| On 2 years ago

Super Sunday: Change your Sunday to Super Sunday with these seven steps.

सुपर सन्डे : इन सात स्टेप्स से अपने सन्डे को सुपर सन्डे में चेंज कीजिये।

रविवार यानी सन्डे कभी भी एक आम दिन नही हो सकता क्योंकि इस दिन आपको काम पर नही जाना है। रविवार की छुट्टी की शुरुआत सन 1843 में हुई थी। इसका उद्देश्य काम कर रहे लोगों को मानसिक रूप से विश्राम प्रदान करना है। आधिकारिक रूप से नारायण मेघाजी लोखंडे ने 1881 से ब्रिटिश हुकूमत के समक्ष रविवार को सरकारी कार्यालयों में छुट्टी की मांग रखी जो 1889 में कबूल हुई। अब तो राजकीय कार्यालयों में सप्ताह में 2 दिन यानी शनिवार व रविवार की छुट्टी रहती है।

रविवार की छुट्टी को आप बेकार में जाया कर सकते है है अथवा इस दिन का उपयोग आप इन सात स्टेप्स में करके पूरे सप्ताह के लिए एनर्जी प्राप्त कर सकते है-

सैर-सपाटा।

रविवार को सुबह-सुबह एक लंबी वॉक पर निकल जाइये। साथ मे सादा पानी या कोई एनर्जी ड्रिंक केरी कर लीजिए। एक लंबी वॉक आपको आत्मविश्वास देगी व आपके स्वास्थ्य को बूस्ट भी करेगी। वॉक पर निकलने से पहले एक बढ़िया ट्रेक सूट व स्पोर्ट्स शूज अवश्य पहनिए।

स्मरण

हम सभी उस परमात्मा का आज अवश्य स्मरण करें जिसने हमें तमाम सुविधाओं से नवाजा है। आज हम प्रभु का स्मरण अवश्य

करें। इस भागदौड़ व आपाधापी की जिंदगी में कुछ पल निकाल कर प्रभु को धन्यवाद कहने के लिए नजदीक के देवालय जाए। चैन व सुकून से कुछ पल अपने-आपको उस परमात्मा के हवाले करें देखिये, चमत्कार होकर रहेंगे।

स्वाद

रोज-रोज तो बंधा-बंधाया खाना खाते ही है फिर क्यों नही आज मनमर्जी का कुछ खाया जाए? रविवार को वैरी-वैरी स्पेशल बनाने के लिए आप बाजार से अपनी मर्जी की डिश बनाने के लिए कुछ खरीद लाइये एवम घर की रसोई में इसे तैयार कीजिये। घर की रसोई में बनी डिश ना केवल स्वादिष्ट ही होगी बल्कि स्वास्थ्य की भी रक्षा करेगी।

सम्बन्ध

"भीड़ है कयामत की और हम अकेले है"

अगर आप कभी ऐसा भी फील करने लगे है तो रविवार इसका तोड़ है। आज आप अपने किसी पुराने दोस्त से मिलने जरूर जाए। उससे बतियाते हुए आपको अपने पुराने दिन भी याद आएंगे व आने वाले सुहाने लम्हो की नींव भी मजबूत होगी।

सौगात

आज आप अपने किसी भी एक प्रियजन हेतु एक छोटी सी सौगात अवश्य खरीदिये। जरूरी नही है कि ऐसी सौगात बहुत महंगी ही हो। खुशी छोटी सी छोटी सौगात से भी हासिल हो सकती है। जब आप किसी के लिए कुछ खरीदते है तो उसका अपना बनाने की दिशा में आगे निकल जाते है।

स्वर परीक्षण

हर इंसान

एक पूर्ण कलाकार है बस वह अपनी कला को भुला कर जिंदा है। आज रविवार के दिन आप खुद के अंदर छुपे कलाकार को फिर से जिंदा कीजिये। किसी के लिए अथवा खुद के लिए अथवा प्रभु के लिए एक गाने या गजल या भजन का चयन करके उसे याद करने का व गुनगुनाने का रियाज कीजिये।

सिनेमा

आज कुछ समय निकालकर अपने मित्रों व परिजनों के साथ किसी सिनेमाघर में कोई फ़िल्म देख आइये। अगर सिनेमाघर जाना बिल्कुल ही सम्भव नही हो तो सोशल मीडिया पर अपने पसंद की कोई नई-पुरानी फ़िल्म सर्च करके उसे देख डालिये।