी की अंकों व शब्दो मे जन्मतिथि एक जैसी हो तथा अभिलेख के अनुसार हो।


माता/पिता का नाम: माता/पिता का नाम भी जांच कर लेना आवश्यक है।


उतीर्ण कक्षा: विद्यार्थी द्वारा उतीर्ण कक्षा का सही उल्लेख होना आवश्यक है।

नोट: संस्था की गलती से जब अशुद्ध टीसी जारी हो जाती है तो अभिभावकों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। जन्मतिथि व नाम मे गलती रह जाने पर अभिभावकों को कठोर प्रक्रिया का सामना करना पड़ता है।

शाला दर्पण से टीसी निकालते समय की सावधानी-

स्कूल से टीसी जारी करने से पूर्व संस्था प्रधान को शाला दर्पण पर लॉगिन करने के पश्चात निम्नलिखित कार्य करने होंगे-

स्टूडेंट का चरित्र प्रमाण पत्र जारी करना

1. शाला दर्पण पर लॉगिन होने के पश्चात डैशबोर्ड पर  स्टूडेंट्स टैब Student Tab पर क्लिक करके सबसे पहले करेक्टर सर्टिफिकेट पर क्लिक करना है। करेक्टर सर्टिफिकेट हेतु विद्यार्थी का नाम हम by name, by tc, अध्ययनरत माध्यम से प्राप्त करते है। अध्यन्नरत को सेलेक्ट करने पर हमको विद्यार्थी का SR नम्बर डालना पड़ता है।
इसके बाद हमको विद्यार्थी सम्बंधित सूचना show होगी। जिसमें show certificate भी होगा। शो सर्टिफिकेट पर क्लिक करने पर विद्यार्थी का करेक्टर सर्टिफिकेट प्रदर्शित होगा। इसका प्रिंट लेकर हमको स्कूल नाम , विद्यार्थी हस्ताक्षर , कक्षाध्यापक हस्ताक्षर, संस्थाप्रधान हस्ताक्षर व डेट अंकित करनी पड़ेगी।
विद्यार्थी को टीसी जारी करने से पूर्व उसका चरित्र-प्रमाण पत्र निकाल कर अभिभावकों को सुपुर्द कर पावती लेनी चाहिए क्योंकि एक बार टीसी जारी कर देने के बाद चरित्र-प्रमाण पत्र जारी करने में कठिनाई होती है।

विद्यार्थी का

2d

स्थानांतरण प्रमाण पत्र जारी करना

2. इसके बाद दूसरे चरण में विद्यार्थी की टीसी जारी करने से पूर्व विद्यार्थी का विवरण पत्र (प्रपत्र 9) , अदेय प्रमाणपत्र सूचना व प्रवेश सम्बंधित विवरण पूर्णकर लेना चाहिए।

शाला दर्पण पर टीसी जारी करने से पूर्व इस पोर्टल पर विद्यार्थी से सम्बंधित कुछ सुचनाओ को अपडेट करना होता है-

उपरोक्त सुचनाओ को अपडेट करते समय यह ध्यान रखना है कि सत्र 2019-20 में विद्यार्थी की मीटिंग सँख्या में 20 मार्च 2020 तक ही दर्ज करनी है। इसी के आधार पर Number of school meeting व student present

परीक्षा परिणाम घोषित होने की दिनाँक 20 अप्रैल 2020 अंकित की जाएगी (बोर्ड के अलावा)! आपकी सुविधार्थ परीक्षा परिणाम के संदर्भ में निदेशालय द्वारा जारी आदेश सम्मिलित किया गया है-

इसी प्रक्रिया में टीसी जारी करने से पूर्व आपको "टीसी जारी करने का कारण" भी शाला दर्पण पर दर्ज करना होगा। इस सम्बंध में आप कारण का चयन समझ कर ही दर्ज करें-

टीसी जारी करने से पूर्व एक बार समस्त एंट्री जांच कर लेनी चाहिए ताकि भविष्य में किसी प्रकार की समस्या का सामना नही करना पड़े।

जब तक हम टीसी जारी नही करते तब तक तैयार टीसी को "Drafted TC" के नाम से शो किया जाता है। ड्राफ्टेड टीसी में परिवर्तन सम्भव है लेकिन जारी करने के बाद परिवर्तन सम्भव नही होता है।

ड्राफ्ट टीसी में टीसी जारी करने का क्रमांक शो नही होता है जबकि फाइनल जारी होने वाली टीसी में टीसी जारी करने का नम्बर शो होता है।

इस प्रकार जारी की गई टीसी को आप पेरेंट/माता-पिता से पावती लेकर ही उनको टीसी सुपुर्द कीजिये।

टीसी से सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी-

टीसी से सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी आप निम्नलिखित लेख से प्राप्त कर सकते है।

https://shivira.com/transfer-certificate-rules-regarding-issue-of-transfer-certificate-by-government-schools-in-rajasthan/