Categories: Shala Darpan Updates
| On 3 months ago

Shala Darpan : Updates related to December 2020

Share

शाला दर्पण : माह दिसम्बर 2020 से सम्बंधित अपडेट।

शाला दर्पण अपडेट

शाला दर्पण शिक्षा विभाग राजस्थान का सबसे महत्वपूर्ण वेब पोर्टल है। प्रत्येक संस्था प्रधान को शाला दर्पण में होने वाले समस्त महत्वपूर्ण परिवर्तन की जानकारी आवश्यक है। इस आलेख में माह दिसम्बर 2020 से सम्बंधित समस्त अपडेट नियमित रूप से सम्मिलित करने का प्रयास किया गया है-

दैनिक अपडेट दिनाँक 31 दिसम्बर 2020

SMILE 2.0

शाला दर्पण में एक नई अपडेट आयी है।
नई अपडेट का मतलब है एक नई टैब जोड़ी गयी है smile 2.0 जिसमे कक्षा-अध्यापक वार विद्यार्थियों को दिए जाने वाले होम वर्क की जानकारी अपडेट करनी है ऑनलाइन।

जिसके निम्न चरण है।
1 सर्वप्रथम अपने विद्यालय के शाला दर्पण पोर्टल पर लॉगिन करे।
2 उसके बाद पोर्टल पर मौजूद क्लास टीचर मैपिंग वाले टैब में कक्षा वार अध्यापकों के नाम सेलेक्ट करे।
3 सेलेक्ट करने के बाद उसको सेव कर दे।
4 उसके बाद अध्यापक स्टाफ कार्नर वाले टैब में अपने-अपने व्यक्तिगत शाला दर्पण पोर्टल पर लॉगिन करेंगे।
5 लॉगिन के बाद टॉप साइड कार्नर से smile 2.0 वाली टैब पर क्लिक करेंगे।
6 smile 2.0 वाली टैब सेलेक्ट करते ही एक विंडो खुलेगी। जिसमे अपनी कक्षा सेलेक्ट करनी है।
7 कक्षा सेलेक्ट करते ही आपकी की कक्षा में नामांकित समस्त विद्यार्थियों की सूची आ जायेगी। जिनकी जानकारी उनके नाम के आगे वाले कॉलम में भरनी है।
8 यदि आप एक से ज्यादा कक्षा के कक्षाध्यापक है तो आपको अपनी दूसरी एवम क्रमशः तीसरी कक्षा को उसी प्रकार सेलेक्ट करना है।
9 कक्षाध्यापक द्वारा भरी गई जानकारी स्कूल के main शाला दर्पण पोर्टल पर दिखाई देगी।
10 जहाँ से संस्था प्रधान मोनिटरिंग कर सकते है।

नोट:- विद्यालय शाला दर्पण कोड 6 अंक का एवम अध्यापक व्यक्तिगत शाला दर्पण कोड 7 अंक का होता है।

टीम शाला दर्पण
समग्र शिक्षा - सीकर (राज.)

