Categories: Health

Sprouts Diet For Weight Loss : वज़न कम करना चाहते हैं तो स्प्राउट को अपने नाश्ते में शामिल करें, जानिए फायदे

Sprouts (स्प्राउट) अंकुरित - Sprouts को अंकुरित अनाज के नाम से जानते हैं। यह अनाज और फलियों के अंकुरित बीज होते हैं, जिन्हें हम पौष्टिक आहार में सम्मिलित करते हैं। प्राकृतिक चिकित्सा में अंकुरित अनाज को दवा के रूप में माना जाता है। सुबह- सुबह अंकुरित अनाज खाने से शरीर में Protin (प्रोटीन) की कमी नहीं होती तथा अंकुरित अनाज के द्वारा हमारे शरीर को आवश्यक पोषक तत्व मिलते हैं।

BreakFast (नाश्ता) पुरे दिन-भर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। यह हमारे शरीर को स्वस्थ रखता है, तथा दिन-भर ऊर्जावान बनाए रखता है। पौष्टिक आहार हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है। पौष्टिक आहार की बात करें तो Sprouts (स्प्राउट) अंकुरित सबसे बेहतर होता है। अंकुरित अनाज को नाश्ते में इस्तेमाल करना अच्छा विकल्प होता है। अंकुरित अनाज में बहुत से पौष्टिक तत्व होते हैं।

कच्चा या पका कर खाने के लिये योग्य बीजो से छोटे पौधे जन्माना अंकुरित (अंकुरण) कहलाते हैं। अंकुरित अनाज का मतलब है की जिन अनाजों में अंकुर निकलते हैं, उन्हें अंकुरित अनाज कहा जाता है। अंकुरित (अंकुरण) की क्रिया तब शुरू होती है। जब अनाज/बीज कई घंटो तक पानी में भीगो कर रखे जाते हैं। भीगे हुए अनाज/बीजों में उच्च नमी और उच्च तापमान के संपर्क में आने के पश्चात अंत में जो रहता है, उसे Sprouts (स्प्राउट) या अंकुरित अनाज कहा जाता है। 

image 111 Shivira

अंकुरित अनाज में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। इनमें Anti-Oxidant (एंटी-ऑक्सीडेंट) और Vitamin A, B, C & E (विटामिन ए, बी, सी व ई) भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। Anti-Oxidant (एंटी-ऑक्सीडेंट) की वजह सेशरीर की

रोग-प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है, इसमें मौजूद लवण शरीर की आवश्यकताओं को पूरा करते हैं। इसमें Phosphorus (फॉस्फोरस), Iron (आयरन), Calcium (कैल्शियम), Zinc (जिंक) और Magnesium (मैग्नीशियम) जैसे प्रमुख लवण पाए जाते हैं।

Sprouts (अंकुरित) क्या है What is Sprouts in hindi -

अंकुरण की प्रक्रिया तब शुरू होती है, जब बीजों और अनाजों को कई घंटों तक पानी में भीगो कर रखा जाता है। भीगे हुए बीजों (करीब 02 दिन पानी में भिगोकर रखना) के सही नमी तथा तापमान के संपर्क में आने के बाद अंत में जो शेष रह जाता है, उसे अंकुरित अनाज कहा जाता है। अंकुरित कई तरह के होते हैं।

अंकुरित अनाज के नाम names of sprouted grains in hindi -

अंकुरित किसी प्रकार का अनाज नहीं होता, किन्तु इसकी कई किस्में उपलब्ध हैं। जिनका उपयोग करके शरीर को स्वस्थ और तंदुरुस्त के लिए कर सकते हैं। अंकुरित में कई तरह के अनाज, फलियां, सब्जियों के बीज, Nuts (नट्स) आदि इस्तेमाल किये जाते हैं। जिनके अंकुरित होने के बाद उन्हें कच्चा या पका कर भी खा सकते हैं।अंकुरित अनाज की सूची इस प्रकार है -

  • सेम।
  • मटर।
  • बादाम।
  • मूली के बीज।
  • अल्फाल्फा के बीज।
  • कद्दू के बीज।
  • तिल के बीज।
  • सूरजमुखी के बीज।
  • ब्रसेल्स।
  • मूंग दाल।
  • चना।
  • मेथी।
  • सोयाबीन।
  • क्विनोआ।
  • मटर।
  • राजमा।
  • हरे मटर।
  • ब्रोकली।
  • सरसों।
  • मेथी।
  • भूरे चावल।
  • कुट्टू।
  • जई।
  • अमरंथ।

