विद्यार्थी पोर्टफ़ोलियो की जानकारी Student Portfolio information

विद्यार्थी पोर्टफोलियो अर्थात Student Portfolio का संधारण प्रत्येक विद्यालय हेतु अनिवार्य है। विद्यार्थी पोर्टफोलियो (Student Portfolio) सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी इस लेख में शामिल की जा रही हैं। प्रत्येक संस्था प्रधान एवम स्कूल के ऑनलाइन शिक्षा प्रभारी हेतु यह लेख अत्यंत महत्वपूर्ण है। सतत एवं व्यापक मूल्यांकन के अन्तर्गत गुणवत्तापूर्ण शिक्षण अधिगम सुनिश्चित करने के लिए पोर्टफोलियो एक सशक्त दस्तावेज है जो विद्यार्थी की शैक्षिक प्रगति एवं शिक्षकों को आगामी शैक्षिक नियोजन की प्रतिपुष्टि के अवसर उपलब्ध कराता है। पोर्टफोलियो में सीखने के प्रतिफल (Learning Outcomes) के आधार पर विद्यार्थी के गतिविधि आधारित अधिगम के साथ-साथ लिखित कार्य / शैक्षिक प्रगति का लेखा-जोखा / व्यक्तिगत विशेषताओं का रिकार्ड संधारित किया जाता है। आइये, जानते है विद्यार्थी पोर्टफोलियो (Student Portfolio) के बारे में।

विद्यार्थी पोर्टफोलियो | Student Portfolio

छात्र की प्रगति का प्रमाणिक रूप से स्कूल में रिकॉर्ड रखने का एक शानदार तरीका प्रत्येक छात्र के लिए एक अलग फ़ोल्डर या पोर्टफोलियो बनाना है। प्रत्येक पोर्टफोलियो में, आप ऐसे दस्तावेज़ रख सकते हैं जो छात्रों के शैक्षणिक उपलब्धि की जानकारी प्रदान करते हैं। इस अभिलेख को हम विद्यार्थी पोर्टफोलियो कह सकते है। इनमें हम निम्नलिखित दस्तावेजों को शामिल कर सकते हैं:

  • विद्यार्थी का पूर्ण परिचय।
  • विद्यार्थी की विशिष्ट योग्यता।
  • ऑनलाइन टेस्ट का परिणाम।
  • ऑनलाईन क्विज़ का परिणाम।
  • विद्यार्थी द्वारा किया गया होमवर्क।
  • विद्यार्थी अध्यापक का संवाद।
  • विद्यालय द्वारा किये गए परीक्षणों के परिणाम।
  • प्रश्नोत्तरी।

किसी भी विद्यालय को स्टूडेंट पोर्टफोलियो के संधारण के समय विस्तृत विचार रखना चाहिए क्योंकि वर्तमान ऑनलाइन शिक्षा के समय मे जबकि विद्यार्थियों से अध्यापक का प्रत्यक्ष मिलना सम्भव नही है तो विद्यार्थी

पोर्टफोलियो अर्थात Student Portfolio के माध्यम से ही हम विद्यार्थी द्वारा किये जा रहे कार्यो का सटीक आकलन कर सकेंगे अतः ऑनलाइन शिक्षा हेतु सबसे अधिक महत्वपूर्ण अभिलेख है।

विद्यालय में आयोजित होने वाली टीचर पेरेंट्स मीटिंग में हम इन स्टूडेंट्स पोर्टफोलियो का बहुत महत्व है क्योंकि इसको देखकर हम विद्यार्थियों के अभिभावको से विस्तृत रूप से चर्चा कर सकते है। कोई छात्र लगातार स्कूल में खराब प्रदर्शन कर रहा है या व्यवहार संबंधी समस्याएं हैं, तो शिक्षक छात्र की सफलता के लिए कार्य योजना बनाने के लिए माता-पिता या अभिभावकों, स्कूल सलाहकारों और प्रशासकों के साथ बैठक में अनुरोध कर सकते हैं।

