Categories: News
| On 3 years ago

Student teachers relationship: एक शिक्षक की ट्रांसफर पर बिलखे विद्यार्थी, ट्रांसफर निरस्त पर होगा विचार।

एक शिक्षक की ट्रांसफर पर बिलखे विद्यार्थी, ट्रांसफर निरस्त पर होगा विचार।

तामिलनाडु। वेलियागरम (तिरुवल्लूर) के एक राजकीय विद्यालय के शिक्षक श्री भगवान के ट्रांसफर पर बिलखते विद्यार्थियों की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई एवम संस्था प्रधान ने प्रशासन से अध्यापक के ट्रांसफर को निरस्त करने की गुहार भी लगाई है। इस न्यूज़ के विश्लेषण की महती आवश्यकता प्रतीत होती है।

पढ़ाई का तरीका-

अध्यापक भगवान ने कक्षाकक्ष में अंग्रेजी भाषा को पढ़ाने के नए तरीके इस्तेमाल किये थे। वे पढ़ाई को अपना औपचारिक कार्य नही मानते है एवम उन तरीको की तलाश में रहते है जिनसे विद्यार्थियों को मदद मिले। शिक्षविदों की राय है कि अगर एक विद्यार्थी उन तरीकों से नही सिख

रहा है जिन्हें शिक्षक काम मे ले रहा है तो हमे वे तरीके खोजने ही होंगे जिनसे विद्यार्थी सीख सके।

दोस्त अध्यापक-

विद्यालय के विद्यार्थियों का कहना है कि शिक्षक श्री भगवान में वे अपना मित्र देखते है। एक शिक्षक के लिए जरूरी है कि वह अपने विद्यार्थियों के मनोविज्ञान को समझे व उनकी आवश्यकता के अनुसार उनसे मित्रवत व्यवहार

रखे ताकि विद्यार्थी उनसे निःसंकोच बात कर सके व अपनी समस्याओं को शेयर कर सके।

प्रशासन की पहल-

प्रशासन भी सदैव अच्छे पहलुओं पर अवश्य गौर करता है एवम आवश्यक होने पर नियमों से परे जाकर भी सहायता करता है। श्री भगवान के स्थानांतरण को प्रशासन ने विद्यार्थियों की मांग को ध्यान में रखते हुए 10 दिनों के लिया स्थगित किया है।

आज की आवश्यकता-

कहते है कि श्रेष्ठ व्यक्ति खामोश रहते है क्योंकि उनका काम बोलता है। आज समाज के हर क्षेत्र में इसी प्रकार की कर्तव्यनिष्ठा की आवश्यकता है। अगर प्रत्येक नागरिक अपने कार्य को निष्ठावान तरीके से पूर्ण करता है तो उस राष्ट्र के विकास को कोई शक्ति नही रोक सकती।