अंकुरित अनाज में पौष्टिक तत्व Nutrients in sprouted grains in hindi -

Nutrients (पोषक तत्व) Nutrient Content (पोषक तत्वों की मात्रा)% D V (डी वी)
Calories (कैलोरी)28.1 (118 kJ)01%
Carbohydrates (कार्बोहाइड्रेट) 20.0 (83.7 kJ)-
Fat (फैट) 03.3(13.8 kJ)-
Protein (प्रोटीन)04.9(20.5 kJ)-
Alcohol (एल्कोहल)0.0(0.0 kJ)-
Carbohydrates (कार्बोहाइड्रेट)
Total Carbohydrates (कुल कार्बोहाइड्रेट)05.5 ग्राम02%
Dietary Fiber (डाइटरी फाइबर)02.0 ग्राम08%
Starch (स्टार्च)--
Sugar (शुगर)01.4 ग्राम-
Proteins and Amino Acids (प्रोटीन और अमीनो एसीड्स)
Protein (प्रोटीन)02.0 ग्राम04%
Vitamin (विटामिन)
Vitamin A(विटामिन ए)604 आईयू12%
Vitamin C (विटामिन सी)48.4 मिलीग्राम81%
Vitamin D(विटामिन डी)~-
Vitamin E (विटामिन ई Alpha Tocopherol (अल्फा टोकोफेरॉल))0.3 मिलीग्राम02%
Vitamin K (विटामिन के)109 माइक्रोग्राम137%
Thiamine (थियामिन)0.1 मिलीग्राम06%
Riboflavin (राइबोफ्लेविन)0.1 मिलीग्राम04%
Niacin (नियासिन)0.5 मिलीग्राम02%
Vitamin B6 (विटामिन बी 6)0.1 मिलीग्राम07%
Folate (फोलेट)46.8 माइक्रोग्राम12%
Vitamin B12(विटामिन बी 12)0.0 माइक्रोग्राम0%
Pantothenic Acid (पैंटोथेनिक एसिड)0.2 मिलीग्राम02%
Colin (कॉलिन)31.7 मिलीग्राम-
Betaine (बीटाइन)0.2 मिलीग्राम-
Mineral (मिनरल)
Calcium (कैल्शियम)28.1 मिलीग्राम03%
Iron (आयरन)0.9 मिलीग्राम05%
Magnesium (मैग्नीशियम)15.6 मिलीग्राम04%
Phosphorus (फास्फोरस)43.7 मिलीग्राम04%
Potassium (पोटैशियम)247 मिलीग्राम07%
Sodium (सोडियम)16.4 मिलीग्राम01%
Zinc (जिंक)0.3 मिलीग्राम02%
Copper (कॉपर)0.1 मिलीग्राम03%
Manganese (मैंगनीज)0.2 मिलीग्राम09%
Selenium (सेलेनियम)01.2 माइक्रोग्राम02%
Fluoride (फ्लोराइड)-