पोर्टफोलियो संधारण के अन्तर्गत सम्मिलित बिंदु

  • विद्यालय में अध्ययनरत प्रत्येक बालक के सभी विषयों की शैक्षिक प्रगति को सीखने के प्रतिफल (Learning Outcomes) सम्प्राप्ति के लिए समेकित रूप से संधारित किया जाना है।
  • शिक्षकों द्वारा प्रत्येक विषय में प्रदत्त कार्यों यथा कार्यपत्रक कक्षा कार्य, प्रोजेक्ट कार्य, रचनात्मक एवं सृजनात्मक कौशल विकास पत्रक इत्यादि को उत्तरोत्तर रूप से संधारित किया जाना है।
  • पोर्टफोलियो फाइल कक्षा कक्ष में ही रखी जानी है। जिससे विद्यार्थी स्वयं की प्रगति का सहजता से अवलोकन कर अपना शैक्षिक स्तर जान सके एवं विद्यार्थियों में परस्पर सृजनात्मक कौशल और मौलिकता के विकास हेतु प्रतिस्पर्धा की भावना विकसित हो सके।
  • विद्यार्थियों के रचनात्मक मूल्यांकन के लिए निश्चित काल अवधि निर्धारित नहीं है अपितु बच्चों के शिक्षण अधिगम के साथ चलने वाली एक सतत् प्रक्रिया है। इस बाबत टर्म के दौरान शिक्षक अपने विषयवार शिक्षण कार्य एवं अधिगम की प्रतिपुष्टि के लिए स्वतंत्र है जिसके साक्ष्य के रूप में विषयवस्तु
    आधारित कार्यपत्रक अभ्यास कार्य एवं लिखित कार्य का नियमित संधारण पोर्टफोलियो मे किया जावें।
  • पोर्टफोलियो में संधारित किए जाने वाले कार्यपत्रक, रचनात्मक आकलन टूल इत्यादि पर विद्यार्थी के द्वारा कार्य करने के उपरान्त त्रुटियों / अशुद्धियों को रेखांकित / गोला करते हुए शुद्ध करवाया जाकर उपचारात्मक कार्य के साथ सकारात्मक एवं गुणात्मक टिप्पणी सहित शिक्षक के दिनांकित हस्ताक्षर होने चाहिए।
  • पोर्टफोलियो नियमित रूप से अभिभावकों से साझा करते हुए विद्यार्थी की स्थिति से अवगत करवाया जाये।
  • शिक्षक, शिक्षण अधिगम को सुनिश्चित करने के लिए विद्यार्थियों के साथ सामूहिक गतिविधियों के माध्यम से करवाए जाने वाले लिखित कार्य को भी साक्ष्य के रूप में पोर्टफोलियो में संधारित किया जाना है।
  • बच्चों की विषयवार शैक्षिक प्रगति के आकलन के लिए शिक्षक द्वारा करवाए गए शिक्षण कार्यानुरूप बच्चों के अधिगम क्षेत्र एवं अधिगम स्तरानुसार कार्यपत्रक तैयार कर नियमित आकलन एवं मूल्यांकन किया जाना सुनिश्चित करें।
  • सत्रान्त पर पोर्टफोलियो को सीसीई के दस्तावेज यथा टर्मवार "आकलन सूचक" अंकन पुस्तिका (चैकलिस्ट), वार्षिक आकलन अभिलेख पंजिका के साथ संचारित करते हुए विद्यालय स्तर पर सुरक्षित रखा जाना है।

शिक्षा विभाग राजस्थान में संधारित विद्यार्थी पोर्टफोलियो

सोशल मीडिया ग्रुप पर स्माइल की सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। स्टूडेंट्स की ओर से गृह कार्य अपनी नोटबुक में पूरा करने के बाद उसकी फोटो संबंधित सोशल मीडिया ग्रुप में अपलोड करनी होगी। उसका प्रिंट निकालने के बाद जांच कर कक्षा अध्यापक स्टूडेंटवार पोर्टफोलियो में दर्ज करेंगे इसे इस सत्र के मूल्यांकन का भाग बनाया जाएगा।

शिक्षक छात्र के किए हुए गृहकार्य की फोटो का प्रिंट आउट निकाल कर उसका जाँच कार्य करेंगे । तत्पश्चात उसे

उसके पोर्टफोलियो फाइल में संरक्षित कर देंगे। साथ ही एक रजिस्टर में छात्र का नाम, दिनांक, गृहकार्य किया अथवा नहीं, आदि सूचना संधारित कर लेंगे।