अपडेट दिनाँक 26 दिसम्बर 2020

निःशुल्क पाठ्य पुस्तक डिमांड 2021-22 के सम्बंध मे
नोट -

1. निशुल्क पाठ्य पुस्तक विद्यालय स्टोंक रजिस्टर से "प्रारम्भिक स्टोक", "वितरित स्टोक" व "अन्तिम शेष" का मिलान/सत्यापन पोर्टल पर "School Stock Entry" से कर "School Demand(2021-22)" लॉक किया जाना है , अन्यथा गलत मांग जनरेट की स्थिती में संबंधित संस्था प्रधान जिम्मेदार होगा।
2. सत्र 2021-22 के लिए विद्यालय मांग लॉक करने से पूर्व विद्यालय में संचालित कक्षा व अध्ययनरत विद्यार्थियों के अनुसार पोर्टल पर पुस्तकों का चयन "School Text Book Profile" में सावधानी पूर्वक करें, संचालित पुस्तक का चयन नहीं किये जाने के स्थिती में मांग जनरेट नहीं होगी।
3. नये सत्र की डिमांड जनरेट करने से पहले कक्षा 6 से 10 तक विद्यार्थी वार तृतीय भाषा की मैपिंग प्रपत्र 7ए में किया जाना है अन्यथा संचालित तृतीय भाषा का नामांकन कक्षा के कुल नामांकन के अनुरूप प्रदशिर्त नहीं होगा।
4. कक्षा 11 से 12 के में अध्ययनरत विद्यार्थी वार वैकल्पिक विषय की मैपिंग प्रपत्र 7 में किया जाना है अन्यथा संचालित वैकल्पिक विषय का नामांकन कक्षा के कुल नामांकन के अनुरूप प्रदशिर्त नहीं होगा।
5. कक्षा 1 से 8 के समस्त विद्यार्थियों एवं कक्षा 9 से 12 के समस्त छात्राओं, अनुसूचित जाति एवं जन जाति के समस्त छात्र एवं वे छात्र जिनके माता-पिता आयकर दाता नहीं है(विद्यार्थी के माता पिता आयकर दाता होने की स्थिती में प्रविष्ट प्रपत्र-9 में करें), को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध करवायी जानी है।
6. शैक्षिक सत्र 2021-22 के लिए निशुल्क पाठ्य पुस्तक की मांग के आकलन का आधार कक्षा 3 से 10 व 12 के लिए शैक्षिक सत्र 2020-21 में पंजीकृत कक्षावार विद्यार्थी संख्या को आगमी कक्षा में मानते हुए मांग जनरेट होगी, कक्षा 1 व 2 की मांग शैक्षिक सत्र 2019-20 पंजीकृत कक्षावार विद्यार्थी संख्या के अनुसार होगी तथा कक्षा 11 के लिए वर्तमान में सत्र के अनुसार होगी |
7. कक्षा 1 से 3 तक सभी विद्यार्थियों को 100 प्रतिशत नई निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें दी जाएंगी
8. कक्षा 4 से 12 तक वे पुस्तके जो वर्तमान सत्र में संचालित है तथा आगामी सत्र में भी संचालित होगी की कुल मांग में से वर्तमान सत्र में विद्यार्थियों को वितरित कुल पुस्तकों की 50 प्रतिशत पुस्तकें वापस प्राप्त की जा कर आगामी सत्र में वितरण की जानी है।
9. कक्षा 1 से 12 तक वे पुस्तके जो वर्तमान सत्र में संचालित है तथा आगामी सत्र में भी संचालित होगी का अवितरित नयी पुस्तको का स्टॉक कुल मांग में से कम किया जाकर मांग जनरेट होगी।

पुस्तक मांग एक बार लॉक करने के पच्शत विद्यालय तब तक मांग को पुनः अनलॉक कर सकता है जब तक विद्यालय के नोडल ने मांग को लॉक नहीं किया है | इसके पुरान्त विद्यालय 2021-22 की पुस्तक मांग को अनलॉक नहीं कर सकेगा |

शालादर्पण अपडेट दिनांक - 24.12.2020

शिक्षण कार्य व्यवस्थार्थ लगे हुए कार्मिकों को विद्यालय से तभी कार्य मुक्त किया जा सकता है जब आदेशकर्ता कार्यालय द्वारा उनका शाला दर्पण के माध्यम से ड्राफ्ट जनरेट किया गया हो तथा अप्रूवल पश्चात ऑनलाइन आदेश जनरेट किया गया हो। ऑनलाइन आदेश जनरेट होते ही कार्मिक के विद्यालय में उसका नाम कार्य मुक्ति हेतु पेंडिंग प्रदर्शित होने लगता है और उसे कार्यमुक्त किया जा सकता है। जो कार्मिक पहले से ही अन्यत्र व्यवस्थार्थ लगे हुए हैं उनके आदेश भी शाला दर्पण के माध्यम से ऑनलाइन जनरेट करने हैं तब उनकी विद्यालय से ऑनलाइन कार्य मुक्ति संभव हो पाएगी। किसी भी कार्मिक का ऑनलाइन आदेश जनरेट हुए बिना विद्यालय से उसकी कार्यमुक्ति ऑनलाइन संभव नहीं है। शिक्षा विभाग के अलावा जिला प्रशासन द्वारा कार्य व्यवस्था लगे हुए कार्मिकों का ऑनलाइन आदेश भी शिक्षा विभाग के ब्लॉक, जिला अथवा मंडल स्तरीय कार्यालय द्वारा, प्रशासन से जारी आदेश के आधार पर जनरेट किया जाना है तभी उनकी ऑनलाइन कार्य मुक्ति संभव हो पाएगी।

द्वारा: Rajender Prasad Meel, सहायक निदेशक, शाला दर्पण, माध्यमिक शिक्षा निदेशालय, राजस्थान, बीकानेर।

अपडेट दिनाँक 04 दिसम्बर 2020

आंगनबाड़ी समन्वयन एवं शालादर्पन पोर्टल पर आंगनबाड़ी लिंकिंग मॉड्यूल में सूचना प्रविष्टि के सम्बंध में विस्तृत दिशा निर्देश👇👇

अपडेट दिनाँक 01 दिसम्बर 2020

शिक्षण/कार्य व्यवस्थार्थ हेतु कार्यग्रहण/✍कार्यमुक्ति मॉड्यूल अब स्कूल लॉगिन पर