अंकुरित अनाज के फायदे benefits of sprouted grains in hindi -

  1. डायबिटीज/मधुमेह के लिए - अंकुरित अनाज मधुमेह में काफी फायदेमंद हो सकता है। ब्रोकली स्प्राउट को (सल्फोराफेन) Sulforaphane का अच्छा स्रोत माना जाता है। यह के पीड़ितों में Glucose (ग्लूकोज) नियंत्रण
    को बेहतर बनाने में मदद करता है। यह इंसुलिन प्रतिरोध में भी सुधार करता है। ब्रसेल्स के स्प्राउट्स का भी उपयोग किया जाता है। इसमें मौजूद (अल्फा-लिपोइक एसिड) Alpha-Lipoic Acid) Antioxcidents (एंटीऑक्सीडेंट) की तरह काम करता है। यह Blood Sugar (ब्लड शुगर) और Insulin (इंसुलिन) पर लाभ-कारी प्रभाव डालता है। सोयाबीन स्प्राउट का भी सेवन कर सकते हैं, इसमें Anti-Diabetic(एंटी-डायबिटिक) गुण मौजूद होते हैं।
  2. Cencer (कैंसर) के लिए- Cencer (कैंसर) से बचाव के लिए ब्रोकली का उपयोग किया जाता है। इसमें (सल्फोराफेन) sulforaphane Cencer (कैंसर) को रोकने में मदद करता है। यह शरीर में Cencer (कैंसर) पैदा करने वाले chemical (केमिकल) को खत्म करता है। यह कोशिकाओं को enzymes (एंजाइम) बनाने में मदद करता है, जो शरीर में Cencer (कैंसर) पैदा करने वाले विषाक्त पदार्थों से रक्षा करते हैं।
  3. वजन कम करने के लिए - मूंगफली के स्प्राउट का उपयोग करें। इसके सेवन से पेट के मोटापे में सुधार होता है और स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होता है। मोटापे से ग्रस्त महिलाओं में मोटापे की समस्याओं के लिए सिमित मात्रा में मूंगफली के स्प्राउट्स उपयुक्त और प्रभावी खाद्य पदार्थ हो सकते हैं। अंकुरित अनाज में फाइबर की मात्रा अधिक होती है जो कि पेट को लंबे समय तक भरा रखने में सहायक होता है। जिस कारण वजन संतुलित या कम करने में मदद मिलती है।
  4. ह्रदय के लिए - ह्रदय शरीर का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है। ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए भी स्प्राउट बहुत फायदेमंद हैं। अंकुरित चने के सेवन से हानिकारक कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है, यह (एंटी-हाइपरलिपिडेमिक) antihyperlipidemic का कार्य करता है। अंकुरित चने में फाइटोएस्ट्रोजेन होते हैं, जो ह्रदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं।
  5. पाचन के लिए - पाचन शक्ति को सुधारने में मदद करता है। केवल अंकुरित मूंग नहीं, बल्कि अन्य अंकुरित आहार में अंकुरित ब्रोकली का भी सेवन कर सकते हैं। इसमें (सल्फोराफेन) sulforaphane मौजूद होते हैं, जो विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम को उत्पन्न करते हैं और (गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट) gastrointestinal tract का बचाव करते हैं।
  6. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए - स्प्राउट के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार होता है। स्प्राउट में Vitamin C (विटामिन-सी) होता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को सुधारने में मददगार साबित होता है तथा निमोनिया, डायरिया, मलेरिया और अन्य बीमारियों से बचाव कर सकता है।
  7. आंखों के लिए - स्प्राउट्स में (ब्रसेल्स स्प्राउट्स) Brussels sprouts में (ल्यूटिन और जियाजैंथिन) lutein and zeaxanthin जैसे प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो आंखों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा, इसमें Vitamin C (विटामिन-सी) और अन्य पौष्टिक तत्व भी मौजूद हैं, जो आंखों के लिए फायदेमंद हैं।
  8. एनीमिया के लिए - आयरन की कमी से होने वाली इस समस्या से उबार पाना बहुत जरूरी है उसके लिए आहार में अंकुरित अनाज के अंकुरित (सोयाबीन) soybean sprouts को शामिल कर सकते हैं।
  9. त्वचा के लिए - अंकुरित आहार का प्रयोग त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होता है। आहार में अंकुरित मूंग को सम्मिलित करें। मूंग में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा को स्वस्थ रखने में मददगार साबित होते हैं।
  10. बालों के लिए - ब्रुसेल स्प्राउट (Brussels sprouts) का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें मौजूद विटामिन और अन्य पौष्टिक तत्व बालों को स्वस्थ बनाने में मददगार साबित हो सकते हैं।
  11. प्रेगनेंट महिला के लिए
  12. यौन स्वास्थ्य के लिए

यह भी पढ़े :

Weight Gain Tips : तेजी से वजन बढ़ाने के लिए फॉलो करें यह खास डाइट प्लान
Health Benefits Of Cashews : एनर्जी का पावरहाउस है काजू, जानिए सेहत के लिए फायदे
Boiled Egg Side Effect : रोज़ खाते हैं उबला हुआ अंडा, तो सेहत को हो सकता है नुकसान!
Besan Health Benefits: बेसन खाने के ये फायदे हैरान कर देंगे आपको!
सेहत के लिए लाभकारी है अदरक Ginger is beneficial for health

अंकुरित अनाज के नुकसान Disadvantages of sprouted grains in hindi -

  • फूड पॉइजनिंग की समस्या।
  • किडनी की समस्या।
  • उल्टी और अन्य प्रकार की कई समस्या और संक्रमण हो सकते हैं।
  • बच्चे, कमजोर इम्यून वाले व्यक्ति और गर्भवती महिलाएं सिमित मात्रा सेवन करें।
  • अंकुरित अनाज का उपयोग करने से पहले अच्छी तरह धोकर उबालें।
  • भिगोते समय यह ध्यान रखना चाहिए कि अनाज में कहीं घुन तो नहीं लगा है।
  • राजमा को स्प्राउट के रूप प्रयोग न करें यह विषाक्त और हानिकारक हो सकता है।
  • घर में 48 डिग्री फेरनाहट तापमान पर रखें।
  • कच्चे अंकुरित अनाज को छूने से पहले अपने हाथों को अच्छे से धोएं।