जो बच्चे व्हाट्स एप समूहों से जुड़े हुए नहीं हैं अथवा उससे गृहकार्य कर पाने में समर्थ नहीं हैं उन्हें शिक्षक कोविड 19 गाइड लाइन की पालना करते हुए स्वयं घर घर जाकर बच्चों या अभिभावकों को गृहकार्य का प्रिंट आउट उपलब्ध करवाएंगे

दूसरी बार जब शिक्षक बच्चे के घर जाएँगे तो पहली बार दिया हुआ गृहकार्य छात्रों से एकत्रित कर स्कूल ले आएँगे। तत्पश्चात उसकी जाँच कर उसे पोर्टफोलियो फाइल में संधारित कर लेंगे।

सभी कक्षाध्यापक दो सप्ताह में एक बार पोर्टफोलियो फाइलों की जाँच कर समीक्षा करेंगे कि कक्षा में नामांकित बच्चे कितने हैं और कितने बच्चों का गृहकार्य पोर्टफोलियो फाइल में संधारित है। ये रिपोर्ट कक्षाध्यापक संस्थाप्रधान को देंगे और संस्थाप्रधान पीईईओ कार्यालय को देंगे।

स्माइल प्रोजेक्ट टू के तहत हर स्टूडेंट को होमवर्क दिया जाएगा और उसका पोर्टफोलियो भी तैयार होगा। प्रत्येक स्टूडेंट के होमवर्क व पोर्टफोलियो के आधार पर उसके सीखने का मूल्यांकन किया जाएगा।

विद्यार्थी विवरण पोर्टफोलियो नमूना प्रति | Student Details Portfolio Sample Copy

विद्यार्थी विवरण पोर्टफोलियो नमूना प्रति | Student Details Portfolio Sample Copy Www.shivira.com

स्माइल 3.0 के अंतर्गत विद्यार्थी पोर्टफोलियो संधारण | Student Portfolio Record under Smile 3.0

सभी संस्था प्रधान, कक्षा अध्यापक, विषय अध्यापक या प्रभारी शिक्षक कृपया ध्यान दें

  • क्या आपके विद्यालय के विद्यार्थी अभिभावकe-content व्हाट्सएप ग्रुप कक्षा बार बना लिए गए हैं?
  • क्या इन e-content व्हाट्सएप ग्रुप में कंटेंट एवं गृह कार्य प्रातः 9:00 से पहले फॉरवर्ड किया जा रहा है ?
  • क्या सभी विद्यार्थी या अभिभावक जिनके न एंड्राइड मोबाइल है, उन्हें इन व्हाट्सएप ग्रुप से जोड़ दिया गया है ?
  • यदि हां तो क्या विद्यार्थी e-content से अध्ययन कर लाभान्वित हो रहे हैं?
  • यदि नहीं तो क्या विद्यार्थी के घर पर शिक्षण सामग्री एवं गृह कार्य हेतु शिक्षक द्वारा संपर्क किया गया है?
  • क्या विद्यार्थी द्वारा किए गए गृह कार्य का मूल्यांकनकिया जा रहा है ?
  • क्या विद्यार्थी गृह कार्य मूल्यांकन का पोर्टफोलियो संधारित किया गया है?
  • क्या शिक्षक द्वारा प्रतिदिन 5 विद्यार्थियों को कॉल कर स्माइल e-content से अध्ययन हेतु प्रेरित किया जारहा है?
  • यदि हां तो क्या इन शिक्षकों द्वारा ऑनलाइन कॉलिंग फॉर्म सबमिट कर दिया गया है?
  • क्या स्माइल कार्यक्रम से संबंधित गतिविधियों हेतु अध्यापक दैनंदिनी नियमित रूप से संधारित की जा रही है?
  • स्माइल कार्यक्रम की 2 सप्ताह में समीक्षा कर क्या संस्था प्रधान को इसकी प्रगति से अवगत कराया गया है?

आशा है कि आपको स्टूडेंट्स पोर्टफ़ोलियो की काफी जानकारी मिल गई होगी विद्यालय में ऑनलाइन शिक्षा हेतु अनेक प्रकार के अन्य अभिलेख भी संधारित किये जाते है।