Categories: Super Teacher
| On 5 months ago

Super Teacher : NAGJI YADAV FROM DUNGARPUR

सुपर टीचर: नगजी यादव राजकीय उच्च प्राथमिक सँस्कृत विद्यालय, कुँवा, डूंगरपुर।

सुपर टीचर: नगजी यादव राजकीय उच्च प्राथमिक सँस्कृत विद्यालय, कुँवा, डूंगरपुर।

मन मे विश्वास हो तथा अपने व्यवसाय से लगाव हो तो कोई भी मंजिल मुश्किल नही है। ऐसा ही एक उदाहरण राजस्थान के जिला डूंगरपुर में ग्राम कुँवा में उपलब्ध है। इस छोटे से राजकीय विद्यालय की शक्लोसूरत एक शिक्षक नगजी ने अपनी पेंटिंग कला से बदल कर रख दी है।

अध्यापक परिचय:

नाम : नगजी यादव।
शिक्षा : एम ए, बीएड।
पदस्थापन स्थान : राजकीय उच्च प्राथमिक सँस्कृत विद्यालय।
श्री नगजी यादव ने विद्यालय 21 जुलाई 2010 को कार्यग्रहण किया।

विद्यालय परिचय:


राजकीय उच्च प्राथमिक सँस्कृत विद्यालय, कुँवा, डूंगरपुर।
विद्यालय नामांकन 203
स्टाफ सदस्य 06
कोई चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी नही है।

श्री नगजी यादव का व्यक्तिगत परिचय:

श्री पूजालाल जी यादव व श्रीमती रम्भा देवी के पुत्र नगजी यादव का जन्म ग्राम साकोदरा, पोस्ट चिकली, जिला डूंगरपुर में हुआ। माता-पिता कृषि कार्य करते है। सामान्य परिवार है। छोटी खेती का परिवार।

घर की सामान्य स्तिथि के चलते नगजी ने पढ़ाई के साथ ही पेंटिंग का कार्य भी किया। यह पेंटिंग कार्य उनका शौक व प्रोफेशन दोनों ही रहा। नगजी ने एम ए (अंग्रेजी) व तत्पश्चात बीएड की शिक्षा प्राप्त की। इनके छोटे भाई भी शिक्षक है व पेंटिंग का कार्य करते है। वे नजदीकी सेंडोला ग्राम में टीचर है।

विद्यालय में पेंटिंग वर्क

नगजी व स्टाफ के सदस्यों ने मुख्याध्यापक श्री मणिलाल पारगी के साथ मिलकर विद्यालय

सौन्दर्यकरण का निर्णय दिसम्बर 2020 में लिया। माह जनवरी 2021 में करीबन पूरे विद्यालय परिसर को बालोपयोगी चित्रों से सुसज्जित कर दिया।

इसमे करीबन 60 हजार की राशि व्यय की गई। इस राशि की व्यवस्था राजकीय कोष से कुछ राशि अध्यापको द्वारा कलेक्शन करके की गई। इस पेंटिंग कार्य मे लगभग सभी शिक्षकों ने यथायोग्य सहयोग किया। मुख्य कार्य अध्यापक नगजी यादव ने सम्पादित किया।

विद्यालय में बनाये गए चित्रों में मुख्य रूप से महापुरुषों, बाल धारावाहिकों, पर्यावरण, कृषि, राजकीय नारो, पाठ्यक्रम, शिक्षण सामग्री प्रमुख है। विभिन्न स्थानों पर कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूकता विकास का प्रयास भी किया गया है।

कोरोना संक्रमण के कारण विद्यालय करीबन 10 माह बन्द रहे थे। जब विद्यार्थी लंबे समय बाद 06 फरवरी 2021

को पुनः विद्यालय आये तो विद्यालय के बदले रंग-रूप को देखकर आश्चर्यचकित रह गए। विद्यालय की चर्चा पूरे गाँव मे होने लगी व इसका सीधा असर विद्यालय नामांकन पर दिखने लगा है।

ग्रामीण सहयोग की शुरुआत।

26 जनवरी 2021 को आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में जब ग्रामीण स्कूल में आये तो उन्होंने विद्यालय में होने वाली पेंटिंग्स को देखकर बहुत खुशी अभिव्यक्त की एवम विद्यालय की अधूरी चारदीवारी पूर्ण कराने का वादा किया एवम अधिक सहयोग देने का आश्वासन भी दिया।

भविष्य की योजना।


श्री नगजी के अनुसार सभी मिलकर विद्यालय हेतु अधिक प्रयास करेंगे। उनकी प्राथमिकता सबसे पहले पुराने विद्यालय भवन की पूर्ण मरम्मत करवाने की है साथ ही बढ़ते नामांकन के मद्देनजर कुछ कक्षा-कक्षो के निर्माण की है। इसके

साथ ही चारदीवारी कार्य पूर्ण होते ही विद्यालय में बागवानी का कार्य भी शुरू किया जाएगा।

श्री नगजी से कॉन्टेक्ट का जरिया-
मोबाइल नम्बर 9982151938
ईमेल yadavnagji@gmail.com

चित्र गेलेरी