अविश्वसनीय लेकिन सत्य | साठ साल पहले चलती थी कलकत्ता से लंदन के बीच बस

IMG 20220815 WA0109 | Shivira Hindi News

यह सुनने में आपको बड़ा अजीब लग रहा होगा कि आप भारत के कलकत्ता में बस पर सवार होकर कुछ दिनों की यात्रा द्वारा लंदन पहुँच सकते है। हालांकि यह सुनने में बड़ा अजीब लगता है लेकिन सोशल मीडिया पर प्रचलित इस किस्से का आज हम फैक्ट चैक करने वाले है। सबसे पहले सोशल मीडिया पर जारी इस किस्से को पढ़ते है।

सोशल मीडिया पर कलकत्ता-लंदन बस यात्रा की वाइरल स्टोरी।

img 20220815 wa01094816457877053067183 | Shivira Hindi News
london to calcutta bus service1434891316688635282 | Shivira Hindi News

तस्वीर देख कर हैरान मत होईए। ये बात सच है कि कभी दिल्ली से लंदन आप बस से भी जा सकते थे क्योंकि तब दुनिया का सबसे लम्बा सड़क मार्ग कलकत्ता से लंदन हुआ करता था और इस मार्ग पर बस भी चलती थी।

कोई हिंदुस्तानी या अंग्रेज ने नहीं बल्कि सिडनी की अल्बर्ट टूर एंड ट्रेवल्स कंपनी ने शुरु की रहे ये सेवा। 1950 के दशक के शुरू में होने के बाद लगभग 25 साल तक चली पर बाद में इसे किन्ही कारणों से बंद करना पड़ा। किराया था महज 85 पाउंड्स से लेकर 145 पाउंड्स।

कलकत्ता से शुरू होकर बनारस, इलाहाबाद, आगरा, दिल्ली से होते हुए लाहोर, रावलपिंडी,काबुल कंधार, तेहरान,इस्तांबुल से बुलगेरिया, युगोसलाविया,वीएना से वेस्ट जर्मनी और बेलजियम से होते हुए ये बस लंदन पहुंचती थी। इस दौरान ये करीब 20300 KM चलती थी और 11 मुल्कों को क्रॉस करती थी।

फैक्ट चेक

ऊपरोक्त सोशल मीडिया वाइरल न्यूज़ का हमने फैक्ट चेक करने के लिए गूगल पर कम्प्लीट सर्च किया तो हमने यह पाया है कि-

  • इस बस सेवा को सिडनी की एक कंपनी अल्बर्ट टूर एंड ट्रेवल्स ने 1950 में शुरू की थी, जो 1973 तक जारी रही।
  • कोलकाता से इस बस की शुरुआत होती थी और इसके बाद यह नई दिल्ली, काबुल, तेहरान, इस्तांबुल होते हुए लंदन पहुंचती थी। फिर इसी रूट से यह बस वापस लौटती थी।
  • 1972 में कोलकाता से लेकर लंदन के लिए इस बस सेवा का किराया 145 पाउंड था, जिसमें बस का भाड़ा, खाना, नाश्ता और रास्ते में होटल में रुकने की सुविधा शामिल रहती थी। 
  • इस बस में यात्रियों को स्लीपिंग बर्थ की सुविधा मिलती थी। इसके साथ ही खिड़की से यात्री बाहर का नजारा ले सकते थे। 
  • बस के टिकट में ये भी लिखा होता था कि अगर भारत और पाकिस्तान के बीच बॉर्डर बंद हुए तो यात्रियों को पाकिस्तान के ऊपर हवाई यात्रा से ले जाया जाएगा।
  • बस का रूट इंग्लैंड, बेल्जियम, पश्चिम जर्मनी, ऑस्ट्रिया, यूगोस्लाविया, बुल्गारिया, तुर्की, ईरान, अफगानिस्तान, पश्चिम पाकिस्तान से होता हुआ भारत पहुंचने का था।  
  • बस में पढऩे की सुविधा, व्यक्तिगत स्लीपिंग बंक्स, पार्टियों के लिए रेडियो टेप संगीत और तापमान नियंत्रित करने के लिए फैन हीटर उपलब्ध थे।

क्या आप ऐसी बस में यात्रा करना पसंद करेंगे?

कल्पना कीजियेगा की यदि कोई बस कम्पनी आज की दिनाँक में ऐसी यात्रा कलकत्ता से लंदन के बीच शुरू करती है तो आप

  • क्या यात्रा करना पसंद करेंगे?
  • आपके अनुमान से किराया कितना होगा?

आपके जबाब का इंतजार रहेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top